यूपी सरकार ने दिया इतने कंपनियों को सैनेटाइजर बनाने का लाइसेंस, पढ़े

यूपी सरकार ने दिया इतने कंपनियों को सैनेटाइजर बनाने का लाइसेंस, पढ़े

कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सैनेटाइजर (Sanitizer) का उत्पादन बढ़ाने के लक्ष्य से यूपी सरकार ने 55 कंपनियों को सैनेटाइजर बनाने का लाइसेंस (License) दे दिया है। 

इन कंपनियों में अब रोजाना करीब 70 हजार लीटर सैनेटाइजर का उत्पादन हो रहा है।  प्रदेश में अभी तक चार लाख 12 हजार लीटर सैनेटाइजर का उत्पादन हो चुका है, जिसमें से कुल दो लाख सात हजार लीटर सैनेटाइजर की मार्केट में आपूर्ति की जा चुकी है।

प्रदेश के आबकारी एवं चीनी, गन्ना विकास विभाग के प्रमुख सचिव संजय भुस रेड्डी ने सोमवार को बताया, ' कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण प्रदेश में आकस्मित सैनेटाइजर की मांग बढ़ गयी थी, इसलिये प्रदेश प्रशासन ने शराब कारखानों व अन्य कंपनियों को सैनेटाइजर बनाने का लाइसेंस देने का निर्णय किया ताकि आम जनता को ठीक व गुणवत्तापूर्ण सैनेटाइजर मिल सकें। '

 चार लाख 12 हजार लीटर सैनेटाइज का उत्पादन हुआ
उन्होंने बताया कि सरकार ने 55 कंपनियों को लाइसेंस दिया है जिसमें 22 चीनी मिलें, नौ (शराब कारखाने) डिस्टलरीज, 22 सैनेटाइजर कंपनियां एवं दो अन्य कंपनियां हैं।   इन सभी 55 कंपनियों में सैनेटाइजर का उत्पादन पिछले 15 दिन से प्रारम्भ हो चुका है व आज तक चार लाख 12 हजार लीटर सैनेटाइजर का उत्पादन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अभी तक कुल दो लाख सात हजार लीटर सैनेटाइजर का उत्पादन कर उसे मार्केट में उपलब्ध कराया जा चुका है।  अधिकारी ने बोला कि प्रदेश में सैनेटाइजर की कमी किसी भी हालत में नहीं होने दी जायेगी। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिये चिकित्सक लोगों को बार-बार हाथों को साबुन से धोने या सैनेटाइजर का प्रयोग करने की सलाह दे रहे हैं।

66 करोड़ ट्रिपल लेयर वाले स्पेशल मास्क बनाने का आदेश
बता दें कि बीते 4 अप्रैल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 66 करोड़ ट्रिपल लेयर वाले स्पेशल मास्क बनाने का आदेश जारी किया था। आदेश के अनुसार, इन मास्कों का निर्णाम खादी के कपड़े से होगा, जिसे असानी से धोने के बाद दोबारा भी उपयोग किया जा सकता है। खास बात यह है कि ये मास्क गरीबों को मुफ्त में दिया जाएगा। साथ ही अन्य लोगों के लिए इसे छोटी मूल्य पर बेचा जाएगा। जानकारी के मुताबिक, प्रदेश के हर नागरिक को दो-दो मास्क मिलेंगे। यदि लॉकडाउन खत्म होता है तो भी एपेडमिक एक्ट के तहत सबको मास्क पहनना ही होगा। सीएम योगी के आदेश के तहत बिना मास्क के घर के बाहर निकलने की बिल्कुल अनुमति नहीं होगी।