हिंदुस्तान व ऑस्ट्रेलिया की जूनियर टीमें आईसीसी अंडर-19 मे दोनों टीमे होंगी आमने सामने

हिंदुस्तान व ऑस्ट्रेलिया की जूनियर टीमें आईसीसी अंडर-19 मे दोनों टीमे होंगी आमने सामने

हिंदुस्तान व ऑस्ट्रेलिया की जूनियर टीमें आईसीसी अंडर-19 दुनिया कप (ICC Under-19 World Cup) के क्वार्टर फाइनल में मंगलवार को यहां जब आमने सामने होंगी तो न सिर्फ रोमांचक मुकाबले की आसार बनेगी बल्कि कलाई के स्पिनरों रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) व तनवीर सांघा (Tanveer Sangha) के बीच भी रोचक जंग देखने को मिलेगी।

सफेद गेंद की क्रिकेट में हाल के दिनों में कलाई के स्पिनरों ने अहम किरदार निभाई है व जूनियर क्रिकेट भी उससे अछूता नहीं है जहां बिश्नोई टूर्नामेंट के सबसे प्रभावशाली गेंदबाज साबित हुए हैं व वह ऑस्ट्रेलियाई टीम के विरूद्ध अपनी टीम का पलड़ा भारी रखने की प्रयास करेंगे।

विकेट लेने में बराबर हैं बिश्‍नोई व सांघा
बिश्नोई ने अब तक तीन मैचों में दस विकेट लिए हैं। इनमें न्यूजीलैंड के विरूद्ध 30 रन देकर चार विकेट लेने का शानदार प्रदर्शन भी शामिल है। इससे बिश्नोई ने साबित कर दिया कि आखिर आईपीएल नीलामी के दौरान किंग्स इलेवन पंजाब ने उन पर दो करोड़ रुपये क्यों खर्च किए थे। आंकड़ों पर गौर करें तो सांघा भी बिश्नोई से पीछे नहीं है व उन्होंने भी अब तक दस विकेट लिए हैं।

इसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 14 रन देकर पांच विकेट है जो उन्होंने नाईजीरिया के विरूद्ध किया था। लेकिन भारतीय मूल के इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने वेस्टइंडीज के विरूद्ध भी चार विकेट लिए थे व इंग्लैंड के विरूद्ध उन्होंने एक विकेट हासिल किया था।

7 वर्ष में हिंदुस्तान से 4 मैच पराजय चुका है ऑस्‍ट्रेलिया
मंगलवार को होने वाले मैच में कलाई के दोनों स्पिनर अपनी टीमों के लिये बहुत ज्यादा अहम साबित होंगे। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया जूनियर स्तर पर हिंदुस्तान के विरूद्ध अपने बेकार रिकॉर्ड में सुधार करना चाहेगा। साल 2013 के बाद अंडर-19 स्तर पर इन दोनों टीमों के बीच जो पांच मैच खेले गये उनमें से चार मैच हिंदुस्तान ने जीते जबकि एक मैच बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था।


दोनों टीमों की तुलना की जाए तो भारतीय टीम अपने प्रतिद्वंद्वी से बहुत ज्यादा आगे नजर आती है। उसके पास यशस्वी जायसवाल, उनके सलामी जोड़ीदार दिव्यांश सक्सेना व कैप्टन प्रियम गर्ग के रूप में उपयोगी बल्लेबाज हैं जिन्होंने अब तक अपने कौशल की अच्छी छाप छोड़ी है।

भारत के पास गजब के गेंदबाज
गेंदबाजी विभाग में यूपी के कार्तिक त्यागी व बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आकाश सिंह ने उपयोगी जोड़ी बनाई है। बाएं हाथ के स्पिनर अथर्व अंकोलेकर ने भी न्यूजीलैंड के विरूद्ध शानदार वापसी करके अपनी काबिलियत साबित की थी। क्षेत्ररक्षण के दौरान उनके दाएं हाथ की उंगली चोटिल हो गई थी जो उनकी राह में रोड़ा बन सकती है। ऑस्ट्रेलिया के पास कैप्टन मैकेंजी हार्वे (ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर इयान हार्वे के भतीजे) अच्छे बल्लेबाज है। उन्होंने इंग्लैंड के विरूद्ध अंतिम लीग मैच में 65 रन की शानदार पारी खेली थी। गेंदबाजी में कोनोर सुली हैं जो एक उपयोगी गेंदबाज होने के साथ बल्लेबाजी में भी सहयोग देते हैं।