बदलते मौसम में अपनी स्किन का ख्याल रखने के लिए जा जानिए ये खास बातें

बदलते मौसम में अपनी स्किन का ख्याल रखने के लिए जा जानिए ये खास बातें

बारिश थामी व मौसम ने ठण्ड हवाओ की ओर रुख मोड लिया हैबदलते मौसमका सबसे ज्यादा प्रभाव स्किन पर दिखाई देता है. इस मौसम में स्किन ड्राई होना प्रारम्भ हो जाती है व मिक्स हवाओं के कारण डेड सेल्स बनने लगते हैं. इस वजह से आपको कई सारी ब्यूटी प्रॉब्लम का भी सामना करना पड़ सकता है. इस दौरान स्कीन को हाइड्रेट रखना बहुत महत्वपूर्ण है. नहीं तो ड्राई स्किन व उसकी वजह से कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि कुछ बातों का ध्‍यान रखकर आप चेंजिंग वेदर की प्रॉब्‍लम से बच सकते हैं.



सर्दियों में स्किन की ख़ास देखरेख के लिएमेडिकेटेड साबुन, एंटीफंगल व एंटी बैक्टीरियल क्रीम का प्रयोग करें. कौन सी क्रीम या साबुन आपकी स्कीन के लिए लाभकारी है, यह एक बार स्किन एक्सपर्ट से पूछ लें. सप्ताह में दो बार स्किन को एक्सफोलिएट करने के लिए फेस स्क्रब लगाएं. फेश वॉश के बाद टोनर का यूज करें. यह स्कीन के पीएच लेवल को ठीक बनाए रखता है. इस मौसम में डेड स्किन को रिपेयर करने व उसे स्मूद बनाने के लिए फेशियल व स्क्रबिंग करना न भूलें. इसके अतिरिक्त स्कीन पर स्प्रे सनस्क्रीन का उपयोग करें व तीन घंटे बाद रिपीट कर लें. बदलते मौसम में स्प्रे वाला सनस्क्रीन सबसे ज्यादा असरदायक होता है.मौसम बदलने के साथ चेहरे की नमी खो जाती है, ऐसे में आपको क्रीम बेस्ड क्लींजर का प्रयोग करना चाहिए. इससे न सिर्फ स्कीन को नमी मिलेगी बल्कि यह स्कीन के पोर्स को भी क्लीन करेगा.

ध्यान देने वाली बात ये है कीडायबिटीज से पीड़ित लोगों को इस बदलते हुए मौसम के दौरान खास ध्यान रखना चाहिए. अगर आप किसी भी तरह की स्कीन की एलर्जी की आरंभ देखते हैं, तो ब्यूटी सैलॉन में जाने के बजाय स्किन एक्सपर्ट से मिलें. दरअसल, स्किन के इंफेक्शन कभी-कभी फैलने वाले भी होते हैं. ऐसे में अपना तौलिया व व्यक्तिगत सामान अलग रखें. अपने अंडरआर्म्स, कमर के एरिया, उंगलियों व पैर की उंगलियों के बीच की खाई में फंगल पाउडर का उपयोग करें. स्कीन को खरोंचे नहीं. एक्जिमा से पीड़ित हों तो पालतू जानवरों को बेडरूम से बाहर रखें.