ऐसी महान टेनिस खिलाड़ी, जिन्होंने कम उम्र में बनाए इतने खिताब

ऐसी महान टेनिस खिलाड़ी, जिन्होंने कम उम्र में बनाए इतने खिताब

नई दिल्ली : मैरी कैरोलिन पियर्स यह एक टेनिस खिलाड़ी हैं। जिन्होंने अपने खेल अभिनय से टीम प्रतियोगिताओं और ओलंपिक में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फ्रांस का प्रतिनिधित्व किया। वह कनाडा में एक अमेरिकी पिता और एक फ्रांसीसी परिवार में इनका जन्म हुआ। इनका जन्म 15 जनवरी 1975 में हुआ था। यह खिलाड़ी तीनों देशों की नागरिकता रखती है।

मैरी कैरोलिन पियर्स का टेनिस करियर
पियर्स ने चार ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं दो एकल में, एक युगल में और एक मिश्रित युगल में। वह छह ग्रैंड स्लैम एकल फाइनल में पहुंची। इन्होंने सबसे हाल ही में यूएस ओपन और 2005 में फ्रेंच ओपन में खेला है। उनके ग्रैंड स्लैम एकल खिताब 1995 ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2000 फ्रेंच ओपन में आए। आपको बता दें पियर्स अंतिम फ्रेंच खिलाड़ी, पुरुष या महिला, बाद का खिताब जीतने वाली हैं। उन्होंने साल 2000 में फ्रेंच ओपन में मार्टिना हिंगिस के साथ अपने साथी के रूप में युगल प्रतियोगिता जीती, और 2000 ऑस्ट्रेलियाई ओपन में एक अतिरिक्त ग्रैंड स्लैम महिला युगल फाइनल में पहुंची। जिसमें हिंगिस की भी भागीदारी थी।

चैंपियनशिप में मिक्स्ड डबल्स प्रतियोगिता जीती
उन्होंने 2005 विंबलडन चैंपियनशिप में मिक्स्ड डबल्स प्रतियोगिता भी जीती। जिसमें महेश भूपति ने भागीदारी की। पियर्स ने 18 डब्ल्यूटीए एकल खिताब और 10 डब्ल्यूटीए युगल खिताब जीते हैं। जिसमें पांच टीयर एकल इवेंट शामिल हैं। वह दो बार सीजन-समाप्त डब्ल्यूटीए टूर चैंपियनशिप के फाइनल में भी पहुंची। उन्हें 2019 में अंतर्राष्ट्रीय टेनिस हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था।

दस साल की उम्र में टेनिस खेलना किया शुरू
पियर्स ने दस साल की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया। टेनिस में पेश किए जाने के दो साल बाद 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के लिए और उन्हें देश में नंबर 2 पर रखा गया। अप्रैल 1989 में हिल्टन हेड में एक डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट में पियर्स सबसे युवा अमेरिकी खिलाड़ी 14 साल और 2 महीने की उम्र में पेशेवर दौरे पर पदार्पण करने वाली बनी। उनकी शारीरिकता और आक्रामक दृष्टिकोण के कारण, उनकी बॉलस्ट्राइकिंग की तुलना कैपरीटी से की गई और उन्होंने जल्दी से महिलाओं के सर्किट पर सबसे मुश्किल hitters में से एक होने के लिए एक प्रतिष्ठा प्राप्त की।

2006 पहला टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन
मैरी कैरोलिन पियर्स 2006 में प्रमुख खिताब जीतने के लिए एक सत्र में ऑफ सीज़न में कड़ी मेहनत की। वर्ष का पहला टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन था। उन्होंने पहले दौर में चेक गणराज्य की इवेता बेनेस्को से हारने से पहले इस दौर में ऑस्ट्रेलिया की निकोल प्रैट को हराया। हार ने उन्हें मार्टिना हिंगिस के साथ तीसरे दौर के मैच से वंचित कर दिया। पियर्स अपने अगले टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची, गाज़ डे फ्रांस इन पेरिस, जहां वह सीधे सेटों में हमवतन अमेली मर्समो से हार गई। फ्रेंच ओपन और विंबलडन से हटने के कारण पियर्स अगस्त तक फिर से नहीं खेल पाए।


न्यूजीलैंड के बल्लेबाज ने ठोके तूफानी 99 रन, आर अश्विन बोले...

न्यूजीलैंड के बल्लेबाज ने ठोके तूफानी 99 रन, आर अश्विन बोले...

