विराट कोहली ने बना दिया बड़ा रिकॉर्ड, एम एस धौनी को पीछे छोड़कर हासिल की खास उपलब्धि

विराट कोहली ने बना दिया बड़ा रिकॉर्ड, एम एस धौनी को पीछे छोड़कर हासिल की खास उपलब्धि

आइसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैदान पर कदम रखते ही भारतीय कप्तान विराट कोहली ने एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। विराट कोहली अब भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं और उन्होंने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

विराट कोहली ने तोड़ा धौनी का रिकॉर्ड

टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी करने का रिकॉर्ड पहले एम एस धौनी के नाम पर था। धौनी ने भारत के लिए 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की थी, लेकिन विराट कोहली ने उन्हें पीछे छोड़ दिया और 61 टेस्ट मैचों में कप्तानी करते हुए वो धौनी से आगे निकल गए। न्यूजीलैंड के खिलाफ विराट कोहली बतौर टेस्ट कप्तान अपना 61वां मैच खेलने उतरे। 


टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी करे वाले टॉप 5 खिलाड़ी

- 61 मैच- विराट कोहली

- 60 मैच- MS Dhoni

- 49 मैच- सौरव गांगुली

- 47 मैच- सुनील गावस्कर / मो. अजहरुद्दीन 

- 40 मैच- नवाब पटौदी

महेंद्र सिंह धौनी ने भारत के लिए 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की थी जिसमें उन्होंने 27 मैचों में जीत हासिल की थी जबकि 18 मैच गंवाए थे और 15 मैच ड्रॉ रहे थे तो वहीं, विराट कोहली ने पिछले 60 टेस्ट मैचों में 36 में जीत हासिल की है जबकि 14 मैचों में टीम इंडिया को हार मिली है वहीं 10 मैच ड्रॉ रहे हैं। वहीं गांगुली ने 49 टेस्ट मैचों में कप्तानी की थी और 21 मैचों में जीत दर्ज की थी। गांगुली की कप्तानी में भारत को 13 मैचों में हार मिली थी जबकि 15 मुकाबले ड्रॉ रहे थे।


इस महिला एथलीट का चौंकाने वाला खुलासा! 'कंडोम की सहायता से जीता ओलंपिक मेडल'

इस महिला एथलीट का चौंकाने वाला खुलासा! 'कंडोम की सहायता से जीता ओलंपिक मेडल'

टोक्यो: ऑस्ट्रेलिया के लिए ओलंपिक में सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीतने का कारनामा कर चुकीं एथलीट जेसिका फॉक्स ने अपनी सफलता का दंग कर देने वाला राज बताया है जेसिका फॉक्स के अनुसार उन्होंने कंडोम की सहायता से ओलंपिक मेडल जीता था जेसिका फॉक्स की बात करें तो वह जापान में जारी टोक्यो ओलंपिक्स में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम कर चुकी हैं

मेडल जीतने के लिए किया कंडोम का इस्तेमाल 

जेसिका फॉक्स कैनो स्लेलम में इस्तेमाल होने वाले कायक बोट (कश्ती) को ठीक करने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करती हैं जेसिका फॉक्स ने बताया कि मुझे आशा है कि आप लोग शायद नहीं जानते होंगे कि एक कॉन्डम को कायक बोट्स को रिपेयर के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है '

वायरल हो रहा वीडियो 

जेसिका फॉक्स ने बताया कि ये कार्बन को बहुत ज्यादा स्मूद फिनिश देता है फॉक्स का ये वीडियो फैंस के बीच बहुत ज्यादा वायरल हो रहा है और इस घटना के बाद वे ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने में सफल रहीं 27 वर्ष की फॉक्स सिडनी से ताल्लुक रखती हैं और वे  टोक्यो ओलंपिक के कैनोन स्लेलम इवेंट में 106.73 टाइम के साथ तीसरे जगह पर रहीं

फॉक्स का ओलंपिक खेलों में रिकॉर्ड शानदार 

फॉक्स इस ओलंपिक्स में गोल्ड की आशा लगा रही थी यही कारण है कि वे इस इवेंट के समाप्त होने के बाद बहुत ज्यादा अधिक निराश नजर आई थीं हालांकि उनका एक इवेंट अभी बचा हुआ है हालांकि वे इस रेस में वे फास्टेस्ट थीं, लेकिन टाइम पेनल्टी के चलते उन्हें तीसरे जगह से संतोष करना पड़ा   बताते चलें कि फॉक्स तीन बार की कैनोन स्लेलम K1 वर्ल्ड चैंपियन रह चुकी हैं उन्होंने वर्ष 2012 में लंदन ओलंपिक्स में सिल्वर पदक हासिल किया था   इसके अतिरिक्त वे वर्ष 2016 में हुए रियो ओलंपिक्स में ब्रॉन्ज जीतने में सफल रही थीं