कोविड-19 के विरूद्ध जंग में विराट के बाद ऋषभ पंत भी कूदे

कोविड-19 के विरूद्ध जंग में विराट के बाद ऋषभ पंत भी कूदे

नई दिल्लीभारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत भी शनिवार को Covid-19 महामारी के विरूद्ध लड़ाई में शामिल हो गए और उन्होंने प्रभावित लोगों के लिए ‘बेड’ सहित ऑक्सीजन सिलेंडर तथा किट खरीदने के लिए अघोषित रकम देने का वादा किया. इस 23 वर्षीय खिलाड़ी ने बोला कि वह गुरुग्राम स्थित गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) हेमकुंट फाउंडेशन को यह रकम दान करेंगे.

पंत ने अपने ट्विटर पेज पर जारी बयान में कहा, ‘मैं रकम के जरिए हेमकुंट फाउंडेशन की सहायता कर रहा हूं जो देश भर में पीड़ितों को बेड सहित ऑक्सीजन सिलेंडर, कोविड राहत किट और अन्य महत्वपूर्ण सामान मौजूद कराएगा.’

पंत ने पिछले एक वर्ष से कोविड-19 वायरस से पीड़ित लोगों की सहायता के लिए लगातार कार्य कर रहे लोगों की भी सराहना की.

उन्होंने कहा, 'हालांकि इस बुरे दौर से पार पाने में हिंदुस्तान को हम सभी के सामूहिक प्रयासों की जरूरत है. मैंने किसी कार्य के लिए एक टीम के रूप में मिलकर कार्य करने की ताकत जैसा जरूरी पहलू खेल से सीखा.'


17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

 लंबे समय के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में भले ही भारतीय टीम की हालत सही नहीं है, लेकिन एक 17 साल की खिलाड़ी ने वो कर दिखाया है, जो महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक नहीं हुआ। इतना ही नहीं, 17 साल की ये खिलाड़ी अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रही थी।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं लेडी सहवाग के नाम से फेमस हो चुकीं शेफाली वर्मा की, जिन्होंने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। हालांकि, उन्होंने कोई छक्कों की झड़ी नहीं लगाई है, लेकिन उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर तीन छक्के जड़े, जो कि महिला टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है। एक मैच में अभी तक सिर्फ 1 या 2 छक्के ही खिलाड़ी जड़ पाते थे, लेकिन शेफाली वर्मा ने एक ही मैच में तीन छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया है।


दाएं हाथ की बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 2 छक्के जड़े, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने एक छक्का जड़ा। पहली पारी में उन्होंने 96 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 63 रन बनाए। हैरान करने वाली बात ये रही कि इनमें से 50 रन उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरे। शेफाली ने मेजबान टीम के खिलाफ 11 चौके और एक छक्का जड़ा। वहीं, पहली पारी में उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े थे।

बात अगर इस मुकाबले की करें तो मेजबान इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 121.2 ओवर में 9 विकेट खोकर 396 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 231 रन बनाकर ढेर हो गई। ऐसे में भारतीय टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा और दूसरी पारी में भी भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 35 ओवर में 2 विकेट खोकर 112 रन बना लिए हैं। भारत अभी भी 53 रनों से पिछड़ा हुआ है और मैच का चौथा दिन है।