अभय सिंह के सरकारी आवास पर मारे गए 49 लाख के छापे पर पत्नी माधवी की आई ये  रिएक्शन

अभय सिंह के सरकारी आवास पर मारे गए 49 लाख के छापे  पर पत्नी माधवी की आई ये  रिएक्शन

खनन घोटाले में आरोपित बुलंदशहर के पूर्व डीएम अभय सिंह के सरकारी आवास पर बुधवार को CBI छापे में बरामद 49 लाख रुपए पर पत्नी माधवी की रिएक्शन आई है। अपने फेसबुक पोस्ट में आईएएस की पत्नी ने मीडिया की रिपोर्टिंग पर सवाल खड़े किये हैं।

Image result for अभय सिंह,सीबीआई,

माधवी ने अपने पोस्ट में लिखा है, 'हमारे उन शुभचिंतकों के लिए जो प्रातः काल से शायद हमसे भी ज़्यादा परेशान हैं। बहुत-बहुत धन्यवाद सभी का इतना अपनत्व दिखाने के लिए मुझे शायद कभी अंदाज़ा नहीं लग पाता कि इतने लोगों का प्यार व अपनत्व है हमारे साथ। मुझे गर्व है कि मैं ऐसे आदमी की पत्नी हूं जिसकी एक न्यूज़ चलने पर न जाने कितने लोग ऐसे परेशान हुए जैसे वो उनके घर का ही मुद्दा हो। भगवान का धन्यवाद की हम आपके विश्वास को जीवित रख पाए। '

उन्होंने आगे लिखा, " साथ ही एक संदेश, कभी-कभी आंखों देखा भी हकीकत नहीं होता। यह तो मीडिया की न्यूज़ है व रही बात धनराशि मिलने की तो प्रथम दृष्ट्या कोई भी सोच सकता है ये ज़रूर लुटेरा है, लेकिन ध्यान देने योग्य बात है कि वो धनराशि कहां से व क्यूं आयी। इसका विवरण विधिसम्मत उन्हें उपलब्ध करा दिया गय है। साथ ही ज़िलाधिकारी बुलंदशहर एक प्रतिष्ठित परिवार से संबंध रखते हैं तो सोचने योग्य विषय है कि धनराशि क्या हकीकत में इतनी बड़ी थी कि उनका परिवार उन्हें नहीं उपलब्ध करा सकता?? साथ ही मीडिया के लोगों को एक सुझाव है कि आप लोकतंत्र के चतुर्थ स्तम्भ हैं, न्यूज़ दिखाएं, लेकिन सिर्फ़ अपनी टेलिविज़न रेटिंग को बढ़ाने के लिए नहीं। अनावश्यक भ्रामक न्यूज़ न दिखाएं। क्या सीबीआई द्वारा यह बयान दिया गया कि ज़िलाधिकारी बुलंदशहर संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए?? यदि हां तो शौक़ से उछालिए व ज़्यादा प्रसन्नता के लिए हमें भी टैग कर सकते हैं। वरना तूल न दें। "

सीबीआई ने दर्ज किया है एफआईआर

बताते चलें कि बुधवार को CBI की टीम ने उत्तर प्रदेश के 11 जगहों पर छापेमारी की। इसके बाद तीन आईएएस समेत पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति व अन्य के विरूद्ध खनन घोटाले में केस दर्ज किया गया। CBI ने अपनी प्रेस रिलीज में इस बात का जिक्र किया है कि फ़तेहपुर के पूर्व जिलाधिकारी रहे अभय सिंह के सरकारी आवास से CBI ने 49 लाख रुपए जब्त किए हैं। जबकि देवरिया के तत्कालीन एडीएम देवी शरण उपाध्याय के घर से 10 लाख कैश बरामद हुआ है।

सरकार ने तीनों आईएएस को हटाया

CBI छापे के बाद सरकार ने भी एक्शन लेते हुए बुलंदशहर के डीएम को हटाते हुए उन्हें प्रतीक्षारत कर दिया गया है। उनकी स्थान आईएस रविन्द्र कुमार को जिले की कमान सौंपी गई है। इसी तरह एक अन्य आईएस विवेक व देवी शरण उपाध्याय को भी प्रतीक्षारत कर दिया है।