यूपी सरकार के लिए कोरोना का 'कठघरा' बनाएगी कांग्रेस, टीमें लगाकर जुटाए जा रहे मौत के आंकड़े

यूपी सरकार के लिए कोरोना का 'कठघरा' बनाएगी कांग्रेस, टीमें लगाकर जुटाए जा रहे मौत के आंकड़े

कोरोना संक्रमण की खतरनाक दूसरी लहर भले ही थम चली हो, लेकिन कांग्रेस इस पर सियासी तूफान खड़ा करने की तैयारी में है। कोरोना से मौतों के सरकारी आंकड़ों को झूठा करार दे रही कांग्रेस एक-एक मृतक का नाम-पता सहित पूरा ब्योरा बतौर सुबूत जुटा रही है। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा की यह रणनीति आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार और भाजपा को 'कठघरे' में खड़ा करने की है।

कोरोना संक्रमण का प्रकोप कम होते ही राजनीतिक दलों ने वर्ष 2022 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को देखते हुए अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सरकार कोविड प्रबंधन पर अपनी पीठ थपथपा रही है। जाहिर है कि चुनावी मैदान में इसका उल्लेख करना भी चाहेगी कि किस तरह दूसरी लहर को इतने कम समय में काबू करने में सफलता पाई। इधर, सरकार के कोविड प्रबंधन पर लगातार सवाल उठा रही कांग्रेस अपनी तैयारी में है। वह भी कोरोना के मुद्दे पर भाजपा से लड़ने के लिए कमर कस रही है। आंकड़ों की काट आंकड़ों से करने की रणनीति तैयार की गई है।

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता बृजेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा की रणनीति के अनुसार प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने एक प्रोफार्मा तैयार कराया। वह ग्राम पंचायत स्तर तक संगठन कार्यकर्ताओं को दे दिया गया है। पार्टी कार्यकर्ता एक-एक गांव में जाकर पता कर रहे हैं कि कितने लोगों की मृत्यु कोरोना के कारण हुई।

प्रोफार्मा पर पूरा ब्योरा लिया जाएगा कि संक्रमित कब हुए, अस्पताल में भर्ती हुए या नहीं, अस्पताल में भर्ती हुए तो इलाज या जरूरी दवा, आक्सीजन, बेड आदि में क्या समस्या आई और भर्ती नहीं हो सके तो क्यों? यह जानकारी देने वाले का मृत व्यक्ति से संबंध भी उसमें नाम व फोन नंबर सहित लिखा जा रहा है। यह सारे आंकड़े जुटाने के बाद कांग्रेस सरकार के खिलाफ कोरोना को लेकर मोर्चा खोलेगी।

हर मृतक के घर जाएगा प्रियंका का पत्र : पार्टी प्रवक्ता ने बताया कि यह अभियान ही तब शुरू हुआ, जब एक आकलन तैयार हो गया कि प्रदेश में लगभग छह-सात लाख लोगों की मौत हुई है। अब जब सभी मृतकों का डेटा तैयार हो जाएगा तो सभी के घर प्रियंका वाड्रा की ओर से संवेदना पत्र भी भेजा जाएगा।

संगठन की भी परख : कोरोना पीड़ितों का आंकड़ा जुटाने के साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं के जरिये दवाओं की किट भी भेजी जा रही है। इससे संगठन सृजन अभियान के तहत ग्राम पंचायत स्तर तक बनाए गए संगठन की परख भी करने का प्रयास चल रहा है।


UP: योगी सरकार के मंत्री का मायावती पर हमला, कहा...

UP: योगी सरकार के मंत्री का मायावती पर हमला, कहा...

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) पहुंचे सूबे के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Labor Minister Swami Prasad Maurya) ने बहुजन समाज पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन को लेकर बड़ा बयान दिया स्वामी प्रसाद मौर्य ने ब्राह्मणों की जमकर प्रशंसा की उन्होंने बोला कि जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) समीप आता जा रहा है, सभी पार्टियां ब्राह्मणों की जमकर प्रशंसा कर रही है उनको लुभाने के लिए सभी पार्टियां तरह-तरह के लुभावने बातें कह रही है  शनिवार को अयोध्या पहुंचे श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने बोला कि दलित मायावती का साथ छोड़ चुका है बीएसपी को अब अपने दलित मतदाताओं पर भरोसा नहीं रहा

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या (Swami Prasad Maurya)  ने ब्राह्मणों की प्रशंसा करते हुए बोला कि ब्राह्मण सबसे अधिक इस देश का बुद्धिजीवी, पढ़ा लिखा और समझदार मतदाता है ब्राम्हण किसी के झांसे बहकावे और प्रलोभन में आने वाला नहीं है ब्राह्मण हमेशा देश की दशा और दिशा तय करता आया है

कभी बीएसपी कार्यकाल में कद्दावर मंत्री थे  स्वामी प्रसाद मौर्य

स्वामी प्रसाद मौर्य ने बोला कि ब्राह्मण सियासी  और सामाजिक स्तर पर उचित अनुचित को अच्छी तरह से समझता है यही नहीं ब्राह्मण खुद अपने विवेक से फैसला लेता है वह किसी के झुनझुना बजाने से बच्चों की तरह उसके पीछे नहीं दौड़ेगा ब्राम्हण स्वयं बहुत समझदार है कभी बीएसपी कार्यकाल के कद्दावर मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने बोला कि बीएसपी का ब्राह्मण सम्मेलन फ्लॉप शो साबित होगा स्वामी प्रसाद मौर्या बहुजन समाज पार्टी  कार्यकाल में भी मंत्री रह चुके हैं श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य आज पूर्व सिंचाई मंत्री मराठी लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष रहे स्वर्गीय मुन्ना सिंह के पांचवीं पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने अयोध्या के सोहावल महोली गांव पहुंचे थे इस श्रद्धांजलि प्रोग्राम में प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डाक्टर महेंद्र सिंह भी शामिल हुए

बसपा-सपा पर गरजे अठावले

यूपी में अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए अठावले ने 26 सितंबर से बहुजन कल्याण यात्रा भी निकाले जाने का ऐलान कर सपा, बीएसपी और कांग्रेस पार्टी के साथ ममता बनर्जी पर भी जमकर निशाना साधा है केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद आज सीएम योगी से मुलाकात कर यूपी के मुस्लिम-दलित बहुल क्षेत्रों में बीएसपी को टक्कर देने के लिए RPI के प्रत्याशियों को भी चुनाव लड़ाने की मांग की है इस दौरान राम दास अठावले ने बीएसपी के जनाधार में लगातार कमी आने की बात कहते हुए जहां अब अपने बलबूते पर मायावती को सत्ता में न आ पाने की बात कही, तो वही सपा और कांग्रेस पार्टी द्वारा भी उत्तर प्रदेश में सरकार न बना पाने के साथ इस बार उत्तर प्रदेश में 325 की स्थान 375 सीटें आने का दावा किया