इंग्लैंड जाने से पहले हिंदुस्तान में ही 8 दिन क्वारंटीन रहेगी टीम इंडिया

इंग्लैंड जाने से पहले हिंदुस्तान में ही 8 दिन क्वारंटीन रहेगी टीम इंडिया

नई दिल्लीभारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले और इंग्लैंड के विरूद्ध टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान किया है. न्यूजीलैंड के विरूद्ध खिताबी मुकाबला और इंग्लैंड के विरूद्ध 5 मैचों की टेस्ट सीरीज कड़े बायो बबल में खेला जाएगा. इसकी आरंभ एक तरह से हिंदुस्तान में ही हो जाएगी. दरअसल, दौरे पर रवाना होने से पहले टीम इंडिया 8 दिन क्वारंटीन रहेगी.

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, बीसीसीआई के एक ऑफिसर ने बताया- विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया 25 मई को बायो बबल में एंट्री करेगी. स्वदेश में 8 दिन क्वारंटीन रहने के बाद इंग्लैंड के लिए रवाना होगी. इस दौरान खिलाड़ियों पर पूरा कंट्रोल होगा और उन्हें प्रोटोकॉल अनुसरण करने होंगे. टीम 2 जून को रवाना होगी और इंग्लैंड पहुंचकर 10 दिनों का दूसरा क्वारंटीन पीरियड पूरा करेगी. इस 3 महीने के लंबे दौरे पर खिलाड़ियों को फैमिली साथ रखने की इजाजत है.




टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल साउथैम्पटन में 18 से 22 जून तक होगा और इसके बाद 4 अगस्त से 14 सितम्बर के बीच पांच मैचो की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. टीम इंडिया में नियमित 20 खिलाड़ियों के अतिरिक्त चार खिलाड़ियों को स्टैंडबाई के रूप में टीम में रखा गया है.

पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला 4 से 8 अगस्त तक नॉटिंघम में होगा. इसके बाद दूसरा टेस्ट 12 से 16 अगस्त तक लंदन के लॉर्ड्स मैदान पर होगा. तीसरा टेस्ट मैच 25 से 29 अगस्त तक लीड्स और चौथा 2 से 6 सितंबर तक लंदन के द ओवल मैदान पर होगा. सीरीज का पांचवां टेस्ट मैच 10 सितम्बर तक मैनचेस्टर में खेला जाएगा.





टीम
रोहित शर्मा, शुभमन गिल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर, उमेश यादव, केएल राहुल (फिटनेस क्लीयरेंस के बाद), ऋद्धिमान साहा (विकेट कीपर, फिटनेस क्लीयरेंस के बाद)


17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

 लंबे समय के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में भले ही भारतीय टीम की हालत सही नहीं है, लेकिन एक 17 साल की खिलाड़ी ने वो कर दिखाया है, जो महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक नहीं हुआ। इतना ही नहीं, 17 साल की ये खिलाड़ी अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रही थी।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं लेडी सहवाग के नाम से फेमस हो चुकीं शेफाली वर्मा की, जिन्होंने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। हालांकि, उन्होंने कोई छक्कों की झड़ी नहीं लगाई है, लेकिन उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर तीन छक्के जड़े, जो कि महिला टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है। एक मैच में अभी तक सिर्फ 1 या 2 छक्के ही खिलाड़ी जड़ पाते थे, लेकिन शेफाली वर्मा ने एक ही मैच में तीन छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया है।


दाएं हाथ की बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 2 छक्के जड़े, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने एक छक्का जड़ा। पहली पारी में उन्होंने 96 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 63 रन बनाए। हैरान करने वाली बात ये रही कि इनमें से 50 रन उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरे। शेफाली ने मेजबान टीम के खिलाफ 11 चौके और एक छक्का जड़ा। वहीं, पहली पारी में उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े थे।

बात अगर इस मुकाबले की करें तो मेजबान इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 121.2 ओवर में 9 विकेट खोकर 396 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 231 रन बनाकर ढेर हो गई। ऐसे में भारतीय टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा और दूसरी पारी में भी भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 35 ओवर में 2 विकेट खोकर 112 रन बना लिए हैं। भारत अभी भी 53 रनों से पिछड़ा हुआ है और मैच का चौथा दिन है।