टोक्यो ओलंपिक-2020 स्थगित करने के निर्णय का स्वागत किया किरण रिजिजू ने, पढ़े

टोक्यो ओलंपिक-2020 स्थगित करने के निर्णय का स्वागत किया  किरण रिजिजू  ने, पढ़े

केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने टोक्यो ओलंपिक-2020 स्थगित करने के अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के निर्णय का स्वागत किया है. आईओसी व टोक्यो ओलंपिक-2020 की आयोजन समिति ने मंगलवार को एक संयुक्त बयान में बोला कि आईओसी

अध्यक्ष थॉमस बाक व जापान के पीएम शिंजो आबे खेलों को 2020 के बाद, 2021 ग्रीष्मकाल में पुनर्निधारित करने को तैयार हो गए हैं. इस पर रिजिूज ने ट्वीट किया, “मैं आईओसी के टोक्यो ओलिम्पक-2020 को स्थगित करने का स्वागत करता हूं. यह सारे दुनिया के खिलाड़ियों के स्वास्थ के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण था. मैं अपने खिलाड़ियों से अपील करता हूं कि वे दिल छोटा न करें. हम बेहतर मौके बनाएंगे ताकि हिंदुस्तान 2021 में अपना सर्वश्रेष्ठ कर सके.

वहीं भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने पहले बोला था कि वह खेलों को स्थगित करने के निर्णय का स्वागत करती है व हिंदुस्तान में लागू लॉकडाउन के बाद खिलाड़ियों व सभी हितधारकों से बात करेगी. 

आईओए ने बयान में कहा, “आईओए आईओसी के निर्णय का स्वागत करती है. इससे पहले आईओसी व आयोजन समिति व सभी हितधारकों के साथ मिलकर चर्चा की गई थी. लॉकडाउन के समाप्त होने के बाद हम जल्दी खिलाड़ियों, महासंघों आदि लोगों के साथ मीटिंग करेंगे व रणनीति पर दोबारा कार्य करेंगे. स्थगित करने के निर्णय ने हमारे खिलाड़ियों के माथे पर से शिकन हटा दी है.” 

भारतीय पैरालम्पिक समिति ने ओलंपिक स्थगित करने का स्वागत किया 
भारतीय पैरालम्पिक समिति ने टोक्यो ओलंपिक स्थगित किए जाने का स्वागत करते हुए बोला कि इससे तैयारी को लेकर दुविधा में पड़े पैरा एथलीटों को बड़ी राहत मिलेगी । पीसीआई महासचिव गुरशरण सिंह ने कहा, ''पीसीआई अब हिंदुस्तान में लॉकडाउन समाप्त होने के बाद अगले कदम की बेहतर रणनीति बना सकेगी.''

अध्यक्ष दीपा मलिक ने पहले बोला था कि खिलाड़ियों की स्वास्थ्य उनकी अहमियत है । दुनिया चैम्पियन भालाफेंक खिलाड़ी संदीप चौधरी समेत शीर्ष पैरा एथलीटों ने भी इस निर्णय का स्वागत किया है । चौधरी ने कहा, ''हम पिछले चार वर्ष से तैयारी कर रहे थे लेकिन कोविड 19 के चलते आईओसी को यह निर्णय लेना पड़ा । इस विषम परिस्थितियों में तैयारी कर पाना कठिन है व इस सबसे बड़े खेल आयोजन मे अच्छी प्रतियोगिता महत्वपूर्ण है.''