रानी नागर पर एक अज्ञात आदमी ने किया जानलेवा हमला, उनकी बहन हुई गंभीर रूप से घायल

 रानी नागर पर एक अज्ञात आदमी ने किया जानलेवा हमला, उनकी बहन हुई गंभीर रूप से घायल

चर्चित आईएएस ऑफिसर रानी नागर व उनकी बहन के ऊपर शुक्रवार रात किसी अज्ञात आदमी ने जानलेवा हमला कर दिया. इस हमले में रानी नागर तो बच गईं,

लेकिन उनकी बहन रीमा नागर को गंभीर चोटें आई हैं. इस विषय में रानी नागर ने ट्वीट व फेसबुक के जरिये जानकारी दी. वहीं इस जानकारी के बाद मौके पर पहुंची नगर कोतवाली थाना पुलिस ने उनके भाई सचिन नागर की तहरीर पर मुद्दा दर्ज कर जाँच प्रारम्भ कर दी है. 

रानी नागर ने बताया कि वह अपनी बहन रीमा के साथ शनिवार रात लगभग नौ बजे अपने गाजियाबाद के पंचवटी कॉलोनी स्थित घर पर थीं व घर के बाहर टहल रही थीं. उसी समय एक आदमी मकान नम्बर बी-96 न्यू पंचवटी कॉलोनी से निकलकर उनके सामने आ गया व जब तक वह कुछ समझ पातीं, आरोपी ने एक लोहे के रॉड से उनके ऊपर हमला कर दिया.

रानी ने बताया कि वह तो भागकर आरोपी के वार को बच गईं, लेकिन उनकी बहन नहीं बच पाईं व रॉड उनके पैर पर आकर लगा. इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गईं.

क्षेत्राधिकारी (प्रथम) राकेश कुमार मिश्रा ने बताया कि सोशल मीडिया से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस मुद्दे की जाँच करने उनके घर पहुंची व उनके भाई से बात करने के बाद महत्वपूर्ण तथ्य जुटाए हैं. इन्हीं तथ्यों व सीसीटीवी फुटेज के अधार पर अज्ञात हमलावर के विरूद्ध मुद्दा दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान हो गई है. वह उसी सोसायटी का ही रहने वाला है. जल्द ही उसका नाम मुकदमे में शामिल किया जाएगा.

जान को खतरा बताते हुए दिया था इस्तीफा

गौरतलब है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) 2014 बैच की हरियाणा कैडर की आईएएस रानी नागर इस महीने की आरंभ में ही अपनी जान को खतरा बताते हुए अपने पद से त्याग पत्र देकर गाजियाबाद स्थित अपने घर लौट आई थीं. हालांकि, इस मुद्दे के तूल पकड़ने के बाद हरियाणा सरकार ने उनका त्याग पत्र ने नामंजूर कर दिया था. इसके साथ ही सीएम मनोहर लाल खट्टर ने रानी नागर का आईएएस कैडर हरियाणा से उनके गृह प्रदेश में बदलने की भी सिफारिश केन्द्र सरकार से की थी. रानी सामाजिक सुरक्षा विभाग में अलावा निदेशक के पद पर तैनात थीं. उन्होंने पिछले दनों अपनी जान को खतरा बताते हुए एक वीडियो भी जारी किया था.