नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में भड़की हिंसा इतने लोगो की हुई मौत

नागरिकता संशोधन अधिनियम  के विरोध में भड़की हिंसा इतने लोगो की हुई मौत

ष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में नागरिकता संशोधन अधिनियम ( CAA ) के विरोध में भड़की हिंसा ( Delhi Violence ) का क्रूर व निर्मम चेहरा सामने आया है.


दिल्ली हिंसा का शिकार हुए इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा ( Ankit Sharma ) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने बड़ा खुलासा किया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार अंकित शर्मा की बॉडी पर 400 से ज्यादा चाकू के निशान मिले हैं.

इनमें उसके पेट व सीने पर सबसे ज्यादा बार चाकू से हमले के निशाना पाए गए हैं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि मर्डर से पहले अंकित शर्मा के साथ क्रूरता की गई थी.

दरअसल, अंकित शर्मा के पिता रविंद्र शर्मा की ओर से दर्ज कराई गई FIR के अनुसार भजनपुरा से करावल नगर को जाने वाले मार्ग पर CAA के विरूद्ध प्रदर्शन चल रहा था.

इस दौरान भीड़ की शक्ल में इकट्ठा हुए लोगों ने पत्थरबाजी, आगजनी व फायरिंग प्रारम्भ कर दी. उनका छोटा बेटा अंकित शर्मा भी इस हिंसा की चपेट में आ गया.

इस मुद्दे में पुलिस ने IPC की धारा 302, 201, 365, 34 के तहत केस दर्ज किया है

अंकित के पिता की ओर से दर्ज कराई गई इस FIR में आम आदमी पार्टी से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का भी नाम है. ताहिर हुसैन पर आरोप लगा है कि उसने अपने घर पर कुछ असामाजिक तत्व इकट्ठा किए थे.

घर की छत से गोलियां चलाई गईं, पेट्रोल बम फेंके गए व पत्थर बरसाए गए.

रिपोर्ट में जिक्र किया गया है कि अंकित शर्मा 25 फरवरी को शाम 5 बजे कुछ सामान लेने घर से बाहर गए थे, जब वह वापस नहीं लौटे तो उनकी तलाश की गई.