विधवा भाभी से विवाह के लिए बवानिया गैंग के गुर्गे को दिल्ली उच्च न्यायालय ने दी जमानत

विधवा भाभी से विवाह के लिए बवानिया गैंग के गुर्गे को दिल्ली उच्च न्यायालय ने दी जमानत

दिल्ली उच्च न्यायालय ने हरियाणा और दिल्ली में कथित तौर पर कई हत्याओं और आर्म्स एक्ट के मामलों में शामिल राजेश बवानिया गैंग के एक सक्रिय मेम्बर को अपने मृतक भाई की विधवा पत्नी से विवाह करने के लिए चार दिन की अंतरिम जमानत दी है.

जस्टिस विभु बाखरू की सिंगल जज बेंच ने शुक्रवार को शेखर को 25,000 रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि के दो जमानतियों के बदले 23 नवंबर से 26 नवंबर तक अंतरिम जमानत पर रिहा करने की इजाजत दे दी. 

कोर्ट ने अपने आदेश में बोला कि याचिकाकर्ता को 27 नवंबर को या उससे पहले सेरेण्डर करना होगा. रिहा किए जाने पर वह सीधे अपने गांव में जाएगा और खुद को उक्त गांव तक ही सीमित कर लेगा. याचिकाकर्ता कृषि धरती को पत्नी के नाम पर करने के सीमित उद्देश्य को छोड़कर गांव से बाहर नहीं जाएगा. याचिकाकर्ता अपनी वापसी पर तुरंत कारागार अधिकारियों को सेरेण्डर करेगा और किसी अन्य स्थान नहीं जाएगा. याचिकाकर्ता प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से पीड़ित के किसी भी गवाह या परिवार के सदस्यों से सम्पर्क नहीं करेगा.

25 नवंबर को होगी शादी

याचिकाकर्ता की ओर से पेश एडवोकेट अमित साहनी ने बोला कि गांव के बुजुर्गों ने 25 नवंबर, 2020 को अपने चचेरे भाई की विधवा के साथ आरोपी शेखर की विवाह तय कर दी है, इसी आधार पर उसके लिए अंतरिम जमानत मांगी गई है.

शेखर की ओर से यह तर्क दिया गया था कि उसके लिए अपने चचेरे भाई की विधवा पत्नी से विवाह करना आवश्यक है, ताकि वह उसके और उसके नाबालिग बेटे की देखभाल कर सके. जब न्यायालय ने उससे पूछा कि याचिकाकर्ता अपनी होने वाली पत्नी की देखभाल कैसे करना चाहता है, उसके एडवोकेट वकील अमित साहनी ने बोला कि याचिकाकर्ता कृषि धरती का मालिक है, जिसे उसकी विवाह के समय उसकी पत्नी के नाम पर ट्रांसफर किया जाएगा.

पत्नी के नाम करना चाहता है कृषि भूमि

याचिकाकर्ता ने उक्त जमीन के दस्तावेजों की फोटोकॉपी भी न्यायालय में प्रस्तुत की जिसे वह विवाह के तुरंत बाद अपनी पत्नी के नाम पर ट्रांसफर करना चाहता है. साहनी ने बोला कि उक्त संपत्ति को हस्तांतरित करने की आवश्यक व्यवस्था भी कर ली गई है. 

याचिका में बोला गया है कि आवेदक के समुदाय में यह प्रचलित रिवाज है कि यदि एक भाई अपने पीछे किसी बच्चे को छोड़ जाता है, तो उसकी विधवा भाभी की विवाह मृतक के अविवाहित भाई या चचेरे भाई से कर दी जाती है.

अभियोजन पक्ष की ओर से अंतरिम जमानत का विरोध करते हुए यह दलील दी गई थी कि आरोपी कुख्यात राजेश बवानिया गैंग से जुड़ा हुआ है जो दिल्ली और हरियाणा सहित विभिन्न राज्यों में आर्म्स एक्ट, हत्या और मर्डर के कोशिश आदि के कई मामलों में शामिल है.


27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

27 साल पहले सहेजे भ्रूण से बेटी को जन्म दिया, इस बच्ची ने अपनी बहन का रिकॉर्ड तोड़ा

अमेरिका के टेनेसी राज्य में 26 अक्टूबर को एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक (Embroidery freezing technique) से एक बच्ची का जन्म हुआ। बच्ची का नाम मॉली एवरेट रखा गया। यह एक रिकॉर्ड है, जब 27 साल पहले फ्रीज कराए कराए गए एम्ब्रयो (भ्रूण) से किसी बच्ची का जन्म हुआ। दुनियाभर में इस मामले की चर्चा है और यह बांझपन से जूझ रही महिलाओं के लिए उम्मीद की किरण भी है। यह तकनीक क्या है? बच्ची का जन्म कैसे हुआ? पढ़ें पूरी कहानी...

