बस आने वाली है Coronavirus Vaccine, Moderna ने बताया कितनी होगी कीमत

बस आने वाली है Coronavirus Vaccine, Moderna ने बताया कितनी होगी कीमत

करीब एक साल से दुनिया में हाहाकार मचाने वाली कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ वैक्सीन कब आएगी, इस पर तो लोगों की निगाहें हैं ही, इस बात पर भी हैं कि असरदार और सुरक्षित वैक्सीन की कीमत कितनी होगी। अमेरिकी फार्मा कंपनी Moderna Inc ने बताया है कि उसकी कोरोना वायरस वैक्सीन के लिए सरकारों को एक खुराक की कीमत 25 (1,854) से 37 (2,744) डॉलर देनी होगी। सरकारें जितनी मात्रा में वैक्सीन का ऑर्डर देंगी, कीमत भी उसी के आधार पर तय होगी। कंपनी के चीफ एग्जिक्युटिव ऑफिसर स्टेफन बैंसल ने यह जानकारी दी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि वैक्सीन की कीमत फ्लू के शॉट के बराबर होगी जो 10 से 50 डॉलर के बीच आता है।

यूरोपियन कमीशन के साथ बात

वैक्सीन के लिए यूरोपियन कमीशन Moderna के साथ डील करना चाहता है। लाखों खुराकों के लिए 25 डॉलर से कम दाम पर खरीद को लेकर डील की जा रही है। बैंसल ने बताया है कि अभी कुछ फाइनल नहीं हुआ है लेकिन बातचीत जारी है। उन्होंने कहा कि कंपनी यूरोप में डिलिवर करना चाहती है और सकारात्मक दिशा में बातचीत जारी है। दोनों के बीच जुलाई से डील पर बात चल रही है।

सबसे ज्यादा असरदार

इससे पहले Moderna ने बताया था कि उसकी वैक्सीन कोविड-19 को रोकने में 94.5% असरदार है। आखिर स्टेज के क्लिनिकल ट्रायल से मिले अंतरिम डेटा के आधार पर यह ऐलान किया गया था। Moderna के अलावा सिर्फ Pfizer ने इतने सफल नतीजे दिए हैं। Moderna की वैक्सीन भी उसी mRNA तकनीक पर आधारित है जिस पर Pfizer की वैक्सीन। युवाओं के साथ-साथ ज्यादा उम्र के लोगों में Moderna की वैक्सीन ने ऐंटीबॉडी पैद की जिसने वायरस के खिलाफ ऐक्शन किया।

Pfizer ने मांगा FDA अप्रूवल

अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन को इमर्जेंसी में इस्तेमाल की इजाजत के लिए Pfizer ने अमेरिका के नियामक प्राधिकरण को आवेदन दिया है। माना जा रहा है कि यह प्रक्रिया पूरी होने पर अगले महीने सीमित संख्या में वैक्सीन की खुराकें तैयार हो सकती हैं। कंपनी ने कहा है कि वायरस से सुरक्षा के साथ गंभीर साइड इफेक्ट न होने से वैक्सीन इस्तेमाल के लिए फूड ऐंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन (FDA) की इजाजत के लिए आवेदन कर सकती है। इसके बाद इसकी फाइनल टेस्टिंग भी की जा सकती है।

क्रिसमस तक आएगी ऑक्सफर्ड की वैक्सीन?

ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी और AstraZeneca के वैक्सीन ट्रायल के लीडर प्रफेसर ऐंड्रू पोलार्ड का कहना है कि टीम को उम्मीद है कि क्रिसमस तक वैक्सीन को मंजूरी मिल जाएगी। उनका कहना है कि यह Pfizer से 10 गुना सस्ती होगी। दरअसल, Pfizer की वैक्सीन को -70 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर रखना होगा और कुछ हफ्ते के अंतर पर दो इंजेक्शन लगाने होंगे। ऑक्सफर्ड की वैक्सीन को फ्रिज के तापमान पर रखना होगा।


27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

अमेरिका के टेनेसी राज्य में 26 अक्टूबर को एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक (Embroidery freezing technique) से एक बच्ची का जन्म हुआ। बच्ची का नाम मॉली एवरेट रखा गया। यह एक रिकॉर्ड है, जब 27 साल पहले फ्रीज कराए कराए गए एम्ब्रयो (भ्रूण) से किसी बच्ची का जन्म हुआ। दुनियाभर में इस मामले की चर्चा है और यह बांझपन से जूझ रही महिलाओं के लिए उम्मीद की किरण भी है। यह तकनीक क्या है? बच्ची का जन्म कैसे हुआ? पढ़ें पूरी कहानी...

