अगर आप भी कर रहे है मिलावटी सब्जियों व फलों का सेवन, तो ऐसे करें असली व नकली की पहचान

अगर आप भी कर रहे है मिलावटी सब्जियों व फलों का सेवन, तो ऐसे करें असली व नकली की पहचान

आज के समय में खाने पीने की हर वस्तु में मिश्रण देखने को मिलती है. अब तक आपने मावा, शक्कर, दालों व दूध के बारे में तो सुना होगा, लेकिन अब सब्जियां व फल भी इससे अछूते नहीं हैं. मार्केट में मिल रहीं मिलावटी सब्जी व फल लोगों के स्वास्थ पर बुरा प्रभाव डाल रहे हैं. मिलावटी फलों व सब्जियों की वजह से होने वाली मौतों के बाद डब्ल्यूएचओ व एफएओ के साथ संयुक्त देश ने पहल की है.

बाजर में मिलने वाली दूसरी चीजों की तरह फलों व सब्जियों की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती है. इसलिए फलों व सब्जियों को खरीदते समय उनकी जाँच जरूर करनी चाहिए.

जड़ वाली सब्जियां शलजम, गाजर, चुकंदर, शकरकंद को खरीदते समय अगर उनकी स्कीन चिकनी व झुर्री-रहित नहीं लगती, तो इन्हें न खरीदें. इसके अवाना कृत्रिम रंग के लिए भी जाँच करें. इसके लिए पैराफिन में भिगोई हुई एक कॉटन का वस्त्र लें व इससे सब्जियों के ऊपरी हिस्से को रगड़ें. अगर सब्जी का हरा रंग कपड़े पर लग रहा है तो समझ लें कि सब्जी के साथ छेडछाड़ की गई है.

आलू हमेशा आलू खरीदते समय ऐसे आलू देखें जिन पर झुर्रियां न हो. इसके अतिरिक्त कभी भी हरे रंग के आलू न खरीदें. अच्छा होगा अगर मिट्टी लगे आलू मिल जाए, क्योंकि ये सीधे मिट्टे से निकले हुए होंगे. अगर आलू की आंखें फूटने लगी हैं तो उन्हें भी न खरीदें.

जब आप सेलेरी, पार्सले या ब्रोकली खरीद रहे हैं तो हमेशा हरी व कुरकुरी दिखने वाली सब्जियों को खरीदना चाहिए. यदि ये सब्जी पीली या पकी हुई हैं तो उन्हें न खरीदें, क्योंकि इनकी ताजगी लंबे समय तक नहीं रहती.

प्याज व लहसुन हमेशा ऐसे प्याज व लहसुन की तालाश करें जो देखने में थोड़े भारी हो. अगर प्याज या लहसुन इंकुरित हो तो उन्हें नहीं खरीदना चाहिए.

अंगूर अंगूर का गुच्छा हवा में उठाएं. अगर इन्हें पकाया गया है, तो अंगूर टूटने लगेंगे. हमेशा साफ सुधरे अंगूर के गुच्छे को खरीदें.

खट्टे फल खट्टे फल जैसे नींबू, संतरे, अंगूर व कीनू हमेशा ताजे होने चाहिए व ध्यान रखें इन पर भूरे रंग के धब्बे नहीं होने चाहिए.