भाजपा व शिवसेना के बीच सीट बंटवारे को लेकर फंसा पेंच, यह है शिवसेना की मांग

 भाजपा व शिवसेना के बीच सीट बंटवारे को लेकर फंसा पेंच, यह है शिवसेना की मांग

आगामी कुछ हफ्तों में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का ऐलान होने वाला है. चुनाव को लेकर सभी सियासी दलों ने अपनी तैयारी प्रारम्भ कर दी है. प्रदेश में मुख्य में लड़ाई सत्ताधारी बीजेपी-शिवसेना गठबंधन व विपक्षी कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के बीच है. भाजपा व शिवसेना के बीच सीट बंटवारे को लेकर पेंच फंसा हुआ है. शिवसेना की मांग 144 सीटों पर चुनाव लड़ने की है. साथ ही सत्ता में वापसी करने पर बीजेपी के साथ सीएम कार्यकाल को आधा-आधा बांटने की भी मांग की है.

हालांकि शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार पार्टी महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनाव में कुल 288 सीटों में से 135 सीटों पर चुनाव लड़ने की सहमति दे सकती है. पार्टी चाहती है कि भाजपा अपने कोटे से छोटे दलों को सीटें दे. यद्दपि दोनों दलों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर औपचारिक समझौता होना अभी बाकी है. पार्टी के एक सीनियर नेता के मुताबिक बीजेपी व शिवसेना 135-135 सीटों पर चुनाव लड़े जाने के फार्मूले को स्वीकार कर सकती हैं व 18 सीटें आरपीआई (ए), राष्ट्रीय समाज पक्ष व शिव संग्राम पार्टी के लिए छोड़ी जा सकती हैं.

दिक्कत की बात यह है कि शिवसेना चाहती है कि बीजेपी अपने कोटे से छोटे दलों को 18 सीटें आवंटित करे क्योंकि वे बीजेपी के साझेदार हैं. यदि बीजेपी उनकी मांग को मानती है तो पार्टी केवल 117 सीटों पर ही चुनाव लड़ सकेगी. बता दें कि गत विधानसभा चुनाव दोनों दलों ने भिन्न-भिन्न लड़ा था. भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर सरकार बनाई थी. बाद में शिवसेना भी सरकार में शामिल हो गई .