अमृतसर : जहरीली शराब पीने से हुई 26 लोगों की मृत्यु, मचा इलाके में हड़कंप

अमृतसर : जहरीली शराब पीने से हुई  26 लोगों की मृत्यु, मचा इलाके में हड़कंप

पंजाब के अमृतसर ( Amritsar ) से बड़ी समाचार सामने आई है. यहां बटाला ( Batala )और तरनतारन ( Tarn Taran ) में जहरीली शराब ( Poisonous liquor ) से 26 लोगों की मृत्यु 

हो गई है. घटना से सारे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस ( Punjab Police ) ने इस मुद्दे में कुछ लोगों को हिरासत में लिया है, जिसमें जहरीली शराब बनाने वाले भी शामिल हैं. वहीं, क्षेत्र में जहरीली शराब के निर्माण व इस घटना में पाई गई लापरवाही के लिए थाना तरसिक्क के SHO को सस्पेंड कर दिया गया है. प्रदेश सरकार ( Punjab Government ) ने इस मुद्दे की जाँच के लिए SIT का गठन किया है. जानकारी के अनुसार मरने वालों में अमृतसर व तरनतारन के दस-दस व बटाला के 6 लोग शामिल हैं.

Punjab DGP Dinkar Gupta ने दी जानकारी

पंजाब के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ( Punjab DGP Dinkar Gupta ) ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया कि 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसिक्क में मुच्छल व तंग्रा में पहली पांच मौतें हुई थीं. जबकि अगली दो मौतों 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में हुई थीं. इस दौरान एक आदमी को गम्भीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद गांव मुच्छल में फिर दो लोगों की मृत्यु हो गई, जबकि दो व्यक्तियों की बटाला शहर में हुई. ताजा घटना शुक्रवार को घटी, जिसमें पांच लोगोें की जान चली गई. कुल मिलकार तरनतारन में जहरीली शराब के सेवन से 10 लोगों व बटाला में अब तक 6 लोगों की मृत्यु हो चुकी है.

दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh ) ने इस मुद्दे में गंभीरता दिखाते हुए केस की मजिस्ट्रियल जाँच ( Magisterial inquiry ) के आदेश दिए हैं. इस केस की जाँच जालंधर के डिविजनल कमिश्नर को सौंपी गई है. यही नहीं सीएम अमरिंदर सिंह ने डिविजनल कमिश्नर को किसी पुलिस अधिकारी या एक्सपर्ट की जाँच में मदद लेने की छूट दी है. जानकारी के अनुसार इस जाँच में जालंधर के उप आयुक्त और एक्साइज ( excise ) व टेक्सेशन विभाग ( Taxation department ) के कमिश्नर समेत तीनों जिलों के पुलिस कैप्टन अपना योगदान करेंगे. मुख्यमंत्री अमरिंदर ( सीएम Amarinder Singh ) ने घोषणा की है इस केस में पाए गए दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.