कोरोना वायरस के चलते करना पड़ा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, जाने युवक की हैवानियत

कोरोना वायरस के चलते करना पड़ा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, जाने युवक की हैवानियत


कोरोना वायरस के चलते सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए बोला जा रहा है लेकिन झारखंड में एक दुकानदार को एक आदमी को ऐसा बोलना इतना भारी पड़ा कि उसी अपनी जान गंवानी पड़ी. 

बताया जा रहा है कि पलामू जिले में कोरोना संक्रमित एक शख्स के घर से निकलने पर 50 वर्ष के एक दुकानदार के साथ टकराव हो गया. इसके बाद उस शख्स ने दुकानदार की पीट-पीटकर मर्डर कर दी. 

यह घटना  मंगलवार की शाम हुई इस घटना में दो अन्य घायल हो गए, जिन्हें पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है. कोरोना संक्रमण फैलने के बाद देश में शायद यह पहला मुद्दा है जब सोशल डिस्टेंसिंग के टकराव में किसी की जान गई है.

पलामू के एसपी अजय लिंडा ने बुधवार को बताया कि हैदराबाद व बेंगलुरु से रविवार को अपने गांव चक-उदयपुर लौटे चार मजदूरों -राजन साव, आशीष साव, छोटू साव और विक्की साव की प्रारंभिक स्वास्थ्य जाँच पाटन प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में की गई थी. उन्हें 14 दिन तक अपने घर में क्वारंटाइन रहने का आदेश दिया गया था. लेकिन वे मंगलवार की शाम गांव में घूमते हुए काशी साव की दुकान पर पहुंच गए. काशी ने उन्हें कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए गांव में घूमने से मना किया. 

इस पर चारो भड़क गए व हाथापाई प्रारम्भ कर दी. हाथापाई में काशी साव बुरी तरह घायल हो गए, जिन्हें पीएमसीएच में भर्ती कराया गया. जहां उपचार के दौरान बुधवार की प्रातः काल उनकी मृत्यु हो गई. हाथापाई में घायल काशी के बेटे राकेश को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एसपी ने बताया कि इस मुद्दे में प्राथमिकी दर्ज कर जाँच की जा रही है.