इस कारण होती है प्रेग्नेंसी में बालों के झड़ने की समस्या, अपनाए ये टिप्स मिलेगा फायदा

इस कारण होती है प्रेग्नेंसी में बालों के झड़ने की समस्या, अपनाए ये टिप्स मिलेगा फायदा

ज्यादातर स्त्रियों को गर्भावस्था के दौरान व प्रसव के बाद बाल झड़ने की शिकायत रहती है. यह सच्चाई है कि गर्भावस्था के दौरान हार्मोन्स में होने वाले उतार-चढ़ाव का प्रभाव बालों की ग्रोथ पर भी होता है. सिर्फ असंतुलित हार्मोन ही नहीं कई अन्य कारण भी प्रेग्नेंसी में बालों के झड़ने की समस्या बनते हैं. जानते हैं इसके बारे में

Image result for इस कारण होती है प्रेग्नेंसी में बालों के झड़ने की समस्या, अपनाए ये टिप्स मिलेगा फायदा

नींद की कमी
अक्सर नवजात शिशु की प्रवृत्ति रात को जागने व प्रातः काल और दोपहर में सोने की होती है. ऐसे में मां को बच्चे के साथ रात में भी जागना पड़ता है. नींद पूरी हो या न हो उन्हें प्रातः काल से फिर रुटीन की दिनचर्या में लगना पड़ता है. इससे स्त्रियों की बॉडी क्लॉक डिस्टर्ब होती है. बालों की ग्रोथ वाले हार्मोन रात के समय ही स्त्रावित होते हैं. इसलिए अक्सर विशेषज्ञ रात में सिर की मालिश करने की सलाह देते हैं.हफ्ते में 3-4 बार की गई सिर की मालिश से बालों की जड़ों को मजबूती मिलती है.

पहले तीन माह
प्रेग्नेंसी के दौरान पहले तीन माह में महिला के शरीर में एस्ट्रोजन व प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में उतार चढ़ाव ज्यादा होता है. इस कारण भूख न लगने या भूख होने के बावजूद भोजन में अरुचि और उल्टी होने जैसी समस्याओं के कारण महिला के शरीर में पोषक तत्त्वों की कमी हो जाती है. इस कारण मस्तिष्क को भी पोषण नहीं मिल पाता व बालों की जड़ निर्बल होने से बाल झड़ने लगते हैं.

मौसम में परिवर्तन का असर
हर आदमी की शारीरिक संरचना के अनुसार बालों का प्रकार व आवश्यकता अलग होती है. इसलिए जो शैम्पू या ऑयल आपको सूट करे वही इस्तेमाल में लेना चाहिए. बार-बार शैम्पू या ऑयल बदलने से बाल टूटते और झड़ते हैं. इसके अतिरिक्त मौसम व पानी के परिवर्तन से भी बाल झड़ने लगते हैं.

ऐसे होता इलाज
- शरीर में पोषक तत्त्वों की पूर्ति के लिए आयरन, कैल्शियम व हाई प्रोटीन से युक्त खाद्य सामग्री के अतिरिक्त बायोटीन विशेष रूप से बालों की ग्रोथ के लिए देते हैं.
- हरी पत्तेदार सब्जियां, चुकंदर, मौसमी और रसीले फल व सूखे मेवे खाने की सलाह देते हैं.
- ऑलिव ऑयल, बादाम और नारियल ऑयल से सिर की स्कीन (स्कैल्प) की मालिश सप्ताह में 3-4 बार करने के लिए कहते हैं. इससे - बालों की जड़ों में रक्तसंचार बेहतर होने के साथ बाल मजबूत होते हैं. ध्यान रखें कि बालों को कसकर न बांधें.
- केमिकल युक्त हेयर प्रोडक्ट्स के प्रयोग से बचें. साथ ही ज्यादा गर्म पानी से भी बालों को नहीं धोना चाहिए.