पत्नी ने खोले कई राज, ओवर में 30 रन पड़े तो फोन पर रो पड़े थे इशांत शर्मा

पत्नी ने खोले कई राज, ओवर में 30 रन पड़े तो फोन पर रो पड़े थे इशांत शर्मा

25 मई 2007 को ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने वाले इशांत शर्मा 13 साल लंबे करियर के बाद 100वां टेस्ट खेलने जा रहे हैं। दिल्ली के रहने वाले इशांत ने नौ दिसंबर 2016 को वाराणसी में जन्मी बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रतिमा सिंह से शादी की। इसे संयोग ही कहेंगे पिछले तीन-चार साल में इशांत का प्रदर्शन बहुत शानदार रहा है और दिग्गज कहते हैं कि यह एक गेंदबाज के तौर पर यह उनका सर्वोच्च समय है। पति का 100वां टेस्ट देखने यहां पहुंचीं प्रतिमा से जब पूछा गया कि क्या आपकी वजह से ऐसा हुआ है तो उन्होंने हंसते हुए कहा कि लेडी लक नहीं, हार्ड वर्क (कठिन परिश्रम) के कारण वह यहां तक पहुंचे हैं। हर चीज का क्रेडिट लड़कियों को नहीं मिलना चाहिए।

ट्रेनिंग नहीं छोड़ी

भारतीय बास्केटबॉल टीम की पूर्व सदस्य प्रतिमा ने कहा कि इशांत की जिंदगी में जो कठिन परिश्रम, निरंतरता और अनुशासन है, उसकी वजह से ही वह यहां तक पहुंचे हैं। मुझे क्रिकेट के बारे में उतना नहीं पता, लेकिन सब कहते हैं कि एक तेज गेंदबाज के तौर पर 100 टेस्ट खेलना बहुत कठिन काम है। अगर आप अनुशासन में नहीं रहेंगे तो शरीर जवाब दे जाएगा। मैं उन्हें 2011 से जानती हूं। मैंने 10 सालों में कभी भी नहीं देखा कि उन्होंने थकावट, यात्रा, व्यक्तिगत कारण या प्रोफेशनल कारण या किसी और वजह से ट्रेनिंग छोड़ी हो। एक खिलाड़ी के तौर पर मुझे भी पता है कि ट्रेनिंग कितनी महत्वपूर्ण है। मैं भी इसी तरह की खिलाड़ी थी, लेकिन 10 साल में क्रिकेट खेलते रहना और कभी ट्रेनिंग मिस नहीं करना एक रिकॉर्ड है। इस दौरान जिंदगी में बहुत उतार-चढ़ाव आए। कभी आप जो सोचते हो वह नहीं होता है, वह कितना भी निराश हों नाराज हों, लेकिन ट्रेनिंग नहीं छोड़ते हैं।

पूरी तैयारी है

प्रतिमा ने बताया कि इशांत की खुशी में शामिल होने के लिए 15-16 लोग यहां आ रहे हैं। इशांत के मम्मी-पापा के अलावा प्रतिमा की बहन आकांक्षा और बहुत सारे दोस्त अहमदाबाद में बुधवार से शुरू होने वाले डे-नाइट टेस्ट में हौसलाअफजाई करने के लिए मौजूद रहेंगे। प्रतिमा ने हंसते हुए कहा कि अभी 15-16 लोगों के लिए मैच टिकट की व्यवस्था करनी है।

निजी रिकॉर्ड महत्वपूर्ण नहीं


प्रतिमा ने कहा कि जहां तक 100 टेस्ट की बात है तो इशांत के लिए यह कोई बड़ी बात नहीं है। वह कहते हैं कि 100 टेस्ट हों या 300 विकेट फर्क नहीं पड़ता, बस टीम जीतनी चाहिए, लेकिन एक दोस्त और पत्नी के तौर पर मैं कहूंगी कि ये बहुत बड़ी उपलब्धि है। टीम डिनर के दौरान सभी कोच आपस में बात कर रहे थे, इसके बाद नहीं पता कि कौन भारतीय तेज गेंदबाज 100 टेस्ट खेलेगा। हम दोनों में समानता है कि हम दोनों खिलाड़ी हैं।


