बच्चे का शरारती होने है अभिशाप, इस एक चार वर्षीय बच्ची के साथ नहीं हुआ ऐसा

बच्चे का शरारती होने है अभिशाप, इस एक चार वर्षीय बच्ची के साथ नहीं हुआ ऐसा

क्या बच्चे का शरारती होना अभिशाप है. वैसे तो इसका जवाब नहीं में है, लेकिन एक चार वर्षीय बच्ची दिशा के साथ ऐसा नहीं हुआ. दिशा की मां ने खुद अपने ही हाथों अपनी मासूम बच्ची की जान ( Mother Killed her own daughter ) ले ली.

जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र ( Maharashtra Crime News ) के पुणे स्थित पिंपरी चिंचवाड़ ( Pimpri Chinchwad ) में एक महिला को अपनी चार वर्ष की बेटी की मर्डर ( mother killed her daughter ) करने के आरोप में हिरासत में लिया गया है. महिला ने कथित तौर पर बच्ची के सिर को दीवार पर पटका व शरारती होने के लिए उसका गला घोंट कर उसे जान से मार दिया.

पुलिस ने बोला कि महिला को 27 जुलाई को पिंपरी चिंचवाड़ के सांघवी पुलिस स्टेशन में उसके पति द्वारा मुकदमा दायर करने के बाद उसकी बेटी की मर्डर करने के आरोप में अरैस्ट ( police arrested ) किया गया था. आरोपी सविता ने अपने पति को बताया कि बच्ची बहुत शरारत कर रही थी व उसे परेशान कर रही थी. इसलिए उसने गुस्से ( Angry Mother ) में एक दीवार पर बच्ची का सिर पटका व मोबाइल चार्जर से उसका गला घोंट दिया.

यह घटना तब हुई जब चार वर्ष की दिशा काकड़े अपनी मां के साथ घर पर अकेली थी. जबकि उनके परिवार के बाकी मेम्बर किसी के अनुष्ठान में शामिल होने के लिए शहर से बाहर गए थे.

शिकायतकर्ता को घर से फोन आया कि उसकी पत्नी ने अपनी बेटी की मर्डर कर दी है, जिसके बाद वे अपने घर की ओर दौड़े व बच्चे को बिस्तर पर मरा पाया. आरोपी सविता काकड़े ने उसके पति को सारी घटना बताई. बच्चे को तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब तक मासूम बच्ची मर चुकी थी. अस्पताल में डॉक्टर्स ने उसे तुरंत मृत घोषित कर दिया.

पुलिस ने बोला कि आरोपी सविता छह महीने की गर्भवती थी. उसके विरूद्ध आईपीसी की धारा 302 के तहत मुद्दा दर्ज किया गया है व उसे अरैस्ट कर लिया गया है. वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रंगनाथ उंडे ने कहा, "महिला ने बोला है कि बच्ची शरारती थी व उसे अपनी समस्याएं बता रही था, इसलिए उसने उसके सिर को दीवार पर टकरा दिया व उसका गला घोंट दिया."