स्मिथ ने सुनील गावस्कर का 48 वर्ष पुराना रिकॉर्ड के बराबर

स्मिथ  ने सुनील गावस्कर का 48 वर्ष पुराना रिकॉर्ड  के बराबर

टेस्ट क्रिकेट के नए ब्रैडमैन कहे जा रहे स्टीव स्मिथ ने एशेज सीरीज में दमदार प्रदर्शन कर सैंडपेपर (रेगमाल) का दाग धो दिया है। अब से दो-तीन महीने पहले तक जब भी स्टीव स्मिथ का जिक्र होता, तो उनके साथ बॉल टैम्परिंग व सैंडपेपर की बात भी होने लगती। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के इस बल्लेबाज ने एशेज सीरीज में बैट से वो जलवा दिखाया कि सैंडपेपर अब पुरानी बात लगने लगी है। स्मिथ ने इंग्लैंड के विरूद्ध इस सीरीज में 774 रन बनाए। इसके साथ ही उन्होंने अनेक रिकॉर्ड तोड़ दिए। साथ ही सुनील गावस्कर का 48 वर्ष पुराना रिकॉर्ड भी बराबर कर लिया।

30 वर्ष के स्टीव स्मिथ ने इंग्लैंड के विरूद्ध एक दिन पहले समाप्त हुई टेस्ट सीरीज में चार मैच खेले। उन्हें इन चार टेस्ट में सात पारियों में बैटिंग का मौका मिला। स्मिथ ने इन सात पारियों में 110.57 की औसत से 774 रन बनाए। इसमें तीन शतक व तीन अर्धशतक शामिल हैं। स्मिथ चोट लगने के कारण लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में बैटिंग नहीं कर पाए थे। वे सिर में लगी इसी चोट की वजह से एक टेस्ट मैच भी नहीं खेल पाए। यानी, अगर उन्हें चोट नहीं लगती तो वे इस सीरीज में तीन पारियां व खेल सकते थे।

बहरहाल, इस खिलाड़ी ने चार टेस्ट मैच की सात पारियां खेलकर भी वह कारनामा कर दिया, जो सुनील गावस्कर के अतिरिक्त एक भी भारतीय नहीं कर सका है। स्मिथ किसी टेस्ट सीरीज में सिर्फ चार टेस्ट मैच खेलकर 774 रन बनाने वाले संसार के महज तीसरे खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने इस मुद्दे में गावस्कर की बराबरी की है, जिन्होंने 1970-71 में चार टेस्ट मैच खेलकर 774 रन ही बनाए थे। उन्होंने यह प्रदर्शन वेस्टइंडीज के विरूद्ध किया था।

विवियन रिचर्ड्स को छोड़ दें तो संसार का कोई भी बल्लेबाज किसी एक सीरीज में चार टेस्ट मैच खेलकर 774 या इससे अधिक रन नहीं बना सका है। विवियन रिचर्ड्स ने इंग्लैंड के विरूद्ध 1976 में एक सीरीज में चार टेस्ट मैच खेलकर 829 रन बनाए थे। इस सीरीज में उनका औसत 119.42 रहा था। सर विव रिचर्ड्स ने इस सीरीज में तीन शतक व दो अर्धशतक लगाए थे।

दुनिया में सिर्फ सात खिलाड़ी ही ऐसे हैं, जिन्होंने किसी टेस्ट सीरीज में सिर्फ चार मैच खेलकर 700 से अधिक रन बनाए हैं। इनमें हिंदुस्तान के सिर्फ सुनील गावस्कर शामिल हैं। ऐसा करने वाले बाकी छह खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स, स्टीव स्मिथ, ग्राहम गूच, जैक कैलिस, रिकी पोंटिंग व जॉर्ज हैडली हैं। स्टीव स्मिथ ऐसा दो बार कर चुके हैं, जो उनकी महानता को साबित करने के लिए बहुत ज्यादा है।