ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर व इंग्लैंड के एलिस्टेयर कुक को किया बतौर ओपनर शामिल

ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर व इंग्लैंड के एलिस्टेयर कुक को  किया बतौर ओपनर शामिल

भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली अब उस मकाम पर हैं, जो राष्ट्रों से परे है। उनके प्रशंसक हिंदुस्तान ही नहीं, दुनियाभर में फैले हुए हैं। सिर्फ साथी खिलाड़ी नहीं, विरोधी टीम भी उनका सम्मान करती है। इसी कड़ी मेंकी उपलब्धियों में ताज जुड़ गया है। अब उन्हें ने अपनी टेस्ट टीम का कैप्टन बनाया है। इस टीम को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टेस्ट XI नाम दिया गया है।  

के नाम से गुमराह होने की आवश्यकता नहीं है। नाम से भले ही लगे कि यह ऑस्ट्रेलिया की टीम है, लेकिन ऐसा नहीं है। यह टीम दुनिया एकादश की तर्ज पर चुनी गई है व इसमें पांच राष्ट्रों के खिलाड़ियों को स्थान मिली है। यह भी बता दें कि यह इस दशक की टीम है। यानी, 2010-19 के बीच खेलने वाले खिलाड़ी ही इस टीम में शामिल किए गए हैं।  

विराट कोहली को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टेस्ट इलेवन टीम का कैप्टन बनाया गया है। लेकिन उनका पसंदीदा नंबर-4 का बैटिंग ऑर्डर बदल दिया गया है। इस नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ को स्थान दी गई है। स्मिथ ऑस्ट्रेलिया के लिए नंबर-4 पर ही बैटिंग करते हैं।  

टीम की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर व इंग्लैंड के एलिस्टेयर कुक को बतौर ओपनर शामिल किया गया है। तीसरे नंबर पर न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन को स्थान दी गई है। इसके बाद स्टीव स्मिथ व विराट कोहली का नंबर आता है। कोहली को पांचवें व एबी डिविलियर्स को छठे नंबर पर बल्लेबाजी का जिम्मा सौंपा गया है। दक्षिण अफ्रीका के डिविलियर्स को टीम में बतौर विकेटकीपर शामिल किया गया है। 

इंग्लैंड के बेन स्टोक्स क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टेस्ट XI में बतौर ऑलराउंडर शामिल किए गए हैं। यानी, बल्लेबाजी क्रम में नंबर-7 की स्थान मिली है। इसके बाद गेंदबाजों का नंबर आता है। दक्षिण अफ्रीका के डेल स्टेन व इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड, जेम्स  एंडरसन को तेज गेंदबाजी का जिम्मा सौंपा गया है। ऑस्ट्रेलिया के नाथन लॉयन को स्पिन अटैक की जिम्मेदारी दी गई है।  

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टेस्ट XI: एलिस्टेयर कुक, डेविड वॉर्नर, केन विलियम्सन, स्टीव स्मिथ, विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, बेन स्टोक्स, स्टुअर्ट ब्रॉड, नाथन लॉयन, जेम्स एंडरसन, डेल स्टेन। (पाकिस्तान, श्रीलंका, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश, जिम्बाब्वे, अफगानिस्तान व आयरलैंड के खिलाड़ी इस टीम में स्थान नहीं बना सके हैं।