पाकिस्तान में बढ़ती जा रही है गधों की संख्या, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

पाकिस्तान में बढ़ती जा रही है गधों की संख्या, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

अक्सर पाकिस्तान अपने अजीबोगरीब कामों के लिए चर्चा में रहता है। लेकिन अब एक नया रिकॉर्ड बन गया है।पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार आ जाने के बाद गधों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में सालाना एक लाख गधों की आबादी बढ़ती जा रही है। 

बढ़ती जा रही है गधों की संख्या

इमरान खान की सरकार आने के बाद से 3 साल में 3 लाख गधों की संख्या बढ़ी है, इसके पीछे के वजह प्राकृतिक प्रजनन नहीं बल्कि कारोबार है। पाकिस्तान हर साल चीन को 80 हजार गधों का निर्यात करता है। चीन इन गधों के खाल का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है गधे के मांस को खाने के साथ ही इसकी खाल से निकलने वाले जिलेटिन से कई प्रकार की दवाएं बनाई जाती है। 


दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरा नंबर

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में ऊंट, घोड़े और खच्चर सहित अन्य जानवरों की जनसंख्या वृद्धि 13 सालों से जस की तस है लेकिन गधों की संख्या सालाना 1 लाख बढ़ती जा रही है। मौजूदा समय में पाकिस्तान में 56 लाख गधे है, जो दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरे नंबर पर है। 


यहां रोबोट करवा रहे है लड़कियों की शादी, लड़कियों को मिल रहे है पसंद के दूल्हे

यहां रोबोट करवा रहे है लड़कियों की शादी, लड़कियों को मिल रहे है पसंद के दूल्हे

अक्सर हमारा मानना होता है कि जोड़िया ऊपर वाला बनाता है। लेकिन आप यकीन नहीं करेंगे आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे है जहां पर रिश्ते ऊपरवाला नहीं बल्कि रोबोट जोड़ते है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बता दें कि जापान की राजधानी टोक्यों में जीवन साथी खोजने के लिए एक प्रोग्राम आयोजित किया गया है। जिसमें लड़के लड़कियों के अलावा कई रोबोट भी हिस्सा लिया है। 

रोबोट करवा रहे है शादी:

इन रोबोटों का काम है कि ये लड़की लड़को की बात एक दूसरे के पास पहुंचा रहे है। जो एक दूसरे से बात करने में शरमा रहे है। जानकारी के लिए बता दें कि टोक्यो स्थित आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स और अन्य तकनीक पर काम करने वाली कंटेंट इनोवेशन प्रोग्राम एसोसिएशन ने यह प्रोग्राम आयोजित किया था, जिसमें 25 से 39 साल के 28 लड़के-लड़कियों ने हिस्सा लिया। इन रोबोट्स की वजह से इस प्रोग्राम में चार जोड़ियां भी बन गईं। 

कैसे करते हैं काम:

रोबोट के अंदर लड़कियों के बारे में सभी जनकारी व उनकी इच्छा शौक औऱ नोकरी जैसी जानकारियां फीड की गई है। उसी के चलते इस प्रोग्राम में भाग लेने वालों से सवाल पूछे गए। कंटेट इनोवेशन प्रोग्राम के एक अधिकारी ने बताया है कि रोबोट लोगों की सहायता कर रहे है।इस आयोजन में भाग लेने वाली एक महिला ने बताया है कि रोबोट की सहायता से मुझे वैसा ही साथी मिला जिसकी मै इच्छा रखती थी।