इंग्लैंड ने अंतिम टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से दी मात

इंग्लैंड ने अंतिम टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से  दी मात

इंग्लैंड ने अंतिम टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से मात दी। इसी के साथ 2-2 पर ड्रॉ के साथ समाप्त हुई। एशेज सीरीज के पांचवें व अंतिम टेस्ट मैच में इंग्लैंड के हाथों हारने वाली आस्ट्रेलियाई टीम के कैप्टन टिम पेन ने बोला कि उनकी टीम को कुछ बातों का पछतावा है क्योंकि, वह पांचवें टेस्ट में अपने सामने आए मौकों को भुना नहीं सकी। ऑस्ट्रेलिया ने मैनचेस्टर टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त हासिल कर ली थी। लेकिन इंग्लैंड ने पांचवें टेस्ट मैच में चौथे दिन ही जीत हासिल करके सीरीज गंवाने से खुद को बचा लिया।

क्या बोला पेन ने
मैच के बाद पेन ने कहा, "हमें कुछ बातों का पछतावा है। हम अपने सामने आए मौकों को भुना नहीं सके। हमारे गेंदबाज अच्छा खेले। मुझे उनके लिए बुरा लग रहा है। इस मैच में हम जिस तरह से खेले, उससे बेहतर कर सकते थे। बीते 18 वर्ष में इंग्लैंड आकर सीरीज बचाना बड़ी बात थी लेकिन आज का दिन हमारे लिए बेकार रहा। " पेन ने यह भी बोला कि "इंग्लैंड की टीम हर लिहाज से उनकी टीम से बेहतर थी लेकिन बावजूद इसके उनकी टीम ने मेजबान टीम को कड़ी टक्कर दी। "

मैथ्यू वेड ने खेली शानदार पारी
पेन ने कहा, "इंग्लैंड के कैप्टन जो रूट को यह मानना होगा कि हम कड़े मुकाबले वाला क्रिकेट खेले। मैथ्यू वेड ने शानदार इच्छाशक्ति का परिचय दिया। वेड ने साबित किया कि उनके अंदर अभी बहुत ज्यादा क्रिकेट बाकी है। वेड ने 166 गेंदों पर 17 चौकों व एक छक्के की मदद से 117 रनों की पारी खेली। उन्होंने अपने करियर का चौथा व इस सीरीज का दूसरा शतक लगाया दोनों टीमों को इस सीरीज पर गर्व करना चाहिए। हमने सोचा था कि यह इंग्लिश लोगों के सामने खेलते हुए हमारे लिए आत्मसम्मान हासिल करने का शानदार मौका है व इसे हम हासिल करने में पास रहे। "