नर्स की यह अनोखी तरकीब देश-विदेश में खूब हो रही वायरल

नर्स की यह अनोखी तरकीब देश-विदेश में खूब हो रही वायरल

पिछले डेढ़ साल से कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले रखा है। इसके चलते देश दुनिया में करोड़ों लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं कई सारे लोगों को अपनी जान तक गंवानी पड़ी है। इस वैश्विक महामारी ने पूरी दुनिया में अपना प्रकोप मचा रखा है। इस कारण लोगों को एक दूसरे से उचित दूरी बना कर रखना पड़ रहा है। ऐसे में इन दिनों ब्राजील से एक घटना सामने निकल कर आई है, जो देश-दुनिया में काफी ज्यादा सुर्खियां बटोर रही है। ब्राजील में कोविड मरीज को अकेला न महसूस हो इसलिए एक नर्स ने गर्म पानी से भरे दो डिस्पोजल ग्लव्स मरीज के हाथों के ऊपर रख दिया।

तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि कोरोना मरीज के हाथ के ऊपर और नीचे दोनों तरफ पानी से भरे डिस्पोजल ग्लव्स हैं। इन्हें देखकर ऐसा लग रहा है जैसे किसी मानव ने ग्लव्स को पहन कर कोरोना मरीज के हाथ को थाम रखा है। मरीज को अकेला न महसूस हो इसलिए नर्स ने ये अनोखी तरकीब निकाली। नर्स की यह अनोखी तरकीब देश-विदेश में खूब वायरल हो रही है।

इस फोटो को गल्फ न्यूज के ऑपिनियन एडिटर सादिक समीर भट्ट ने शेयर किया। फोटो को शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में "हैंड ऑफ गॉड" अर्थात भगवान का हाथ लिखा। इसके अलावा उन्होंने कोरोना वायरस से फ्रंट लाइन पर लड़ रहे डॉक्टरों की तारीफ भी की। नर्स की यह अनोखी तरकीब सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रही है।
 
आपकी जानकारी के लिए बता दें ब्राजील में रोजाना चार हजार से ज्यादा लोग कोरोना वायरस के कारण मर रहे हैं। मौत की संख्या में वहां लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। इसके बावजूद ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो देश में लॉकडाउन लगाने वाले नहीं है। इसकी जानकारी उन्होंने खुद दी। वहीं पिछले साल जुलाई 2020 में वह खुद कोरोना संक्रमित हुए थे।


इतने साल की बच्ची के साथ हुआ दुष्कर्म , गार्ड हुआ गिरफ्तार

इतने  साल की बच्ची के साथ हुआ  दुष्कर्म , गार्ड  हुआ गिरफ्तार

विस्तार केंद्रशासित प्रदेश दादर और नगर हवेली, दमन और दीव के दमन जिले में एक सरकारी अस्पताल में 11 साल की लड़की से दुष्कर्म करने के आरोप में एक सुरक्षा गार्ड को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। दमन थाने के एक अधिकारी ने बताया कि बच्ची अपनी मां के साथ थी, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा था। यह घटना 11 जनवरी को मारवाड़ सरकारी अस्पताल में हुई थी। आरोपी ने कथित तौर पर लड़की को पानी देने के बहाने सुनसान कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

अधिकारी ने कहा कि अपराध के बारे में जानने के बाद एक पुलिस टीम अस्पताल पहुंची। सुरक्षा गार्ड फरार था, इसलिए हमने कई दलों का गठन किया और उसे बस अड्डे से तब पकड़ लिया जब वह कल रात जिले से भागने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान प्रशांत कुमार के रूप में हुई है जो बिहार का रहनेवाला है।

अधिकारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 376 (ए) (बी) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि स्थानीय अदालत ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। आगे की जांच जारी है।