योगी सरकार की कैब‍िनेट बैठक के पांच अहम फैसले

योगी सरकार की कैब‍िनेट बैठक के पांच अहम फैसले

योगी सरकार वर्ष 1970 में पूर्वी पाकिस्तान से उत्तर प्रदेश आए 63 हि‍ंदू बंगाली परिवारों का नए सिरे से पुनर्वास करेगी। उन्हें खेती के लिए दो-दो एकड़ और घर बनाने को 200 वर्ग मीटर जमीन कानपुर देहात में दी जाएगी। मकान बनाने के लिए मुख्यमंत्री आवास योजना से 1.20 लाख रुपये भी दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने बुधवार को इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। यहां देखें पूरी खबर : पाकिस्तान से आए 63 हि‍ंदू बंगाली परिवारों को यूपी में मिलेगी जमीन

सेवाकाल के दौरान दिवंगत हुए राज्य कर्मचारी की विवाहित पुत्री भी अब अनुकंपा आधारित नियुक्ति के लिए योग्य मानी जाएगी और इसके लिए आवेदन कर सकेगी। अभी तक उन्हें यह सुविधा नहीं हासिल थी। इसके लिए राज्य सरकार ने 'उत्तर प्रदेश सेवाकाल में मृत सरकारी सेवकों के आश्रितों की भर्ती नियमावली' में बारहवें संशोधन को मंजूरी देते हुए मृतक कर्मचारी के कुटुंब की परिभाषा में विवाहित पुत्री को भी शामिल करने का फैसला किया है। कार्मिक विभाग के इस प्रस्ताव को बुधवार को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन मंजूरी दे दी गई है। यहां देखें पूरी खबर : अब विवाहित पुत्री को भी मिल सकेगी अनुकंपा नौकरी

राज्य सरकार की ओर से अधिसूचित किये जाने वाले करियर सेंटर बेरोजगारों और रोजगार पाने के इच्छुक लोगों को निजी क्षेत्र में रोजगार दिलाने का माध्यम बनेंगे। निजी क्षेत्र में जो रिक्तियां निकलेंगी, उन्हें इसकी सूचना अनिवार्य रूप से अधिसूचित करियर सेंटर्स को देनी होगी। करियर सेंटर के पास रोजगार प्राप्त करने के इच्छुक व्यक्तियों का डाटा होगा। वह ऐसे लोगों की काउंसिलिंग और उनका मार्गदर्शन कर उन्हें उनकी शैक्षिक योग्यता के अनुसार रोजगार मेलों के जरिये उन्हें नौकरियां दिलाने का माध्यम बनेंगे। यहां देखें पूरी खबर : यूपी में करियर सेंटर दिलाएंगे निजी क्षेत्र में नौकरियां 

उत्तर प्रदेश के सभी गन्ना किसानों को इसी पेराई सत्र से गन्ना का बढ़ा मूल्य मिलेगा। उत्तर प्रदेश की कैबिनेट ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 28 सितंबर की गन्ना मूल्य में बढ़ोतरी की घोषणा पर अपनी मुहर लगा दी है। यहां देखें पूरी खबर : गन्ना किसानों को इसी पेराई सत्र से मिलेगा बढ़ा मूल्य 

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पात्र गृहस्थी व अंत्योदय कार्ड धारकों को मार्च 2022 तक निश्शुल्क राशन देगी। सरकार गेहूं और चावल के साथ ही एक किलो चना, एक लीटर खाद्य तेल व एक किलो आयोडाइज्ड नमक भी प्रदान करेगी। राशन दिसंबर माह से मिलना शुरू हो जाएगा। योगी कैबिनेट ने बुधवार को इस महत्वपूर्ण प्रस्ताव पर मुहर लगा दी।


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।