बलात्कार पीड़िता की जाँच के दौरान सामने आया यह बात, जानिए

बलात्कार पीड़िता की जाँच के दौरान सामने आया यह बात, जानिए

गुरुवार की रात उन्नाव बलात्कार पीड़िता (Rape Victim) को सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) में भर्ती करा दिया गया था। एयरलिफ्ट (Airlift) कराकर उसे दिल्ली (Delhi) लाया गया था। लेकिन सूत्रों की मानें तो पीड़िता की हालत व गंभीर हो गई है। 90 फीसदी तक जल चुकी पीड़िता के दो अंदरूनी अंग भी आग की चपेट में आ गए हैं,

जिसके चलते पीड़िता की कठिनाई बढ़ती ही जा रही है। आज चिकित्सक पीड़िता के दो छोटे ऑपरेशन करने का फैसला भी ले सकते हैं।

कमर से निचले भाग को पहुंचा है ज्यादा नुकसान

सफदरजंग अस्पताल के सूत्रों की मानें तो गुरुवार रात से ही उन्नाव बलात्कार पीड़िता कई स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की देखरेख में है। जाँच के दौरान सामने आया है कि जलने के दौरान पीड़िता के शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान कमर के निचले हिस्से को पहुंचा है। यहां तक की जलने के कारण पीड़िता के दो अंदरूनी अंग भी आग की चपेट में आ गए हैं। जिसके चलते पीड़िता की कठिनाई व बढ़ती जा रही है।

संक्रमण को रोकने पर है पूरा जोर

जलने के बाद शरीर में फैलने वाले संक्रमण पर भी पैनी निगाह रखी जा रही है। संक्रमण न फैले इसके लिए चिकित्सक हर संभव कदम उठा रहे हैं। जानकारों का बोलना है कि अगर एक बार जलने के बाद शरीर में संक्रमण फैल गया तो फिर उसे कंट्रोल करना बहुत कठिन हो जाता है। यहां तक की बहुत सारे केस में जले हुए मरीज की मृत्यु ही इसी संक्रमण के चलते हो जाती है।

एयरपोर्ट से 18 मिनट में अस्पताल पहुंची पीड़िता

कल शाम को ही पीड़िता को लखनऊ एयरपोर्ट से एयरलिफ्ट कराकर दिल्ली पालम एयरपोर्ट लाया गया था। जहां से उसे ग्रीन कॉरिडोर की सुविधा देते हुए 13 किमी के सफर को 18 मिनट में पूरा कर अस्पताल लाया गया। गौरतलब रहे कि बलात्कार पीड़िता ने जिन युवकों पर आरोप लगाया था, उन्हीं युवकों पर उसे जिंदा जलाने का आरोप भी लगा है।