12 एकड़ के मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे CM योगी

12 एकड़ के मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे CM योगी

आगामी 22 सितंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के धौलाना विधानसभा क्षेत्र पहुंचने की संभावना है, जिसके चलते प्रशासनिक अमला तैयारियों में जुट गया है। इसको लेकर बुधवार को जिलाधिकारी अनुज सिंह ने धौलाना रोड पर 12 एकड़ के मैदान का चयन किया है, जहां मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर उतरने के साथ ही वह जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

22 सितंबर की सुबह मुख्यमंत्री दादरी के मिहिर भोज पोस्ट ग्रेजुएट कालेज में गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। इसके बाद उनका धौलाना आने का संभावित कार्यक्रम है। मुख्यमंत्री के संभावित कार्यक्रम के चलते बुधवार को जिलाधिकारी अनुज सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर, मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह, अपर जिलाधिकारी जयनाथ सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश मिश्र सहित विभिन्न विभागों से जुड़े अधिकारियों का काफिला सुबह लगभग साढ़े दस बजे हाईवे स्थित रामलीला मैदान पहुंचा। मैदान का निरीक्षण करने के उपरांत शुरुआती तौर पर जनसभा के लिए रामलीला मैदान को ही निर्धारित किया गया। हेलीपैड के लिए राजपूताना रेजीमेंट इंटर कालेज में स्थित मैदान का निरीक्षण किया गया।

कालेज के इस मैदान में केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की जनसभा हुई थी और दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेस-वे परियोजना के अंतर्गत तृतीय भाग डासना से हापुड़ बाईपास तक हुए चौड़ीकरण का लोकार्पण किया गया था, लेकिन अब मैदान में अधिक घास, जलभराव और सबसे बड़ी बात यह है कि हेलीकाप्टर से उतरने के बाद मुख्यमंत्री की गाड़ियों का काफिला जिस रास्ते से होकर रामलीला मैदान यानी जनसभा स्थल तक पहुंचेगा, वह रजनी विहार कालोनी से होकर गुजरता है। यह सब कुछ देखते हुए जिलाधिकारी ने स्थानीय अधिकारियों से अन्य जगह दिखाने की बात कही, जिस पर स्थानीय अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी धौलाना रोड स्थित एक मैदान पहुंचे। महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट के निकट स्थित यह मैदान लगभग 12 एकड़ में है। जनसभा और हेलीपैड के लिए यह मैदान जायज लगने पर जिलाधिकारी ने ऊर्जा निगम, नगर पालिका परिषद एवं अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को साफ-सफाई एवं तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। हालांकि, इसके बाद राणा डिग्री कालेज के सामने स्थित मैदान का भी जायजा लिया गया, लेकिन वह जगह कार्यक्रम को लेकर उचित नहीं समझी गई।

जिलाधिकारी अनुज सिंह ने बताया कि फिलहाल अभी तक मुख्यमंत्री का सरकारी तौर पर कार्यक्रम नहीं प्राप्त हुआ है, लेकिन व्यवस्थाओं को पूर्ण किया जा रहा है। जनसभा और हेलीपैड के लिए धौलाना रोड स्थित मैदान को चिह्नित किया गया है। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष उमेश राणा, ब्लाक प्रमुख धौलाना निशांत सिसोदिया, एनजीओ प्रकोष्ठ के क्षेत्रीय सहसंयोजक प्रवीण मित्तल आदि मौजूद रहे।

उधर, कलक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी अनुज सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर, मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह व जिलाधिकारी जयनाथ यादव ने मुख्यमंत्री के जनपद में आगमन को लेकर जनपदीय अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को निर्देशित करते हुए कहा कि एक लेआउट तैयार करा लें। साथ ही बैरिके¨डग, पार्किंग, साउंड सिस्टम इत्यादि की व्यवस्था समय से पूरी कर लें।

डीएम ने अधिशासी अधिकारी पिलखुवा व जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि नगर व ग्रामीण क्षेत्रों की साफ-सफाई बेहतर दिखनी चाहिए। आस-पास के गांव साफ-सुथरे रहें। जनपद के किसी भी स्थान पर जलभराव नहीं होना चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि एंबुलेंस एवं स्वास्थ्य संबंधी सभी आवश्यक सुविधाओं की तैयारी समय से पूर्व पूरी कर ली जाए।

उन्होंने सभी कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों से कहा कि शिलान्यास व लोकार्पण के लिए पत्थर इत्यादि तैयार करा लें, जिन विभागों के शिलान्यास व लोकार्पण होने हैं वह अपनी देखरेख में पत्थर तैयार कराएं। सांसद निधि व विधायक निधि के कार्य पर सांसद व विधायक का नाम अंकित कराया जाए। संबंधी अधिकारी लाभार्थियों की विधानसभा वार सूची तैयार कर कार्यक्रम स्थल पर बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी दूर से आने वाले लाभार्थियों के लिए बस की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। शहरी क्षेत्र में एसएसजी की महिलाएं उपस्थित रहें और लाभार्थियों को भी इकट्ठा करके लाएं।

डीएम ने समस्त उप जिलाधिकारियों व खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपस में समन्वय बनाकर ग्रामवार सूची तैयार करें। सभी विभाग के अधिकारी अपनी-अपनी परियोजनाओं के बारे में सूची बनाकर अर्थ एवं सांख्यिकी अधिकारी को उपलब्ध करा दें।


