ब्रेक्सिट को लेकर ब्रिटेन में मचे सियासी घमासान के बीच सामने आई बड़ी समाचार 

ब्रेक्सिट को लेकर ब्रिटेन में मचे सियासी घमासान के बीच सामने आई बड़ी समाचार 

ब्रेक्सिट को लेकर ब्रिटेन में मचे सियासी घमासान के बीच एक बड़ी समाचार सामने आई है. जानकारी मिली है कि ब्रिटेन 31 अक्टूबर को निश्चित रूप से यूरोपीय संघ (ईयू) को छोड़ देगा. ब्रेक्सिट के ब्रिटिश प्रदेश सचिव स्टीफन बर्कले ने जानकारी देते हुए बताया है कि 31 अक्टूबर को ब्रिटने युरोपियन युनियन से अलग हो जाएगा.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को साइप्रस के राष्ट्रपति निकोस अनास्तासिदस से मुलाकात के बाद बर्कले ने बोला कि ब्रिटेन 31 अक्टूबर को बिना किसी समझौते के यूरोपीय संघ को छोड़ देगा. बर्कले ने बोला कि वह बहुत मजबूत द्विपक्षीय संबंधों के लिए राष्ट्रपति के आभारी हैं.

बर्कले ने आगे बोला कि उन्हें ब्रेक्सिट से संबंधित मुद्दों की गहरी समझ है व इस सौदे के लिए पीएम की भी ख़्वाहिश है. इस मामले पर राष्ट्रपति के कार्य की निश्चित रूप से सराहना की गई, क्योंकि दोनों पक्ष एक सौदा करना चाहते हैं. इसमें दोनों पक्षों की रुचि है व हम इसी पर कार्य कर रहे हैं. बर्कले ब्रेक्सिट मुद्दों पर चर्चा करने के लिए साइप्रस की यात्रा पर हैं.

साइप्रस ने ब्रिटेन से मांगा गारंटी

एक विभागीय प्रवक्ता ने लंदन में साइप्रस खबर एजेंसी को बताया कि यह यात्रा यूरोपीय संघ के मेम्बर राष्ट्रों के साथ ब्रिटिश सरकार के अनुबंध पर आधारित है.

ब्रिटेन ने गारंटी दी कि उनके देश में रहने वाले साइप्रस के लोग प्रभावित नहीं होंगे. वहीं साइप्रस ने गारंटी दी कि द्वीप पर रहने वाले लगभग 80 हजार ब्रिटेन के लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी बाधित नहीं होगी.

ब्रेक्सिट मंत्रालय के प्रवक्ता ने बोला कि हमने ब्रिटेन में रहने व कार्य करने वाले 30 हजार साइप्रस नागरिकों के लिए स्पष्ट तौर पर एक गारंटी दी है. उनके पास ब्रेक्सिट परिदृश्य के तहत वैधानिक तौर पर कार्य करने, पढ़ाई करने, फायदा एवं सेवाओं तक पहुंचने के पूर्ण अधिकार होंगे.