असली नकली की पहचान के लिये कुत्तों का होगा DNA टेस्ट

असली नकली की पहचान के लिये कुत्तों का होगा DNA टेस्ट

मध्य प्रदेश में तीन वर्षीय लैब्राडोर कुत्ते के मालिक और माता पिता की जांच के लिए उसका डीएनए टेस्ट किया जायेगा. मध्य प्रदेश पुलिस ने उसके माता-पिता का पता लगाने के प्रयास में डीएनए परीक्षण करने का फैसला किया है. इससे कुत्ते के असली मालिक का पता लगेगा क्योंकि दो लोगों ने उसपर दावा किया है.

होशंगाबाद पुलिस इस मामले में कोई भी रिस्क नहीं लेना चाहती है कुत्ते पर मालिकाना हक जतानेवाला एक पत्रकार है और दूसरा राजनीतिक कार्यकर्ता है. इस मामले मे होशंगाबाद देहात थाना प्रभारी, हेमंत श्रीवास्तव ने कहा कि लगभग तीन महीने पहले, एक पत्रकार शादाब खान ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उनका तीन साल का कुत्ता कोको गायब था.

बता दें कि 18 नवंबर को शादाब खान ने दावा किया उनका कुत्ता अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेता कार्तिक शिवहरे के घर में में है. शादाब ने पुलिस को बुलाया और कुत्ते को अपने साथ ले गया. बाद में, 19 नवंबर को, शिवहारे पुलिस स्टेशन पहुंचे और दावा किया कि कुत्ता उनका था. उन्होंने कहा कि कुत्ते का नाम टाइगर है और उन्होंने कुछ हफ्ते पहले इटारसी से कुत्ता खरीदा था. जबकि होशंगाबाद देहात थाना प्रभारी ने कहा कि कुत्ता दोनों नामों, कोको और टाइगर, और दोनों दावेदारों के साथ दोस्ताना व्यवहार कर रहा है.

उन्होंने कहा कि दोनो ही इस कुते पर स्वामित्व का दावा कर रहे थे इसलिए हमने डीएनए परीक्षण करने का फैसला किया. शादाब खान ने कहा कि कुत्ते के माता-पिता पंचमढ़ी में थे, जबकि शिवहरे ने कहा कि उसके कुत्ते के माता-पिता इटारसी में हैं.

कुत्ते की डीएनए जांच के लिए हेमंत श्रीवास्तव ने कुत्ते के माता-पिता के रक्त के नमूने एकत्र करने के लिए पंचमढ़ी और इटारसी में एक पुलिस दल भेजा है. कुत्ते का रक्त के नमूने शुक्रवार रात जिला पशु चिकित्सक द्वारा एकत्र किए गए थे और पुलिस ने शिवहरे को कुत्ते को रखने की अनुमति देने का फैसला किया.

खान और शिवहरे दोनों ने जोर देकर कहा कि परीक्षण से सच्चाई का पता चलेगा. खान ने कहा, "मैंने अपना स्वामित्व साबित करने के लिए पुलिस को एक टीकाकरण कार्ड सहित सभी दस्तावेज जमा किए हैं और मैंने डीएनए परीक्षण पर जोर दिया है. वहीं शिवहरे ने कहा, "शादाब ने मेरी अनुमति के बिना मेरे घर से कुत्ते को ले लिया और अब डीएनए टेस्ट में सच सामने आयेगा.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक इस बीच, पशु कार्यकर्ता समूह पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (PETA) ने पुलिस को असंवेदनशील होने का दोषी ठहराया. राज्य में पेटा के समन्वयक स्वाति गौरव भदौरिया ने कहा कि उचित देखभाल नहीं होने के कारण कुत्ते बीमार पड़ गए हैं. वह तेज बुखार से पीड़ित है. हम चाहते हैं कि पुलिस और उस व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए जिसने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत झूठे स्वामित्व का दावा किया है.


27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

अमेरिका के टेनेसी राज्य में 26 अक्टूबर को एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक (Embroidery freezing technique) से एक बच्ची का जन्म हुआ। बच्ची का नाम मॉली एवरेट रखा गया। यह एक रिकॉर्ड है, जब 27 साल पहले फ्रीज कराए कराए गए एम्ब्रयो (भ्रूण) से किसी बच्ची का जन्म हुआ। दुनियाभर में इस मामले की चर्चा है और यह बांझपन से जूझ रही महिलाओं के लिए उम्मीद की किरण भी है। यह तकनीक क्या है? बच्ची का जन्म कैसे हुआ? पढ़ें पूरी कहानी...

फरवरी में भ्रूण ट्रांसप्लांट कराया

मॉली की मां टीना गिब्सन की उम्र 28 साल है। 1992 में एक महिला द्वारा फ्रीज कराए गए भ्रूण को टीना में 12 फरवरी, 2020 ट्रांसप्लांट किया गया। यह अब तक का सबसे लंबे समय तक फ्रीज किया हुआ भ्रूण है, जिससे किसी बच्ची का जन्म हुआ। टीना ने 26 अक्टूबर को मॉली को जन्म दिया। अभी मॉली का वजन 3 किलो है और वह स्वस्थ है।