अनुभवी भारतीय ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने सोमवार को एक बार फिर से अपना हास्य पक्ष दिखाया है, क्योंकि उन्होंने न्यूजीलैंड के बल्लेबाज डेवन कॉनवे पर जोरदार टिप्पणी की। हालांकि, डेवन कॉनवे पर आर अश्विन कोई मजाक नहीं किया, लेकिन उनकी तारीफ करते हुए उनको एक मजेदार बात कही है। दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ T20 इंटरनेशनल सीरीज के पहले मैच में डेवन कॉनवे ने एक तूफानी पारी खेली।

न्यूजीलैंड की टीम का स्कोर 19 रन पर तीन विकेट थे। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए कॉनवे ने 59 गेंदों में नाबाद 99 रन की तूफानी पारी खेली और टीम का स्कोर 184 पर पहुंचा दिया। हालांकि, वे 99 रन पर नाबाद रहे और अपने पहले शतक से चूक गए। 29 वर्षीय डेवन कॉनवे इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल 2021 के ऑक्शन में अनसोल्ड रहे। डेवन कॉनवे ने खुद को 50 लाख की बेस प्राइस में आइपीएल ऑक्शन में शामिल किया था।


उधर, आर अश्विन ने मजाकिया लहजे में कहा है कि आपने जो 99 रन की पारी खेली वो चार दिन लेट हो गई। आर अश्विन ने ट्वीट किया, "डेवन कॉनवे सिर्फ चार दिन लेट हैं, लेकिन क्या शानदार पारी रही।" आर अश्विन ने इसलिए भी डेवन कॉनवे को लेकर ये बात कही है, क्योंकि 18 फरवरी को ऑक्शन हुआ था और 22 फरवरी को उन्होंने दमदार पारी खेली। अश्विन का कहने का मतलब ये था कि अगर वे 18 फरवरी को भी इस पारी को खेलते तो उनको कोई खरीदार मिल जाता।


न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी, लेकिन टीम को शुरुआती झटके लगे। बावजूद इसके टीम ने 184 रन का स्कोर खड़ा किया। उधर, 185 रन के जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 17.3 ओवर में 131 रन पर ढेर हो गई और मुकाबला 53 रन से हार गई। ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान आरोन फिंच समेत कई दिग्गज खिलाड़ी असफल रहे और यही कंगारू टीम की हार का कारण बना।


सुरेश रैना ने टी20 मैच में 39 गेंदों पर बनाए नाबाद 104 रन       न्यूजीलैंड के बल्लेबाज ने ठोके तूफानी 99 रन, आर अश्विन बोले...       इन खिलाड़ियों ने अब तक कमाए 100 करोड़ से ज्यादा, पहले नंबर पर ये खिलाड़ी       इस खिलाड़ी को मिली जगह, पिंक बॉल टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम में हुआ बदलाव       पत्नी ने खोले कई राज, ओवर में 30 रन पड़े तो फोन पर रो पड़े थे इशांत शर्मा       बुजुर्गों का टीकाकरण इस दिन, फ्री वैक्सीन सबको नहीं       कश्मीर दहलाने की साजिश, सुरक्षाबलों ने की नाकाम       बीच सड़क लाशों के ढेर, ट्रक का टायर फटा, जोरदार टक्कर में कई मौतें       कमलनाथ समेत कई कांग्रेस नेता थे सवार, झटका खाकर 10 फुट नीचे गिरी लिफ्ट       कांग्रेस सरकार का गिरना तय, आज फ्लोर टेस्ट में फैसला       गर्मियों में लू से बचने के साथ ही पाचन तंत्र बेहतर करने के लिए कैरी का करें सेवन       अपनी त्वचा के हिसाब से आपको कौन सा साबुन यूज करना चाहिए       घुटनों और जोड़ों में दर्द से राहत दिलाएंगी ये एक्सरसाइजेस       क्या कोरोना के खौफ के बीच स्वीमिंग पूल में तैरना उपयुक्त है, जानें       Harvest Gold ब्रेड के पैकेट से अब नहीं कर सकता कोई छेड़छाड़       अगर आपको भी चाहिए फूल सी सुंदर बीवी तो अपनाएं इलायची के टोटके       हस्तशास्त्र के अनुसार हाथ देखकर जानें कितने होने वाली है आपके बच्चों की संख्या       सबसे ज्यादा बेवफा होते हैं इन राशियों के लोग, विश्वास करना है मुश्किल       अनानास के सेवन से मजबूत होता है इम्यून सिस्टम       गर्मियों में फायदेमंद है पुदीने का सेवन, इन बिमारियों में मिलता है लाभ