पार्टी की स्थिति सुधारने को सोनिया गांधी ने बनाए तीन पैनल

पार्टी की स्थिति सुधारने को सोनिया गांधी ने बनाए तीन पैनल

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को पार्टी के उच्च नेताओं को शामिल कर तीन पैनलों का गठन किया है. बताया गया है कि यह कदम आर्थिक, विदेश  राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मामलों पर पार्टी की स्थिति स्पष्ट रखने के लिए उठाया गया है. इन पैनलों में एक-दो लोगों को छोड़ दिया जाए, तो ज्यादातर पुराने नेता ही शामिल हैं. इनमें पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से लेकर राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद  कई अन्य पूर्व केंद्रीय मंत्री भी शामिल हैं.

बताया गया है कि इन तीन पैनलों में गुलाम नबी आजाद के साथ, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा, एम वीरप्पा मोइली  शशि थरूर जैसे नेता भी शामिल हैं, जिन्होंने पार्टी में हर स्तर पर परिवर्तन की मांग के साथ अगस्त में सोनिया गांधी को लेटर लिखा था. अब इन पैनल्स में पुराने नेताओं को शामिल करना इसी बात का संकेत है कि गंभीर नीतिगत मुद्दों पर निर्णय के लिए सोनिया गांधी अब भी उन पर भरोसा करती हैं.

बता दें कि कांग्रेस पार्टी में इन पैनल्स का गठन ऐसे समय में किया गया है, जब RCEP समझौते से हिंदुस्तान के अलग रहने के मामले पर पार्टी से भिन्न-भिन्न आवाजें उठी थीं. यहां तक कि अनुच्छेद 370 को दोबारा लागू कराने पर भी कांग्रेस पार्टी नेताओं के भिन्न-भिन्न सुर रहे हैं. अब पार्टी के कार्य करने के उपायों पर प्रश्न उठाने वाले नेताओं को पैनल में शामिल कर के सोनिया गांधी ने संकेत कर दिया है कि उनके मन में किसी भी मेम्बर के लिए गुस्सा नहीं है. उनकी यह प्रयास पार्टी में बिहार चुनाव  उपचुनाव के नतीजों के बाद उभरे विवादों को भी शांत करने के तौर पर भी देखी जा रही है.

पैनल गठन के कदम से खुश नहीं लेटर लिखने वाले कुछ नेता: हालांकि, दूसरी तरफ जिन नेताओं ने पार्टी में नीतिगत परिवर्तन करने के लिए सोनिया गांधी को लेटर लिखा था, उनमें से कई पैनल गठन के कदम से कुछ खास खुश नहीं बताए जा रहे हैं. पैनल में शामिल किए गए एक नेता ने बताया कि यह कदम उत्साहित करने से ज्यादा मन बहलाने वाला है, क्योंकि जो मामले उठाए गए थे, उन्हें अब तक गंभीरता से नहीं लिया गया  पार्टी लगातार ढलान की ओर है.

एक अन्य नेता ने कहा, “संस्थागत मामलों को उठाने के बजाय हमें नीतिगत मुद्दों को देखने के लिए बोला जाता है, पार्टी के पास पहले ही कई फोरम हैं, जो इन मुद्दों पर कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष को जानकारी देते हैं  पैनल में पूर्व पीएम को शामिल करना पूर्व में उनके द्वारा लिए गए पद को छोटा दिखाने जैसा है.

कौन नेता किस कमेटी में शामिल?: कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने मनमोहन सिंह को तीनों पैनलों में शामिल किया है, उनके अतिरिक्त पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आर्थिक मामलों की कमेटी का भाग बनाया गया है. लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के पूर्व नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह  पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश भी इसी समूह का भाग होंगे.

इसके अतिरिक्त आनंद शर्मा, शशि थरूर, सलमान खुर्शीद  ओडिशा से पार्टी के युवा सांसद सप्तगिरी उलाका को विदेश मामलों के पैनल का भाग बनाया गया है. शर्मा को पार्टी के विदेश मामलों के विभाग का प्रमुख बनाया गया है. राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों से जुड़े पैनल में गुलाम नबी आजाद , वीरप्पा मोइली, लोकसभा सांसद विन्सेंट पाला  लोकसभा सांसद वी वैथिलिंगम को शामिल किया गया है. इन पैनलों से पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी  कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को बाहर कर दिया गया है.