क्या है एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique)
जर्नल ह्यूमन रिप्रोडक्शन के मुताबिक, जब महिला कंसीव करती है तो भ्रूण का डेवलपमेंट शुरू होता है। प्रेग्नेंसी के 8 हफ्ते तक इसे भ्रूण ही कहते हैं। कई कपल इस भ्रूण को फ्रीज कराते हैं, ताकि भविष्य में जब मां बनना हो तो इसका प्रयोग कर सकें। इसके अलावा कुछ दंपती इसे डोनेट भी करते हैं, ताकि बांझपन से जूझ रही महिला मां बन सकें। इसका इस्तेमाल रिसर्च में किया जाता है।

कोई महिला भ्रूण को फ्रीज कराना चाहती है तो उसे पहले डॉक्टर कुछ हार्मोन्स के इंजेक्शन या दवाएं देते हैं। इससे शरीर में एग्स (अंडे) बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इनका डेवलपमेंट होने के बाद डॉक्टर्स इन एग्स को बाहर निकाल लेते हैं। इनसे भ्रूण को विकसित करके फ्रीज कर लिया जाता है। अगर महिला चाहे तो केवल एग्स को भी फ्रीज करा सकती है। वह जब भी मां बनना चाहे तो इनका इस्तेमाल कर सकती हैं।

ज्यादातर जॉब करने वाली महिलाएं 22 से 28 साल की उम्र में एग्स फ्रीज कराती हैं ताकि भविष्य में देर से भी मां बनना चाहें तो बन सकें।

ऐसा क्यों करना पड़ा?

टीना का कहना है कि उनके पति बेंजामिन गिब्सन सिस्टिक फायब्रोसिस के मरीज हैं। यह बीमारी बच्चा पैदा करने में बड़ी बाधा है। इसलिए हमनें दोबारा एम्ब्रयो फ्रीजिंग  (Embroidery freezing) से बच्चे को जन्म देने का फैसला किया था। 2017 में इसी तकनीक से मेरी पहली बेटी का जन्म हुआ था।

टीना के मुताबिक, शादी के कई साल बाद बच्चा न होने पर इस तकनीक की जानकारी मुझे मेरे पिता से मिली। उन्हें एक मैग्जीन से एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique) की जानकारी मिली। उन्होंने मुझे यह बात बताई। हमने इस तकनीक के बारे में जानकारी जुटाई और नेशनल एम्ब्रयो डोनेशन सेंटर पहुंचे। यहां आगे की प्रक्रिया शुरू हुई।

बच्ची ने तोड़ा अपनी बहन का रिकॉर्ड

टीना की पहली बेटी एमा का जन्म भी इसी तकनीक से 2017 में हुआ। एमा का भ्रूण 24 साल पुराना था। अब 27 साल पुराने भ्रूण से दूसरी बेटी का जन्म हुआ, जो एक रिकॉर्ड है।


किसान आंदोलन जारी है, पर इन मांगों के लिए तैयार हो गई सरकार, कृषि मंत्री बोले- अगली बैठक में समाधान की उम्मीद       महाशय धर्मपाल का अजमेर से रहा नाता, निधन पर अजमेर गमगीन       दागी नेताओं पर आजीवन प्रतिबंध के हक में नहीं केंद्र सरकार, सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर स्पष्ट किया रुख       बढ़ेगी चीन की टेंशन, ब्रह्मपुत्र नदी पर सबसे लंबे पुल बनाएगा भारत, जुड़ जाएंगे वियतनाम और भूटान       NEP 2020: नई शिक्षा नीति में आरक्षण खत्म होने के सवाल का शिक्षा मंत्री ने दिए ये जवाब...       Sidharth Shukla In Broken But Beautiful season 3: सिद्धार्थ शुक्ला और सोनिया राठी जल्द 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' में आएंगे नजर, देखें टीजर       स्वाति मालीवाल ने कंगना रनौत को कहा, दिनभर ट्वीटर पर गंदगी फैलाकर खुद को शेरनी समझ रही       HCL की रोशनी नडार हैं देश की सबसे धनवान महिला, बॉयोकॉन की किरण मजूमदार शॉ दूसरे नंबर पर, जानें और कौन-कौन है इस लिस्ट में शुमार       Sushant Singh Rajput Death: सुशांत की मौत के छह महीने बाद भावुक हुए शेखर सुमन, बोले- एक दिन चमत्‍कार होगा       सुप्रीम कोर्ट बोला, मास्क नहीं लगाना दूसरों के मौलिक अधिकारों का हनन, कड़ाई से लागू हों नियम       किसान आंदोलन खत्म होने के बढ़े आसार, सरकार ने दिए समाधान निकालने के संकेत       सचिन का रिकॉर्ड तोड़कर सबसे तेजी से 12000 रन बनाने वाले बैट्समैन बने कोहली       नाराज चैनल सेवन ने कहा, बीसीसीआई से डरता है क्रिकेट आस्ट्रेलिया       अल्ट्राटेक 1.28 करोड़ टन क्षमता बढ़ाने पर करेगी 5,477 करोड़ रुपये का निवेश       आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक को डिजिटल गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने से रोका       आंदोलनकारी किसानों को बिजली इंजीनियरों ने दिया समर्थन       उप्र और उत्तराखंड के जबरन धर्मपरिवर्तन कानूनों को चुनौती देते हुये सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिकायें       अपराधी गिरोह कोविड-19 का नकली टीका बेच सकते हैं: इंटरपोल की चेतावनी       पहले फ्री कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) का वादा, फिर इनकार, राहुल गांधी बोले- क्या है PM का स्टैंड?       गुजरात HC का आदेश "सजा-ए-मास्क" पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक