इस बार बारिश दे रही है विश्व कप 2019 में प्रसारण अधि‍कार हासिल करने वाली बीमा कंपनियों को झटके पर झटका

इस बार बारिश दे रही है विश्व कप 2019 में प्रसारण अधि‍कार हासिल करने वाली बीमा कंपनियों को झटके पर झटका

विश्व कप 2019 में इस बार बारिश का साया रहा है। तीन मैच तो बिना गेंद फेंके रद कर दिए गए। भारत और पाकिस्तान के मैच पर भी बारिश का असर दिखा। बारिश से न सिर्फ फैंस का मदजा किरकिरा हुआ, बल्कि आयोजकों को भी नुकसान उठाना पड़ा। इससे प्रसारण अधि‍कार हासिल करने वाली स्टार इंडिया के एड से कमाई पर चोट पड़ी है, लेकिन सबसे ज्यादा मजा खराब हुआ है बीमा कंपनियों का जिनको इस वजह से करीब 150 से 180 करोड़ रुपये की चपत लगी है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उन टीवी चैनल ने बीमा क्लेम किया है जो कि प्रसारण के अधिकार के लिए आईसीसी को भुगतान पहले ही कर चुके हैं और मैच न होने से उन्हें विज्ञापन के रूप में कमाई का भारी नुकसान हुआ है।

Image result for आईसीसी क्रिकेट विश्वकप 2019 में इस बार खलनायक की तरह कोई सामने आया तो वो इंग्लैंड का मौसम रहा।

इस इंडस्ट्री के जानकारों के मुताबिक एक सामान्य मैच के बीमा पर सम एश्योर्ड राशि करीब 60 करोड़ रुपये की होती है, लेकिन खास मैचों जैसे सेमीफाइनल आदि के लिए यह 70 से 80 करोड़ रुपये तक पहुंच जाता है। आईसीसी आठ साल के लिए दो वर्ल्ड कप, दो चैम्पियंस ट्राफी के मैचों और टी-20 वर्ल्ड कप मैचों के लिए प्रसारण अधिकार बेच चुका है। स्टार इंडिया ने 2015 से 2023 तक इन मैचों के ऑडियो-विजुअल के प्रसारण अधिकार के लिए 1.98 अरब डॉलर (करीब 13800 करोड़ रुपये) दिए हैं, जो कि इसके पहले के आठ साल के चक्र के लिए दिए गए 1.1 अरब डॉलर से 80 फीसदी ज्यादा है।

स्टार को अपनी प्रतिबद्धता के मुताबिक पैसे देने ही पड़ेंगे, तो जो मैच रद्द हुए हैं, उसमें उसको काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। भारतीय बीमा कंपनियों की ऐसी बीमा करने की क्षमता 150 करोड़ रुपये तक की है और यह जोखिम कई कंपनियों में बंटता है, जिनमें न्यू इंडिया एश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस और ओरिएंटल इंश्योरेंस शामिल हैं।