आपस की बांडिंग पर प्रतिमा ने कहा कि हम दोनों खिलाड़ी हैं, इसलिए फिटनेस से लेकर डाइट तक बात होती है। हम दोनों को इस बारे में जानकारी है। हमारे यहां ऐसा नहीं है कि मैं पत्नी हूं तो घर का काम करूंगी और वह पति हैं तो बाहर का काम करेंगे। हम दोनों खिलाड़ी हैं तो बराबरी का माहौल है। बिना कहे भी एक-दूसरे की बात को समझ लेते हैं। एक-दूसरे को लेकर काफी समझ है।

टीम को लेकर भावुक हैं

जब प्रतिमा से पूछा गया कि इशांत को खेलते हुए देखना चाहती हैं तो उन्होंने कहा कि जब तक वह फिट रहें तब तक खेलते रहें। उन्हें खुशी मिलती है खेलने से और टीम के साथियों के साथ रहने से। हाल ही में उन्होंने कहा था कि जब मैं क्रिकेट छोड़ूंगा तो सबसे ज्यादा टीम और साथियों को मिस करूंगा। टीम के साथ रहना, बातें करना, साथियों के साथ मजाक करना याद आएगा। मैंने उनसे यही कहा कि जब तक खेल सकते हो खेलो, चाहे टीम इंडिया हो या घरेलू टीम। खिलाड़ी का जीवन बहुत किस्मत वालों को मिलता है। बहुत लंबा करियर नहीं होता है।


पहली बार जब फोन पर खूब रोए इशांत

क्रिकेटर पति को संभालने के सवाल पर प्रतिमा ने कहा कि इशांत वैसे तो चुपचाप रहते हैं और अपनी बातें ज्यादा किसी से नहीं बताते, लेकिन 2013 में वह मुझे फोन करके बहुत रोए थे। हम लोग उस समय डेट कर रहे थे। मोहाली में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मैच में जेम्स फॉकनर ने उनके एक ओवर में 30 रन मारे। उसके बाद वह पहली बार फोन पर बहुत रोए। मैंने उनसे यही कहा कि क्रिकेट को इतना सिर पर मत चढ़ाओ। यह बहुत बड़ी चीज है, लेकिन सिर्फ खेल है। जिस दिन आप यह सोच लोगे कि खेल में सबकुछ होता है तो आप इन चीजों से उबर जाओगे। मैं तो इस पर विश्वास करती हूं।


जब आप यह सोचना शुरू कर देते हो कि खेल में हारोगे, जीतोगे, चोट लगेगी, रिकवर होगे, दोबारा खेलोगे तो आप टूटोगे नहीं। खेल में पूरी जिंदगी दिख जाती है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी कई मसले हुए जब उन्हें मेरी जरूरत पड़ी। खासतौर पर जब मैच में ज्यादा पिटाई हो जाती है तो निराश हो जाते हैं। मैं कहती हूं कि जब तक जिंदगी है तब तक खेलोगे और तब तक यही चलता रहेगा। घर में क्रिकेट पर बातें होने के सवाल पर प्रतिमा ने कहा कि नहीं, हम घर में माहौल हल्का रखते हैं। जब तक इशांत क्रिकेट की बात नहीं करते तब तक मैं नहीं करती। मेरे घर में सब बास्केटबॉल के खिलाड़ी हैं, इसलिए मुझे पसंद नहीं है कि खेलने के बाद घर में खेल की बात हो। इशांत दोस्तों से भी तकलीफ नहीं बताते। उनके दोस्तों को भी मैं ही कहती हूं कि इशांत से बात कर लो।


बनारसी हो गए हैं शर्मा जी

शादी के बाद इशांत को बनारस खूब पसंद आने लगा है। प्रतिमा ने कहा कि बिलकुल वह बनारसी हो गए हैं। वह कहते हैं कि दुनिया में मुझे बनारस सबसे ज्यादा पसंद है। उन्होंने कहा कि उनसे बड़ा गुझिया और लौंगलता का दीवाना कोई मिलेगा नहीं। इस बार जब हम बनारस गए तो उन्होंने मेरी मम्मी से बोला कि मिठाई नहीं मंगाना क्योंकि ट्रेनिंग करनी है, शरीर पर फैट नहीं चढ़ाना है, लेकिन मम्मी कहां मानती हैं। मम्मी ने सामने गुझिया लाकर रख दी और वह एक साथ तीन गुझिया खा गए।


IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी

IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी

हाल ही में साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने पाकिस्तानी मीडिया को एक बयान दिया था, जिसमें इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल को लेकर विवादित बात कही गई थी। हालांकि, अब डेल स्टेन ने माफी मांग ली है और कहा है कि उनका बयान का मतलब किसी भी लीग का अपमान करना या किसी लीग से किसी लीग की तुलना करने का इरादा नहीं है।

96 आइपीएल मैच खेल चुके दाएं हाथ के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने ट्विटर पर लिखा, "आइपीएल मेरे करियर में कम अद्भुत नहीं है, साथ ही अन्य खिलाड़ी भी। मेरे शब्दों का उद्देश्य कभी भी अपमानजनक, निंदा करना या किसी भी लीग की तुलना करना नहीं था। सोशल मीडिया और उसके संदर्भ से बाहर के शब्द अक्सर ऐसा कर सकते हैं। मैं माफी मांगता हूं अगर इससे किसी को परेशान हुई है। बहुत सारा प्यार।"


तेज गेंदबाज ने कहा था कि कभी-कभी उस राशि पर जोर दिया जा सकता है, जिस राशि को एक खिलाड़ी आइपीएल में खरीदा जाता है और इसके परिणामस्वरूप क्रिकेट बैकसीट लेने के बाद समाप्त होता है। तेज गेंदबाज ने यह भी संकेत दिया था कि सबसे सफल लीग आइपीएल को छोड़कर अन्य लीगों में एक खिलाड़ी के रूप में उन्हें अधिक पुरस्कृत किया जाता है। स्टेन वर्तमान में चल रही पाकिस्तान सुपर लीग में क्वेटा ग्लैडिएटर्स के लिए खेल रहे हैं।


क्रिकेट पाकिस्तान ने डेल स्टेन के हवाले से लिखा था, "मैं कुछ समय की छुट्टी चाहता था। मैंने पाया कि इन अन्य लीगों में खेलना एक खिलाड़ी के रूप में थोड़ा अधिक फायदेमंद था। मुझे लगता है कि जब आप आइपीएल में जाते हैं, तो इतने बड़े स्क्वाड और इतने बड़े नाम होते हैं और शायद इस बात पर ज्यादा जोर दिया जाता है कि जितने पैसे खिलाड़ी कमाते हैं और सब कुछ वैसा ही होता है, इसलिए कभी-कभी, कहीं लाइन के नीचे, क्रिकेट भूल जाता है।"


Qubool Hai 2.0 Trailer: क्या परवान चढ़ेगी ज़ोया-असद की प्रेम कहानी? देखिए       इंदू की जवानी, साइलेंस और क़ुबूल है 2.0 समेत इस महीने आएंगी ये फ़िल्में और वेब सीरीज़       Dhamaka Teaser: कार्तिक आर्यन ने दी 'ब्रेकिंग न्यूज़', नेटफ्लिक्स पर करेंगे 'धमाका'       Tandav Web Series केस में अमेज़न प्राइम वीडियो ने पहली बार मांगी माफ़ी       Netfilx ने किया 40 से अधिक वेब सीरीज़, फ़िल्मों और शोज़ का एलान, कई सितारों की दस्तक       बताया- क्यों इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज को कराना चाहती है ड्रॉ, कप्तान जो रूट ने किया खुलासा!       IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी       मोटेरा की पिच को लेकर इंग्लैंड के दिग्गज ने कसा तंज, बोले...       प्रेस कॉन्फ्रेंस में टर्निंग पिच के सवाल पर भड़के विराट कोहली       फैंस के नंबर्स की तरफ मेरा ध्यान नहीं, एक अच्छा क्रिकेटर व इंसान बनना चाहता हूं : विराट कोहली       ट्रंप बनाएंगे अलग पार्टी! राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के दिए संकेत       रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...       असम दौरे पर प्रियंका गांधी, कामाख्या देवी मंदिर में की पूजा       इन राज्यों में 5 दिन होगी भारी बारिश, IMD ने जारी किया अलर्ट       पहला डोज लिया पीएम ने, वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू       इन राज्यों में बारिश का अलर्ट, जमकर बरसेंगे बादल       आखिर क्या होती है वीगन डाइट? आज़माने से पहले जानें नुकसान       सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें       कब्ज दूर करने से लेकर वजन घटाने तक में बेहद फायदेमंद है ये...       रहना चाहते हैं सेहतमंद तो अपने डाइट में इन चीज़ों को जरूर जोड़ें, जानें