हिंदुस्तान के लिए नया खतरा पाक में आठ वर्षों से फलफूल रहे आतंकवादी संगठन ने बदल दी अपनी ये रणनीति

हिंदुस्तान के लिए नया खतरा पाक में आठ वर्षों से फलफूल रहे आतंकवादी संगठन ने बदल दी अपनी ये रणनीति

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद से पाक में बीते आठ वर्षों से फलफूल रहे आतंकवादी संगठन ने अपनी रणनीति बदल दी है. पाक की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस एजेंसी आईएसआई (ISI) आतंकवादी संगठनों में जैश-ए-मोहम्मद,जमात उद दावा,लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन को दोबारा से संगठित करने की प्रयास कर रहा है. दरअसल बालाकोट एयरस्ट्राइक के पाक डरा हुआ है. उसने अब संगठनों को सीमा से दूर रहने की सलाह दी है. सभी हिंदुस्तान पर हमले के नयी योजना पर कार्य कर रहा है.

Image result for आईएसआई आतंकवादी संगठन, हिंदुस्तान के लिए नया खतरा ,

अफगान सीमा तक खिसके आतंकवादी संगठन

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद आतंकवादी संगठन एलओसी (LOC) से हटकर अफगानिस्तान सीमा की ओर चले गए हैं. उन्हें पाकिस्तान एजेंसी ने हिदायत दी है कि वह भारतीय सीमा दूर रहें. इस तरह से पाक संसार को दिखाना चाहता है कि उसने कार्रवाई कर लाइन आफ कंट्रोल (LOC) से आतंकवादियों को हटा दिया है. वह इन संगठनों को छिपाकर अपनी पीठ थपथपाना चाहता है. दरअसल अमरीका व हिंदुस्तान आतंकवाद के विरूद्ध जीरों टॉलरेंस चाहता है. ऐसे में संसार की सहानुभूति पाने के लिए वह नयी रणनीति पर कार्य कर रहा है.

सैन्य प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ाई

एक खुफिया रिपोर्ट के अनुसार पाक अपने सैन्य प्रतिष्ठानों की सुरक्षा को मजबूत कर रहा है व भविष्य में हिंदुस्तान से अधिक तीव्रता के हमले की संभावना के साथ सीमा पर निगरानी बढ़ा दी है. आतंकवादी शिविरों पर आईएएफ के आकस्मित व सटीक हमले ने पाक को पूरी तरह से अनजान बना दिया था व अपने सशस्त्र बलों पर जवाबी कार्रवाई करने के लिए दबाव बढ़ा दिया था.

घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी आई

केंद्र ने जोर देकर बोला है कि बालाकोट में भारतीय वायु सेना के हमले के बाद पाक से घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी आई है. मंगलवार को संसद में एक लिखित जवाब में,गृह मंत्रालय ने बोला कि सुरक्षा बलों के केंद्रित व समन्वित प्रयासों के कारण,जम्मू व कश्मीर में सुरक्षा स्थिति में 2018 की पहली छमाही में 2018 की पहली छमाही में सुधार देखा गया है.

तीन आतंकवादी शिविर किए थे तबाह

भारतीय वायुसेना ने फरवरी 2019 में जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाते हुए पाक के बालाकोट के अंदर एक बड़ा हवाई हमला किया था.इस में आतंकवादियों के तीन शिविरों को तबाह कर दिया गया था. बताया गया है कि हमले में करीब 200 से अधिक आतंकवादी मारे गए थे. यह हमला प्रातः काल साढ़े तीन बजे किया गया था.