पेट के सभी रोग दूर करने के लिए भोजन के बाद करे इस पाचन चूर्ण का सेवन

पेट के सभी रोग दूर करने के लिए भोजन के बाद करे इस पाचन चूर्ण का सेवन

पेट ठीक रहेगा तो दिन भर भी ठीक रहता है लेकिन पेट की मुख्‍य समस्‍याओं में निर्बल पाचन तंत्र, कब्‍ज, गैस बनना होने कि सम्भावना है. इनके लिए डॉक्‍टरी उपचार करने के साथ ही आप इन घरेलू नुस्‍खों को भी अपना सकते हैं. आज हम आपको पेट की आम समस्‍याओं के लिए उपचार के लिए घरेलू चीजों से बनने वाले चूर्ण के बारे में बता रहे हैं. इनके इस्‍तेमाल से आपकी कई समस्‍याओं का खात्‍मा होने कि सम्भावना है. पेट के रोग से हर कोई परेशान रहता है. किसी को खाना नहीं हजम होता है तो कोई गैस व एसिडिटी से परेशान है. आज हम आपको ऐसा चूर्ण बनाने की विधि बताएंगे, जिसे आप पेट के सभी रोग दूर करने के लिए भोजन के बाद खा सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे बनाया जाता है आयुर्वेदिक पाचन चूर्ण.

आवश्यक सामग्री

जीरा 120 ग्राम
सेंधानमक 100 ग्राम
धनिया 80 ग्राम
कालीमिर्च 40 ग्राम
सोंठ 40 ग्राम
छोटी इलायची 20 ग्राम
पीपर छोटी 20 ग्राम
नींबू सत्व 15 ग्राम
खाण्ड देशी 160 ग्राम

विधि

नींबू व खाण्‍ड को छोड़ कर बाकी की सभी सामग्रियों को पीस कर चूर्ण तैयार करें. फिर उसमें नींबू निचोड़े व खाण्‍ड मिलाएं. इस मिलावट को 3 घंटे के लिये एक कांच के बरतन में रख दें. फिर इसका सेवन खाना खाने के बाद 2 से 5 ग्राम करें.

२) आवश्यक सामग्री

जीरा
अजवाइन
काला नमक
मेथी
सौंफ
हींग

बनाने की विधि

सबसे पहले जीरा, अजवाइन, मेथी व सौंफ को भिन्न-भिन्न धीमी आंच पर भून लें. भूनने के बाद इन्‍हें भिन्न-भिन्न बारीक पीस लें. इसके बाद एक बर्तन में काला नमक व आधा चम्‍मच हींग लें. अब इसमें जीरा, सौंफ, अजवाइन का पाउडर डाल लें. इन तीनों से कम मात्रा में मेथी पाउडर डालें. इस मिलावट को अच्‍छी तरह मिला लें. ध्‍यान ये रखना है कि जीरा, अजवाइन व सौंफा की मात्रा समान होनी चाहिए. इसको अच्‍छी तरह से मिक्‍स करने के बाद किसी डिब्‍बे में रख लें.