इस दल-बदल के विरोध में सड़कों पर उतरें कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

 इस दल-बदल के विरोध में सड़कों पर उतरें कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी के 12 विधायकों के टीआरएस में शामिल होने के एक दिन बाद शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में इस दल-बदल के विरोध में सड़कों पर उतर आए।

हैदराबाद से मिली खबरों के अनुसार वारांगल,करीमनगर तथा अन्य स्थानों पर विरोध प्रदर्शन हुए व सीएम के चंद्रशेखर राव पर दल-बदल को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उनके विरूद्ध जमकर भड़ास निकाली गई।

कांग्रेस की ओर से जारी बयान में बोला गया कि उस्मानिया विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के एक समूह ने विरोध प्रदर्शन किया व पाला बदलने वाले विधायकों का प्रतीकात्मक रूप से अंतिम संस्कार किया।

तेदेपा ने संवाददाताओं से बोला कि देश भर में व संसद में इस प्रकार के विलय के मामले पर चर्चा होनी चाहिए।

गौरतलब है कि तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी को गुरुवार को उस समय बड़ा झटका लगा, जब उसके 18 में से 12 विधायकों ने अपने समूह का सत्तारूढ तेलंगाना देश समिति (टीआरएस) में विलय करने की मांग की। इसके कुछ ही घंटों बाद विधानसभा अध्यक्ष ने इन विधायकों की मांग मानते हुए टीआरएस में उनके विलय को मान्यता दे दी।

तेजी से हुए राजनीतिक घटनाक्रमों के बीच स्पीकर को मान लिया। उन्होंने इस तथ्य पर विचार करते हुए निर्णय किया कि यह 12 विधायक कांग्रेस पार्टी विधायक दल में शामिल कुल 18 विधायकों का दो-तिहाई हैं व दल-बदल निरोधक कानून के तहत विलय के लिए दो-तिहाई संख्याबल की आवश्यकता होती है।

गुरुवार की रात विधानसभा से जारी एक बुलेटिन में बोला गया कि 12 विधायकों को सदन में टीआरएस विधायक दल के सदस्यों के साथ सीटें आवंटित की गई हैं।

विलय के विषय में विधानसभा अध्यक्ष का निर्णय पलटे जाने तक सदन में मुख्य विपक्षी पार्टी का कांग्रेस पार्टी का पंजीकृत ा छिन जाएगा, क्योंकि अब उसके पास सिर्फ छह विधायक रह गए हैं।