आईपीएल 2021: बाकी मैचों की मेजबानी के लिए श्रीलंका ने आगे बढ़ाए कदम, कहा...

आईपीएल 2021: बाकी मैचों की मेजबानी के लिए श्रीलंका ने आगे बढ़ाए कदम, कहा...

आईपीएल में कोविड-19 वायरस के पैर पसारने के बाद इसके बाकी के मैचों को रद्द करने का निर्णय लिया गया था, जिसके बाद कई राष्ट्रों ने अपने यहां बचे हुए सीजन के मैचों को खेलने का प्रस्ताव रखा. हाल ही में हिंदुस्तान के पड़ोसी देश श्रीलंका ने भी आईपीएल 2021 के बाकी सभी मैचों के लिए मेजबानी करने का प्रस्ताव हिंदुस्तान के सामने रखा है. 

श्रीलंका ने मेजबानी का रखा प्रस्ताव
बता दें कि ये आईपीएल का 14वां सीजन था, जिसे कोविड-19 वायरस की वजह से आधे में ही रद्द करना पड़ा. बीसीसीआई के बायो बबल की व्यवस्था के बाद भी कोविड-19 का संक्रमण आईपीएल तक पहुंच ही गया. श्रीलंका क्रिकेट की मैनेजिंग समिति के प्रमुख अर्जुन डे सिल्वा ने बोला कि हम हमारे यहां शेष आईपीएल सीजन की मेजबानी करना चाहते हैं. 

यूएई है बीसीसीआई की पहली पसंद
उन्होंने सितंबर महीने के लिए इस प्रस्ताव को आगे बढ़ाया है. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो बीसीसीआई की टॉप च्वाइस में संयुक्त अरब अमीरात का नाम शामिल है, यानी बीसीसीआई सितंबर में यूएई में आईपीएल के शेष सीजन को पूरा करने पर विचार कर रहा है. 

इस पर डी सिल्वा का बोलना है कि हां, हमने सुना है कि बीसीसीआई की पहली पसंद यूएई है लेकिन सभी कारणों के लिए श्रीलंका को अनदेखा नहीं किया जा सकता. उन्होंने आगे बोला कि हम जुलाई-अगस्त में लंका प्रीमियर लीग के आयोजन की योजना बना रहे हैं और सितंबर में आईपीएल 2021 के सीजन के लिए मैदान तैयार हो जाएंगे. 

मैच नहीं हुए तो बीसीसीआई को होगा 2,500 करोड़ का नुकसान
इधर बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगूली का बोलना है कि यदि आईपीएल 2021 के बचे हुए मैच नहीं होते हैं तो इससे बीसीसीआई के 2,500 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. उन्होंने बोला कि शुरुआती अनुमान के अनुसार 2,500 करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ सकता है.


17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

 लंबे समय के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में भले ही भारतीय टीम की हालत सही नहीं है, लेकिन एक 17 साल की खिलाड़ी ने वो कर दिखाया है, जो महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक नहीं हुआ। इतना ही नहीं, 17 साल की ये खिलाड़ी अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रही थी।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं लेडी सहवाग के नाम से फेमस हो चुकीं शेफाली वर्मा की, जिन्होंने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। हालांकि, उन्होंने कोई छक्कों की झड़ी नहीं लगाई है, लेकिन उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर तीन छक्के जड़े, जो कि महिला टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है। एक मैच में अभी तक सिर्फ 1 या 2 छक्के ही खिलाड़ी जड़ पाते थे, लेकिन शेफाली वर्मा ने एक ही मैच में तीन छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया है।


दाएं हाथ की बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 2 छक्के जड़े, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने एक छक्का जड़ा। पहली पारी में उन्होंने 96 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 63 रन बनाए। हैरान करने वाली बात ये रही कि इनमें से 50 रन उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरे। शेफाली ने मेजबान टीम के खिलाफ 11 चौके और एक छक्का जड़ा। वहीं, पहली पारी में उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े थे।

बात अगर इस मुकाबले की करें तो मेजबान इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 121.2 ओवर में 9 विकेट खोकर 396 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 231 रन बनाकर ढेर हो गई। ऐसे में भारतीय टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा और दूसरी पारी में भी भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 35 ओवर में 2 विकेट खोकर 112 रन बना लिए हैं। भारत अभी भी 53 रनों से पिछड़ा हुआ है और मैच का चौथा दिन है।