फर्जी फोटोग्राफर पर सुभाषनगर थाने में मुकदमा कराया गया दर्ज

फर्जी फोटोग्राफर पर सुभाषनगर थाने में मुकदमा कराया गया दर्ज

जनातियों के घर जाने के लिए बाराती तैयार खड़े थे. एडवोकेट दूल्हा भी घोड़ी चढ़ रहा था लेकिन फोटोग्राफर का अता-पता नहीं. फोन किया तो पता चला कि फोटोग्राफर फर्जी था. एडवांस लेने के बाद सिर्फ फ्लैश दबाता रहा. रुपये ऐंठने के बाद वह बीच बारात में धोखा देकर भाग गया. विवाह से निपटने के बाद एडवोकेट व उसके पिता ने रुपये मांगे तो वह जान की धमकी देने लगा. फर्जी फोटोग्राफर पर सुभाषनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. यह मुद्दा यूपी के बरेली का है.

बदायूं रोड स्थित गंगानगर कॉलोनी निवासी श्याम किशोर के एडवोकेट पुत्र अनुभव की विवाह नौ फरवरी, 2019 को तय हुई थी. 5 जनवरी को एक फोटोग्राफर श्याम के घर आया. उसने खुद को एवन मैनेजमेंट सेंटर का प्रोपराइटर बॉबी बताया. विवाह के फोटो खींचने के लिए लिए श्याम ने बॉबी से बात तय कर ली. 13,500 रुपये में तीन सौ फोटो, वीडियो, 32 जीबी पेन ड्राइव, तीन सीडी और बारात घर में प्रोजेक्टर बॉबी को लगाना था. एडवांस 1000 रुपये दे दिए.

इसके बाद फोटोग्राफर ने गोदभराई और अन्य कार्यक्रमों को मिलाकर करीब 5000 रुपये ले लिए. ऐन विवाह के वक्त बारात चढ़त के दौरान फोटोग्राफर भाग गया. फोन करके पूछा तो परिवार में किसी के दुर्घटना का बहाना बनाया. जैसे-तैसे बिना फोटोग्राफर के श्याम ने बेटे की विवाह निपटाई. प्रोग्राम निपटने के बाद जब उसने फोटो, वीडियो और बचे रुपये मांगे तो वह आनाकानी करने लगा. कुछ दिन पहले श्याम ने फोटोग्राफर से फिर रुपये मांगे तो बॉबी ने सियासी पहुंच बताकर रुपये देने से इंकार कर जान की धमकी दी.