सर्जरी के लिए बेहोशी की दवा देने के बाद इस हॉस्पिटल में यौन हिंसा की घटनाओं को दिया जाता है अंजाम

सर्जरी के लिए बेहोशी की दवा देने के बाद इस हॉस्पिटल में यौन हिंसा की घटनाओं को दिया जाता है अंजाम

आजकल बढ़ते जा रहे क्राइम के मुद्दे सभी को दंग कर रहे हैं। ऐसे में जो मुद्दा हाल ही में सामने आया है उस मुद्दे को फ्रांस के जोनजैक का बताया जा रहा है। इस मुद्दे में एक टॉप सर्जन को करीब 250 मासूमो के साथ यौन उत्पीड़न करने का संदिग्ध माना जा रहा है। जी हाँ, खबरों के मुताबिक 66 वर्ष के इस चिकित्सक जोल ली स्कॉरनेक पर आरोप है कि ''उन्होंने करीब 3 दशक तक बच्चों के साथ यौन हिंसा की। सर्जरी के लिए बेहोशी की दवा देने के बाद यौन हिंसा की घटनाओं को अंजाम देते था। ''

Image result for सर्जरी के लिए बेहोशी की दवा देने के बाद इस हॉस्पिटल में यौन हिंसा की घटनाओं को दिया जाता है अंजाम

जी हाँ, वहीं सूत्रों के द्वारा यह समाचार आई है कि इससे पहले चिकित्सक को 14 वर्ष पहले मासूमो के साथ यौन हिंसा की फोटोज़ रखने के जुर्म में दोषी भी ठहराया जा चुका है लेकिन 2017 तक उन्हें प्रैक्टिस करने की अनुमति सरकार ने दी थी। वहीं वर्ष 2017 में चिकित्सक को 4 व 6 वर्ष की दो लड़कियों से दुष्कर्म के मुद्दे में अरैस्ट भी किया गया था। इसी के साथ अब फ्रांस में बच्चों के साथ यौन हिंसा के सबसे बड़े स्कैंडल के रूप में देखा जा रहा है। खबरों के मुताबिक आरोपी चिकित्सक पेट की सर्जरी का स्पेशलिस्ट था व उस पर लड़के वलड़कियां, दोनों के साथ यौन उत्पीड़न करने के आरोप हैं।

इसी के साथ चिकित्सक ने लड़कियों के साथ दुष्कर्म के आरोप से मना किया है, लेकिन बेकार व्यवहार की बात मान ली है। इसी के साथ अब चिकित्सक को गिरफ्तार किया जा चुका है। मिली खबरों के अनुसार पुलिस ने जाँच में चिकित्सक के पास से एक खास डायरी भी बरामद की गई व इस डायरी में करीब 250 बच्चों के साथ यौन हिंसा का जिक्र किया गया है।अब इस मुद्दे में आगे की जाँच जारी है व आरोपी पर सख्त से सख्त कार्यवाही करने की बात सामने आई है।