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तराखंड से करेंगे इतने दिन के देशव्यापी दौरे की आरंभ, जाने कब

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तराखंड से करेंगे इतने दिन के देशव्यापी दौरे की आरंभ, जाने कब
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 120 दिन के देशव्यापी दौरे की आरंभ आज शुक्रवार को देवभूमि उत्तराखंड से करेंगे. नड्डा कुंभ नगरी हरिद्वार में संतों से मुलाकात करेंगे और गंगा आरती में शामिल होंगे. इसके बाद उनका सांगठनिक दौरा प्रारम्भ होगा. नड्डा शाम चार बजे हेलीकॉप्टर से सीधे हरिद्वार पहुंचेंगे.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के अनुसार शेष तीन दिन राष्ट्रीय अध्यक्ष देहरादून में 14 संगठनात्मक बैठकों और कार्यक्रमों में भाग लेंगे. वे चार दिसंबर से सात दिसंबर तक देहरादून में प्रवास करेंगे. जहां वे मंत्रिमंडल और कोर कमेटी के साथ मीटिंग करेंगे तो वहीं बूथ समिति और मंडल समितियों के साथ भी बैठेंगे.
भगत ने बताया कि नड्डा के हरिद्वार आगमन के प्रोग्राम में बदलाव हुआ है. पहले उन्हें दोपहर 12.40 बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंचना था. अब वे अपराह्न चार बजे हेलीकॉप्टर से हरिद्वार पहुंचेंगे. हर की पौड़ी पहुंच कर गंगा की पूजा और आरती में भाग लेंगे. उसके बाद उनका शांति कुंज, अखाड़ा परिषद, निरंजनी अखाड़ा जाने और संतों से भेंट का प्रोग्राम है.

भगत के मुताबिक यह किसी भी पार्टी के इतिहास में पहली बार होगा जब राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश, जिला, मंडल और बूथ कमेटियों के अध्यक्षों के साथ मीटिंग करेंगे. उन्होंने बताया कि नड्डा के भव्य स्वागत के साथ कोविड नियमों का पालन करते हुए जनता और कार्यकर्ताओं की भागीदारी भी तय की गई है.

केवल पुष्पवर्षा से होगा स्वागत

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के स्वागत की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं. कोविड गाइडलाइन के मद्देनजर पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष को फूल और बुके भेंट नहीं कर पाएगा.

मास्क पहने कार्यकर्ता मानव श्रृंखला बनाकर राष्ट्रीय अध्यक्ष पर पुष्पवर्षा करेंगे. कोविड दिशा निर्देश के अनुपालन के लिए सभी स्वागत स्थलों पर 20-20 कार्यकर्ताओं की टीम बनाई गई है. जेपी नड्डा धर्मनगरी के साधु संतों से मुलाकात करेंगे. 

हरिद्वार में नौ स्थानों पर उनके स्वागत की तैयारियां की गई हैं. सभी स्थानों पर क्षेत्रीय विधायक के नेतृत्व में जनप्रतिनिधि, बीजेपी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता स्वागत करेंगे. इस दौरान जिला संगठन ने मास्क और शारीरिक दूरी जैसे नियमों के अनुपालन करने के आदेश जारी किए हैं. 
4 दिसंबर : हरिद्वार में संतों से मुलाकात करेंगे.
5 दिसंबर : मुख्यमंत्री और मंत्रियों के साथ बैठक. कोर कमेटी की बैठक. प्रबुद्ध नागरिक सम्मेलन. 
6 दिसंबर : ऑफिस और विभागों की समीक्षा बैठक, प्रदेश पदाधिकारी महामंत्रियों, सांसदों विधायकों, मोर्चा अध्यक्षों महामंत्रियों, जिला अध्यक्षों के साथ बैठक. मंडल स्तर और ऊपर के प्रदेश के सभी कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल सार्वजनिक बैठक.
7 दिसंबर : एक बूथ समिति की बैठक. प्रेस वार्ता. एक मंडल की बैठक. सोशल मीडिया वॉलिंटियर बैठक.
हरिद्वार में 2017 में बदलाव रैली के दौरान तत्कालीन केंद्रीय मंत्री और चुनाव प्रभारी जेपी नड्डा का कनखल में 108 तोपों की सलामी के साथ स्वागत किया गया था. इसके लिए कार्यकर्ताओं ने एक नकली तोप बनवाई थी. जिससे पटाखों और आतिशबाजी के माध्यम से उनका स्वागत किया गया था.

