श्रेयस अय्यर के पिता ने 4 साल से नहीं बदली वाट्सएप डीपी

श्रेयस अय्यर के पिता ने 4 साल से नहीं बदली वाट्सएप डीपी

श्रेयस अय्यर के पिता संतोष अय्यर ने एक बड़ा खुलासा उनके डेब्यू वाले दिन किया है। श्रेयस अय्यर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। वे वनडे और टी20 क्रिकेट 2017 से खेल रहे हैं, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उनको चार साल के बाद मौका मिला है। हालांकि, वे टेस्ट टीम का हिस्सा रह चुके हैं, लेकिन उनको खेलने का मौका नहीं मिला है। 

दरअसल, श्रेयस अय्यर के पिता ने वाट्सएप डीपी पिछले चार साल से नहीं बदली है, जिसमें श्रेयस अय्यर ने अपने हाथ में 2017 बार्डर-गावस्कर ट्राफी थाम रखी है। इसका कारण यह है कि वह हमेशा से अपने बेटे को टेस्ट क्रिकेट खेलते देखना चाहते थे। उनका सपना पूरा हुआ जब गुरुवार को श्रेयस ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। श्रेयस ने नाबाद अर्धशतक जमाकर अपने पहले टेस्ट को यादगार बना दिया।

पहले दिन का खेल समाप्त होने के बाद श्रेयस के पिता ने कहा, "यह डीपी मेरे दिल के करीब है। जब वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में खेल रहा था तब विराट कोहली के स्टैंडबाई के रूप में टीम में था। उस समय मैच जीतने के बाद उसे ट्राफी दी। उसने वह ट्राफी थाम रखी है और वह पल मेरे लिए अनमोल है। मैं इंतजार कर रहा था कि श्रेयस भारत के लिए टेस्ट खेलेगा। जब अजिंक्य रहाणे ने कहा कि वह खेल रहा है तो वह मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था। आइपीएल, वनडे या किसी भी प्रारूप से बढ़कर मेरे लिए टेस्ट क्रिकेट है।"

श्रेयस को टेस्ट कैप सुनील गावस्कर से मिली जो उनके पिता के लिए गर्व का पल था। उन्होंने कहा, "सुनील गावस्कर मेरे पसंदीदा क्रिकेटरों में से एक हैं और यह गर्व का पल था। मेरे पास अपनी खुशी जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं।" श्रेयस अय्यर भारत के लिए खेलने वाले 303वें खिलाड़ी हैं। 


गोलकीपर सविता मिली सकती है कप्तानी, चीन को मिला पेनाल्टी शूटआउट

गोलकीपर सविता मिली  सकती है कप्तानी,  चीन को मिला  पेनाल्टी शूटआउट

विस्तार अनुभवी गोलकीपर सविता पूनिया मस्कट में 21 से 28 जनवरी तक होने वाले महिला एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट में भारत की 18 सदस्यीय टीम की अगुवाई करेंगी। अनुभवी दीप ग्रेस एक्का को उप कप्तान नियुक्त किया गया है।  '


हॉकी इंडिया की ओर से बुधवार को घोषित 18 सदस्यीय टीम में 16 टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाली खिलाड़ी शामिल हैं। नियमित कप्तान रानी रामपाल बेंगलुरु में चोट से उबर रही हैं। इसलिए उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया है। भारत को जापान, मलयेशिया और सिंगापुर के साथ पूल ए में रखा गया है। 

भारतीय टीम अपने खिताब के बचाव का अभियान टूर्नामेंट के पहले दिन मलयेशिया के खिलाफ करेगी। प्रतियोगिता में शीर्ष चार में रहने वाली टीमें स्पेन और नीदरलैंड में होने वाले विश्व कप 2022 के लिए क्वालिफाई करेंगी।

21 से 28 जनवरी तक मस्कट में खेला जाएगा महिलाओं का यह टूर्नामेंट। 18 सदस्यीय टीम में चोट के चलते रानी को नहीं किया गया शामिल। 21 को मलयेशिया के खिलाफ अभियान का आगाज करेगी भारतीय टीम। दो बार भारतीय टीम ने अब (2004, 2017) तक जीती है ट्रॉफी। 2017 में हुए पिछले संस्करण में भारत ने चीन को पेनाल्टी शूटआउट में 5-4 से हराकर जीता था खिताब।

टीम 
गोलकीपर: सविता पूनिया (कप्तान), रजनी एतिमारपू। 
डिफेंडर: दीप ग्रेस एक्का (उप कप्तान), गुरजीत कौर, निक्की प्रधान, उदिता। 
मिडफील्डर: निशा, सुशीला चानू, मोनिका, नेहा, सलीमा टेटे, ज्योति, नवजोत कौर। 
फॉरवर्ड: नवनीत कौर, लालरेम्सियामी, वंदना कटारिया, मारियाना कुजूर, शर्मिला देवी।

भारत का कार्यक्रम
vs मलयेशिया 21 जनवरी
vs जापान 23 जनवरी
vs सिंगापुर 24 जनवरी
सेमीफाइनल 26 जनवरी
फाइनल 28 जनवरी