फरवरी में भ्रूण ट्रांसप्लांट कराया

मॉली की मां टीना गिब्सन की उम्र 28 साल है। 1992 में एक महिला द्वारा फ्रीज कराए गए भ्रूण को टीना में 12 फरवरी, 2020 ट्रांसप्लांट किया गया। यह अब तक का सबसे लंबे समय तक फ्रीज किया हुआ भ्रूण है, जिससे किसी बच्ची का जन्म हुआ। टीना ने 26 अक्टूबर को मॉली को जन्म दिया। अभी मॉली का वजन 3 किलो है और वह स्वस्थ है।

क्या है एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique)
जर्नल ह्यूमन रिप्रोडक्शन के मुताबिक, जब महिला कंसीव करती है तो भ्रूण का डेवलपमेंट शुरू होता है। प्रेग्नेंसी के 8 हफ्ते तक इसे भ्रूण ही कहते हैं। कई कपल इस भ्रूण को फ्रीज कराते हैं, ताकि भविष्य में जब मां बनना हो तो इसका प्रयोग कर सकें। इसके अलावा कुछ दंपती इसे डोनेट भी करते हैं, ताकि बांझपन से जूझ रही महिला मां बन सकें। इसका इस्तेमाल रिसर्च में किया जाता है।

कोई महिला भ्रूण को फ्रीज कराना चाहती है तो उसे पहले डॉक्टर कुछ हार्मोन्स के इंजेक्शन या दवाएं देते हैं। इससे शरीर में एग्स (अंडे) बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इनका डेवलपमेंट होने के बाद डॉक्टर्स इन एग्स को बाहर निकाल लेते हैं। इनसे भ्रूण को विकसित करके फ्रीज कर लिया जाता है। अगर महिला चाहे तो केवल एग्स को भी फ्रीज करा सकती है। वह जब भी मां बनना चाहे तो इनका इस्तेमाल कर सकती हैं।

ज्यादातर जॉब करने वाली महिलाएं 22 से 28 साल की उम्र में एग्स फ्रीज कराती हैं ताकि भविष्य में देर से भी मां बनना चाहें तो बन सकें।

ऐसा क्यों करना पड़ा?

टीना का कहना है कि उनके पति बेंजामिन गिब्सन सिस्टिक फायब्रोसिस के मरीज हैं। यह बीमारी बच्चा पैदा करने में बड़ी बाधा है। इसलिए हमनें दोबारा एम्ब्रयो फ्रीजिंग  (Embroidery freezing) से बच्चे को जन्म देने का फैसला किया था। 2017 में इसी तकनीक से मेरी पहली बेटी का जन्म हुआ था।

टीना के मुताबिक, शादी के कई साल बाद बच्चा न होने पर इस तकनीक की जानकारी मुझे मेरे पिता से मिली। उन्हें एक मैग्जीन से एम्ब्रयो फ्रीजिंग तकनीक  (Embroidery freezing technique) की जानकारी मिली। उन्होंने मुझे यह बात बताई। हमने इस तकनीक के बारे में जानकारी जुटाई और नेशनल एम्ब्रयो डोनेशन सेंटर पहुंचे। यहां आगे की प्रक्रिया शुरू हुई।

बच्ची ने तोड़ा अपनी बहन का रिकॉर्ड

टीना की पहली बेटी एमा का जन्म भी इसी तकनीक से 2017 में हुआ। एमा का भ्रूण 24 साल पुराना था। अब 27 साल पुराने भ्रूण से दूसरी बेटी का जन्म हुआ, जो एक रिकॉर्ड है।


राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप परिवार के सदस्य, पूर्व सहयोगी के साथ करेंगे इन संशोधन पर विचार       राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप परिवार के सदस्य, पूर्व सहयोगी के साथ करेंगे इन संशोधन पर विचार       पाक की आतंक रोधी न्यायालय ने हमले के मास्टर माइंड यहया मुजाहिद को सुनाई इतने वर्ष कैद की सजा       भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तराखंड से करेंगे इतने दिन के देशव्यापी दौरे की आरंभ, जाने कब       हिना खान ने रेड बिकिनी में शेयर की जबरदस्त बोल्ड फोटो, फैंस बोले- तुम्हारी अदाओं पर...       एनआईए ने इस फर्जीवाड़े की आड़ में मानव तस्करी का गिरोह चलाने वाले लोगो को किया अरेस्ट       कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि संबंधी ‘काले कानूनों’ को लेकर बोली यह बड़ी बात       केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय में दोषी ठहराए गए नेताओं को लेकर की यह बड़ी अपील       चक्रवाती तूफान बुरेवी को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया यह हाई अलर्ट, जाने आएगा कहा व कैसे       ओडिशा के मयूरभंज में किए गए आज तड़के भूकंप के झटके महसूस, जाने तीव्रता       फाइजर कंपनी की वैक्सीन को लेकर हिंदुस्तान पर टिकी निगाहे       राहुल गांधी की साख पर टिप्पणी करते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बोली यह बड़ी बात       अगर महीने में कमाना चाहते है 1 लाख रुपये तो 50 हजार लगाकर प्रारम्भ करे यह कारोबार       देश में इस दशा के दौरान अच्छी कमाई करने के लिए प्रारम्भ करे यह खास बिजनेस        ED की टीमों ने उत्तर प्रदेश सहित 8 राज्यों में पीएफआई के इतने ठिकानों पर की छापेमारी       आज दिनभर बनी रहेगी भारत की इन ताजातरीन खबरों पर सबकी नजर, जिनका पड़ेगा आपकी जिंदगी पर प्रभाव       पढ़े कोविड-19 संक्रमण की स्थिति, से लेकर किसानों और सरकार के बीच मीटिंग तक दुनियां की 10 बड़ी खबरे       जेजेपी नेता दिग्विजय चौटाला ने प्रदेश सरकार से किसान आंदोलन के दौरान किसानों को लेकर की यह बड़ी मांग        बीजेपी ने इस बार मेरठ-सहारनपुर शिक्षक खंड के चुनाव में खड़े शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा का वर्चस्व तोड़ा       आईआईटी ग्लोबल समिट 2020 में भाग ले सकते है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जाने इन विधार्थियो को करेंगे संबोधित