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 2017 के विधानसभा चुनावों में चुनाव प्रभारी के तौर पर हरिद्वार पहुंचे थे. उन्होंने कनखल में बदलाव रैली के माध्यम से कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था. अब एक बार भी जब राष्ट्रीय अध्यक्ष हरिद्वार पहुंच रहे हैं तो कार्यकर्ताओं में उत्साह है.

बीजेपी के सभी मंडलों के कार्यकर्ताओं स्वागत की तैयारियां पूरी कर ली. कनखल के बीजेपी मंडल अध्यक्ष मयंक गुप्ता ने बताया कनखल के चौक मार्केट में 108 तोपों की सलामी के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया गया था. उन्होंने बोला कि इस बार कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष का भव्य स्वागत करेंगे. 

पुलिस ने रुकवाई हिन्दू युवती और मुस्लिम युवक की शादी, कहा...       राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप परिवार के सदस्य, पूर्व सहयोगी के साथ करेंगे इन संशोधन पर विचार       राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप परिवार के सदस्य, पूर्व सहयोगी के साथ करेंगे इन संशोधन पर विचार       पाक की आतंक रोधी न्यायालय ने हमले के मास्टर माइंड यहया मुजाहिद को सुनाई इतने वर्ष कैद की सजा       भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तराखंड से करेंगे इतने दिन के देशव्यापी दौरे की आरंभ, जाने कब       हिना खान ने रेड बिकिनी में शेयर की जबरदस्त बोल्ड फोटो, फैंस बोले- तुम्हारी अदाओं पर...       एनआईए ने इस फर्जीवाड़े की आड़ में मानव तस्करी का गिरोह चलाने वाले लोगो को किया अरेस्ट       कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि संबंधी ‘काले कानूनों’ को लेकर बोली यह बड़ी बात       केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय में दोषी ठहराए गए नेताओं को लेकर की यह बड़ी अपील       चक्रवाती तूफान बुरेवी को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया यह हाई अलर्ट, जाने आएगा कहा व कैसे       ओडिशा के मयूरभंज में किए गए आज तड़के भूकंप के झटके महसूस, जाने तीव्रता       फाइजर कंपनी की वैक्सीन को लेकर हिंदुस्तान पर टिकी निगाहे       राहुल गांधी की साख पर टिप्पणी करते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बोली यह बड़ी बात       अगर महीने में कमाना चाहते है 1 लाख रुपये तो 50 हजार लगाकर प्रारम्भ करे यह कारोबार       देश में इस दशा के दौरान अच्छी कमाई करने के लिए प्रारम्भ करे यह खास बिजनेस        ED की टीमों ने उत्तर प्रदेश सहित 8 राज्यों में पीएफआई के इतने ठिकानों पर की छापेमारी       आज दिनभर बनी रहेगी भारत की इन ताजातरीन खबरों पर सबकी नजर, जिनका पड़ेगा आपकी जिंदगी पर प्रभाव       पढ़े कोविड-19 संक्रमण की स्थिति, से लेकर किसानों और सरकार के बीच मीटिंग तक दुनियां की 10 बड़ी खबरे       जेजेपी नेता दिग्विजय चौटाला ने प्रदेश सरकार से किसान आंदोलन के दौरान किसानों को लेकर की यह बड़ी मांग        बीजेपी ने इस बार मेरठ-सहारनपुर शिक्षक खंड के चुनाव में खड़े शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा का वर्चस्व तोड़ा