परिषदीय स्कूलो में जल्द ही नयी किताबे किया जाएगा वितरित

परिषदीय स्कूलो में जल्द ही नयी किताबे  किया जाएगा वितरित

परिषदीय स्कूलो में पुरानी पुस्तकों से पढ़ रहे बच्चो को जल्द ही नयी किताबे वितरित किया जाएगा. जिले में परिषदीय विद्यालयों में बच्चो को देने के लिए करीब एक लाख पुस्तक की पहली खेप पहुच चुकी है, जिसमे कक्षा चार और पांच की पुस्तक है. शीघ्र ही जिलाधिकारी द्वारा गठित टीम द्वारा पुस्तकों के सत्यापन के बाद पहले बीआरसी कार्यालय. इसके बाद संबंधित विद्यालयों को भेज दी जाएंगी.

नए शिक्षा सत्र में बच्चे पुरानी पुस्तक से पढ़ रहे बच्चे

नया शिक्षा सत्र अप्रैल महीनें से प्रारम्भ हो गया, लेकिन परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं पुरानी पुस्तक से शिक्षा ग्रहण कर रहे है. बच्चो को ग्रीष्मावकाश खत्म होने के बाद भी नयी पुस्तकें नहीं मिल सकी, जिससे जिन बच्चो के पास पुस्तक नही है, उन्ही पढाई में परेशानी होती है. बीएसए कार्यालय से बताया गया था कि बच्चो को जुलाई माह के अंत तक पुस्तक मिल जाएगा, लेकिन अभी तक मिल नही पायी. वही अब जिले में कक्षा चार और पांच के एक लाख पुस्तक पंहुच गयी है, जिसमे कक्षा चार की पर्यावरण, स्प्रिंग और अंक जगत, कक्षा पांच की प्रकृति, गणित ज्ञान और वर्तिका शामिल है. इन सभी पुस्तकों के आ जाने के बाद आशा है कि बहुत जल्द बच्चों तक पुस्तक पंहुच जाएगी.

जिले के 1582 परिषदीय विद्यालयों में 2 लाख 15 हजार बच्चे करते है पढ़ाई

जिले के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में कुल 1582 परिषदीय विद्यालय संचालित हैं. इसमें दो लाख 15 हजार छात्र-छात्राएं शिक्षा हासिल कर रहे हैं. इन विद्यार्थियों के लिए राहत की समाचार है कि इन्हें जल्द नयी पुस्तकों से पढ़ने को मिलेगा.

सत्यापन के बाद भेजी जाएंगी पुस्तकें

बीएसए कार्यालय के डीपी सिंह ने बताया कि पुस्तकों के आने का सिलसिला प्रारम्भ हो गया है. बुधवार को लगभग एक लाख पुस्तकें आईं हैं. इन पुस्तकों का जिलाधिकारी द्वारा गठित टीम सत्यापन करेगी. इसके बाद पुस्तकों को सभी बीआरसी कार्यालयों पर भेजा जाएगा, जिसके बाद उन्हें संबंधित विद्यालयों में पहुंचाया दिया जाएगा.