इस पुलिस अधिकारी ने 8 मिनट तक दबा रखी थी पैर से गर्दन, थर्ड डिग्री मर्डर का लगा आरोप

इस पुलिस अधिकारी ने 8 मिनट तक दबा रखी थी  पैर से गर्दन,  थर्ड डिग्री मर्डर का लगा आरोप

अमेरिका (USA) में मेनियापोलिस (Minneapolis) के एक पुलिस अधिकारी को अरैस्ट कर लिया गया व उसके विरूद्ध अब थर्ड डिग्री मर्डर (Third Degree Murder) का आरोप है।

 एक अश्वेत नागरिक (African American) जॉर्ज फ्लॉयड की मृत्यु के बाद अमेरिका के कई शहरों में हिंसक विरोध (Violent Protests) प्रदर्शनों का दौर जारी रहा। फ्लॉयड को घुटने के नीचे बेदर्दी से मसलने वाले कॉप डेरेक चाउविन (Derek Chauvin) के बारे में क्या आप जानते हैं कि ये एक बाउंसर था? ये भी जानें कि कैसे पहले भी डेरेक पर संगीन इल्ज़ाम लगे थे।


8 मिनट तक पैर से दबाए रखी गर्दन
अमेरिका में कई स्थान गुस्साए लोगों के प्रदर्शन के बीच डेरेक तब सबकी व केंद्रीय जांचकर्ताओं की नज़र में आया, जब एक मोबाइल फोन वीडिया में दिखा कि 44 वर्षीय डेरेक ने अश्वेत जॉर्ज की गर्दन को 8 मिनट से ज़्यादा समय तक अपने घुटने व जांघों के नीचे मसला। जॉर्ज के हाथों में हथकड़ी थी व वीडियो में सुना जा सकता था कि वह डेरेक के दबाव से सांस लेने में अक्षम हो रहा था। जॉर्ज को जब अस्पताल ले जाया गया, तो उसी रात उसकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई।

बाउंसर रहा है डेरेक
मेनियापोलिस खबरों की मानें तो डेरेक निचली बस्ती के एक लैटिन नाइट क्लब में एक बाउंसर के तौर पर कार्य कर चुका है। क्लब की मालकिन खबरों में बोला गया है कि डेरेक ऑफ ड्यूटी पुलिस के तौर पर क्लब के लिए भाग टाइम कार्य करता था।



फ्लॉयड व डेरेक साथ कार्य कर चुके थे
जी हां, डेरेक जिस क्लब की सुरक्षा के लिए ऑफ ड्यूटी कार्य करता था, वहीं फ्लॉयड भी बाउंसर के तौर पर कार्य करता था। दोनों एक ही समय में क्लब के लिए कार्य कर रहे थे। कुछ खबरें कह रही हैं कि यह संभव है कि दोनों के बीच पहले कोई झगड़ा हुई हो, लेकिन कुछ खबरें ये भी कह रही हैं कि डेरेक चूंकि क्लब के बाहर कार्य करता था व फ्लॉयड अंदर के सुरक्षा घेरे में इसलिए दोनों का मिलना जुलना शायद ही रहा हो।

जब डेरेक ने चलाई थी गोली
वर्ष 2006 की बात करते हुए एक रिपोर्ट कहती है कि चाकू मारने के एक संदिग्ध आरोपी का पीछा करते हुए छह पुलिस अफसरों ने गोलियां चलाई थीं, उनमें से डेरेक भी एक था। संदिग्ध वाएन रेयेज़ को इन अफसरों द्वारा बहुत ज्यादा पीटा गया था जिससे उसकी मृत्यु हो गई थी लेकिन बाद में एक ग्रैंड जूरी ने माना था कि पुलिस का बल इस्तेमाल जायज़ था।

डेरेक ने फिर चलाई थीं गोलियां
इस घटना के दो वर्ष बाद ही कॉप डेरेक ने घरेलू टकराव के एक मुद्दे में एक आदमी लैट्रल टोल्स पर गोलियां चलाई थीं। एक महिला ने घरेलू हिंसा से बचाए जाने के लिए पुलिस की मदद मांगी थी, तब डेरेक अपने साथी अफसरों के साथ पहुंचा था। आरोपी को पकड़ने के लिए उसने घर व बाथरूम के दरवाज़े तोड़ने के बाद टोल्स के पेट में दो गोलियां मार दी थीं। टोल्स हालांकि बच गया व उसने बोला था कि डेरेक ने उसे जान से मारने की प्रयास की थी।


17 शिकायतें लेकिन कभी सज़ा नहीं
शहर के औनलाइन रिकॉर्ड्स कहते हैं कि डेरेक के विरूद्ध समय समय पर 17 शिकायतें हुईं लेकिन इनमें से 16 का कोई नतीजा नहीं निकला। सिर्फ एक शिकायत के चलते उसे दो बार निंदा लेटर जारी किए गए। शिकायतों के बारे में कोई खास उल्लेख रिकॉर्ड में नहीं है।

और डेरेक का दूसरा पहलू
अमेरिका में क्रूर कॉप कहे जा रहे डेरेक के बारे में 2018 में उसकी पत्नी केली ने अखबारों से बात की थी। पहली मिसेज मिनेसॉटा बनी केली ने प्रैस से बोला था कि डेरेक कॉप की यूनिफॉर्म के भीतर एक नर्मदिल इंसान था। 'वो एक सभ्य आदमी है। तलाक के बाद मुझे जिस तरह के आदमी की तलाश थी, वो सारी खूबियां उसमें थीं। ' हालांकि फ्लॉयड हत्याकांड के बाद भड़के दंगों के बाद खबरें हैं कि केली ने डेरेक से तलाक लेने की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी है।