पुलिस अफसरों के नाम पर चाचा-भतीजा कर रहे थे लोगो से ठगी, हुए अरेस्ट

पुलिस अफसरों के नाम पर  चाचा-भतीजा कर रहे थे लोगो से  ठगी, हुए अरेस्ट

आईपीएस बनकर पुलिस अफसरों के नाम पर ठगी करने वाले चाचा-भतीजा को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के नवाबगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इनके पास से फर्जी आईडी कार्ड मोबाइल व पांच सिम बरामद हुए हैं. 

आरोपी युवक ने एडीजी बनकर एसएसपी को भी एक मुद्दे में कार्रवाई करने का आदेश दिया था.

बताया जा रहा है कि एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को एक एडीजी के नाम पर किसी ने कॉल किया व एक मुद्दे में कार्रवाई करने का आदेश दिया. एसएसपी को संदेह हुआ तो उन्होंने संबंधित अधिकारी को कॉल करके जानकारी ली. पता चला कि उनके यहां से कोई कॉल नहीं आई थी. आरोपी का मोबाइल नंबर  ट्रूकॉलर पर एक आईपीएस का नाम प्रदर्शित कर रहा था. फर्जीवाड़ा की जानकारी होने पर एसएसपी ने कार्रवाई करने का आदेश दिया.

 नवाबगंज थाने के लालगोपालगंज चौकी इंचार्ज चंद्रभूषण मौर्या ने सोमवार को बिजलीपुर उर्फ टिकरा पियरी गांव निवासी सिद्धार्थ पांडेय व उसके चाचा भास्कर पांडेय को अरैस्ट कर लिया. पुलिस ने बताया कि सिद्धार्थ पांडेय हाईस्कूल में दो बार फेल हुआ था. इसके बाद वह दिल्ली चला गया व वहां बस कंडक्टर  था. लॉकडाउन में बस बंद हो जाने पर वह गांव लौट आया. इसके बाद चाचा-भतीजा आईपीएस बनकर पुलिसवालों को कॉल करके ठगी करने लगे थे. थाने वालों को भी कॉल करके आईपीएस अमित बताया था. पकड़े जाने पर कई राज खुले.