फरवरी में भ्रूण ट्रांसप्लांट कराया

मॉली की मां टीना गिब्सन की उम्र 28 साल है। 1992 में एक महिला द्वारा फ्रीज कराए गए भ्रूण को टीना में 12 फरवरी, 2020 ट्रांसप्लांट किया गया। यह अब तक का सबसे लंबे समय तक फ्रीज किया हुआ भ्रूण है, जिससे किसी बच्ची का जन्म हुआ। टीना ने 26 अक्टूबर को मॉली को जन्म दिया। अभी मॉली का वजन 3 किलो है और वह स्वस्थ है।

क्या है एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique)
जर्नल ह्यूमन रिप्रोडक्शन के मुताबिक, जब महिला कंसीव करती है तो भ्रूण का डेवलपमेंट शुरू होता है। प्रेग्नेंसी के 8 हफ्ते तक इसे भ्रूण ही कहते हैं। कई कपल इस भ्रूण को फ्रीज कराते हैं, ताकि भविष्य में जब मां बनना हो तो इसका प्रयोग कर सकें। इसके अलावा कुछ दंपती इसे डोनेट भी करते हैं, ताकि बांझपन से जूझ रही महिला मां बन सकें। इसका इस्तेमाल रिसर्च में किया जाता है।

कोई महिला भ्रूण को फ्रीज कराना चाहती है तो उसे पहले डॉक्टर कुछ हार्मोन्स के इंजेक्शन या दवाएं देते हैं। इससे शरीर में एग्स (अंडे) बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इनका डेवलपमेंट होने के बाद डॉक्टर्स इन एग्स को बाहर निकाल लेते हैं। इनसे भ्रूण को विकसित करके फ्रीज कर लिया जाता है। अगर महिला चाहे तो केवल एग्स को भी फ्रीज करा सकती है। वह जब भी मां बनना चाहे तो इनका इस्तेमाल कर सकती हैं।

ज्यादातर जॉब करने वाली महिलाएं 22 से 28 साल की उम्र में एग्स फ्रीज कराती हैं ताकि भविष्य में देर से भी मां बनना चाहें तो बन सकें।

ऐसा क्यों करना पड़ा?

टीना का कहना है कि उनके पति बेंजामिन गिब्सन सिस्टिक फायब्रोसिस के मरीज हैं। यह बीमारी बच्चा पैदा करने में बड़ी बाधा है। इसलिए हमनें दोबारा एम्ब्रयो फ्रीजिंग  (Embroidery freezing) से बच्चे को जन्म देने का फैसला किया था। 2017 में इसी तकनीक से मेरी पहली बेटी का जन्म हुआ था।

टीना के मुताबिक, शादी के कई साल बाद बच्चा न होने पर इस तकनीक की जानकारी मुझे मेरे पिता से मिली। उन्हें एक मैग्जीन से एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique) की जानकारी मिली। उन्होंने मुझे यह बात बताई। हमने इस तकनीक के बारे में जानकारी जुटाई और नेशनल एम्ब्रयो डोनेशन सेंटर पहुंचे। यहां आगे की प्रक्रिया शुरू हुई।

बच्ची ने तोड़ा अपनी बहन का रिकॉर्ड

टीना की पहली बेटी एमा का जन्म भी इसी तकनीक से 2017 में हुआ। एमा का भ्रूण 24 साल पुराना था। अब 27 साल पुराने भ्रूण से दूसरी बेटी का जन्म हुआ, जो एक रिकॉर्ड है।


दुल्हन बन डायन ने मचाया कोहराम,तस्वीरें देख फैंस हुए घायल       अदा शर्मा के बाद Monalisa ने कराया सिर्फ फूलों वाली ड्रेस में फोटोशूट       क्या नई शिक्षा नीति में खत्म हो जाएगा SC/ST आरक्षण? जानें सच्चाई       कियारा आडवाणी की फिल्म इंदू की जवानी का सॉन्ग दिल तेरा रिलीज       महंगा हो गया LPG Cylinder, जानें नई कीमत       अपराधी गिरोह कोविड-19 का नकली टीका बेच सकते हैं: इंटरपोल की चेतावनी       PM Kisan की सातवीं किस्त का कर रहे इंतजार तो यहां जानें कहां अटका है आपका 2000 रुपया       बासी रोटियां खाने के ये फायदे जानकर इन्हें देखकर नहीं बनाएंगे मुंह!       आयुर्वेद के अनुसार सर्दियों में हर व्यक्ति को करना चाहिए इन पांच चीजों का सेवन       दिशा पाटनी ने शेयर की बोल्ड फोटो, यूजर्स करने लगे ट्रोल, कहा- मास्क तो पहन लो दीदी       दिशा पाटनी का ब्लू ड्रेस में ग्लैमरस लुक, फैन्स बोले- ब्यूटी क्वीन       भारत-बांग्लादेश के बीच रोहिंग्या (Rohingya Muslims) के साथ-साथ कोरोना वैक्सीन पर होगी बात, 17 दिसंबर को पीएम मोदी और शेख हसीना की मीटिंग       गोविंदा ने आदित्य नारायण के वेडिंग रिसेप्शन में अपने ही गाने पर किया डांस, पत्नी सुनीता ने भी दिया साथ       भाजपा राज्यों के शीर्ष नेताओं को राष्ट्रीय राजनीति में लाएगी, बिहार के बाद कर्नाटक में भी बदलाव के आसार       हथेली में ऐसी रेखा होने पर नौकरी में आती है बाधाएं, जानें इसके बारें में...       परमाणु बम बनाने की नई 'फैक्‍ट्री' बना रहा पाकिस्‍तान, सैटलाइट तस्‍वीरों से खुलासा       पाक की अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ‘घोषित अपराधी’ करार दिया       हिंद महासागर में चीन को घेरने के लिए नौसेना की खास तैयारी, एयरक्राफ्ट-ड्रोन्स से रखी जा रही नजर       किसान आंदोलन जारी है, पर इन मांगों के लिए तैयार हो गई सरकार, कृषि मंत्री बोले- अगली बैठक में समाधान की उम्मीद       महाशय धर्मपाल का अजमेर से रहा नाता, निधन पर अजमेर गमगीन