कानपुर में पूर्व सांसद स्वर्गीय चौधरी हरमोहन सिंह यादव की जन्म शताब्दी कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल हुए CM योगी

कानपुर में पूर्व सांसद स्वर्गीय चौधरी हरमोहन सिंह यादव की जन्म शताब्दी कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल हुए CM योगी

अपने पूर्वजों का सम्मान ना करने वालों की कोई पहचान नहीं होती। यह बात सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही। वह पूर्व सांसद स्वर्गीय चौधरी हरमोहन सिंह यादव की जन्म शताब्दी के मौके पर आयोजित समारोह को वर्चुअल रूप में संबोधित कर रहे थे।

मेहरबान सिंह का पुरवा में समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य सुखराम सिंह यादव व उनके बेटे मोहित यादव द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा थी कि वह कार्यक्रम में आएं लेकिन लखनऊ में जरूरी कार्य की वजह से नहीं आ सके। उन्होंने कहा कि चौधरी हरमोहन सिंह यादव ने अपना जीवन समाज और देश के लिए जिया। वह आजादी के समय समाज के वंचित, दबे कुचले लोगों की आवाज थे। जब लोग 1970 से 1980 के कालखंड की बात करते हैं तो लोगों के लिए आवाज उठाने वाले एक व्यक्ति का नाम सामने आता है जो चौधरी हरमोहन सिंह का है। उनका जीवन स्वयं या परिवार के लिए नहीं, पूरे समाज के लिए था। वह समाज के लिए समर्पित व्यक्ति थे और ऐसे व्यक्ति का जीवन ही दूसरों के लिए प्रेरणा और ऊर्जा का स्रोत बनता है। वहीं कार्यक्रम में मौजूद उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने चौधरी हरमोहन सिंह यादव अमर रहें के नारे के साथ अपना भाषण शुरू किया। उन्होंने कहा कि मोहित यादव उत्तर प्रदेश में भविष्य की राजनीति में जरूरी भूमिका का निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि यहां 14 प्रदेशों से यादव समाज के लोग आए हैं। जिस तरह से यह कार्यक्रम हो रहा है, उससे साफ है कि यह यादव परिवार अपने बुजुर्गों का सम्मान करना जानता है। उन्होंने कहा कि बहुत से लोग अपने बुजुर्गों का सम्मान नहीं करते और बहुत से लोगों को यह सिर्फ चुनाव के मौके पर समझ में आता है। उन्होंने कहा कि आज का असली समाजवाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। राम मनोहर लोहिया ने समाजवाद का जो सपना देखा था, उसमें गरीबों को राशन, आवास की सोच थी। आज प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री गरीबों को राशन और आवास मुहैया करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम परिवार के रूप में लोगों को जोड़ते हैं बाजार के रूप में नहीं जहां सबकुछ बिकता है। उन्होंने समारोह में आए सभी यादव महासभा के पदाधिकारियों से जुड़ कर राष्ट्र को मजबूत बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि यादव समाज की जो भी मांगें होंगी उन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाएगा।


भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि यह परिवार आज से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का परिवार हो गया है। अब इसे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि आज जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चीन की धरती पर उतरते हैं और वहां भारत माता की जय का नारा लगता है, यही तो चौधरी हरमोहन सिंह का सपना था। मोहित यादव की बढ़ाई करते हुए उन्होंने कहा कि उसमें जरा भी अहंकार नहीं है। इससे पहले समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य सुखराम सिंह ने कानपुर देहात में बन रहे मेडिकल कालेज का नाम अपने पिता चौधरी हरमोहन सिंह यादव के नाम पर करने की मांग की। इस पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने मुख्यमंत्री से बात कर इस पर निर्णय लेने का आश्वासन दिया। चौधरी सुखराम सिंह यादव ने अपने भाषण की शुरुआत भाजपा की जगह सपा का संबोधन करते हुए की लेकिन उन्होंने तुरंत अपनी गलती ठीक करते हुए कहा कि यह एक आदत सी बनी हुई है। उन्होंने कहा कि वह सपा से राज्यसभा सदस्य हैं और जब तक मुलायम सिंह यादव चाहेंगे सपा में रहेंगे लेकिन बेटा मोहित बालिग है, उसका रुझान स्वतंत्र देव सिंह ने बदल दिया है। वह बालिग है और जहां चाहे वहां जाए। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ जैसा मुख्यमंत्री उन्होंने अपने पूरे जीवन में नहीं देखा जिनका अपना कोई परिवार नहीं है लेकिन हर परिवार उनका अपना परिवार है। उन्होंने कहा कि आज राजनीति में कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें अपने ऊपर अहंकार है। उन्हें नहीं मालूम की राजनीति कैसे बनाई या बिगाड़ी जाती है। उन्होंने कहा कि इस परिवार ने जिसका साथ दिया उसे आगे बढ़ाया और जिससे नाराज हुआ उसे पीछे करने का भी काम किया। उन्होंने संजीत यादव हत्याकांड की जांच में तेजी लाने और हर्ष यादव की हत्या के मामले में 10 लाख और मुआवजा देने की मांग की। कार्यक्रम में सांसद देवेंद्र सिंह भोले, महापौर प्रमिला पांडेय, जिला पंचायत अध्यक्ष स्वप्निल वरुण, राज्यसभा में भाजपा के सचेतक डा. अशोक बाजपेई, विधान परिषद सदस्य अरुण पाठक, विवेक द्विवेदी, सुनील बजाज, डा. बीना आर्या रहीं।