खुद को सऊदी अरब का प्रिंस बताकर मजे करने वाले इस शख्स को न्यायालय ने सुनिया 18 वर्ष कैद की

खुद को सऊदी अरब का प्रिंस बताकर मजे करने वाले इस शख्स को न्यायालय ने सुनिया 18 वर्ष कैद की

फ्लोरिडा खुद को सऊदी अरब का प्रिंस खालिद अल-सऊद बताकर मजे करने वाले शख्स को न्यायालय ने 18 वर्ष कैद की सजा सुनाई है. रोलेक्स घड़ियों व महंगे ब्रेसलेट्स पहनने के शौकीन व मियामी में शानदार पेंटहाउस में रहने वाले फ्लोरिडा के शख्स एंथनी गिगनैक ने अपनी पहचान बदलकर 80 लाख डॉलर का घोटाला किया. कई बार वह डिप्लोमेटिक लाइसेंस प्लेट्स वाली शानदार फरारी कार से निकलता था. महंगे फैशनेबल स्टोर्स से हजारों डॉलर के कपड़े खरीदता था. लेकिन, इंटरनैशनल नटवरलाल बने गिगनैक 2017 में जाँचएजेंसियों के शिकंजे में आ गया. उस पर गलत पहचान के जरिए निवेशकों से धोखाधड़ी का आरोप लगा व इस पर उसे 18 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई है.



खुद को सऊदी प्रिंस बताकर गिगनैक ने एक के बाद एक कई स्कैम किए व लोगों से 80 लाख डॉलर तक का फ्रॉड किया. मूल रूप से कोलंबिया के रहने वाले गिगनैक को 1977 में मिशिगन की एक फैमिली ने गोद लिया था. उसने अपनी जिंदगी के तमाम वर्ष खालिद अल सऊद की पहचान के साथ ही गुजारे. वैसे वास्तविक प्रिंस खालिद मक्का के गवर्नर हैं वउनकी आयु 79 साल है. जांचकर्ताओं का बोलना है कि गैगनिक को सऊदी रॉयल फैमिली का नाम प्रयोग करने के लिए 11 बार अरेस्ट किया जा चुका है.

पोर्क खाने के चलते पड़ोसी को हुआ था शक
सऊदी रॉयल फैमिली का सदस्य बताकर गिगनैक की धोखाधड़ी शायद कुछ व दिन चलती, लेकिन मियामी के उसके पेंटहाउस के पड़ोस में रहने वाले एक रियल एस्टेट डिवेलपर को उस पर संदेह हो गया. मियामी हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक रियल एस्टेट डिवेलपर ने उसे कई बार हैम, बैकन व पोर्क से बने अन्य प्रॉडक्ट्स खाते हुए देखा, जो आम तौर पर मुस्लिम नहीं खाते हैं.