आतंकवादी नहीं आ रहा है अपने हरकतों से बाज, घुसपैठ व नापाक हरकतों का किया प्रयास

आतंकवादी नहीं आ रहा है अपने हरकतों से बाज,  घुसपैठ व नापाक हरकतों का किया प्रयास

एक तरफ पूरी संसार कोरोना वायरस (coronavirus) से जूझ रहा है. वहीं, भारतीय सीमा (Indian Border) पर आतंकवादी (Terrorist) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. 

लगातार हिंदुस्तान में घुसपैठ व नापाक हरकतों को अंजाम देने की प्रयास जारी है. लेकिन, इंडियन आर्मी (Indian Army) की ओर से भी इन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है. इसी कड़ी में जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir) के राजौरी (Rajouri) स्थित नौशेरा सेक्टर ( Naushera Sector ) में एक बार फिर सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों (Two Terrorist Killed) को मार गिराया है. बताया जा रहा है कि ये आतंकवादी देश में घुसपैठ करने की प्रयास कर रहे थे. वहीं, एक आतंकवादी गोली लगने से घायल हो गया है.

घाटी में दो आतंकवादी ढेर

दरअसल, पाक (Pakistan) की ओर आतंकवादियों को लगातार घुसपैठ कराने की कोशिशी की जा रही है. मंगलवार को भी नौशेरा सेक्टर (Terrorist Killed in Naushera sector) में कुछ आतंकवादी घुसपैठ करने की प्रयास कर रहे थे. लेकिन, सुरक्षाबलों ने उनके मंसूबे को नाकाम कर दिया. बताया जा रहा है कि कुछ आतंकवादी पाक की ओऱ से LOC पार करने की प्रयास कर रहे थे. लेकिन, देश की सुरक्षा में लगे सैनिकों (Indian Soldiers) ने बिना देरी किए दो आतंकवादियों को मार गिराया, जबकि एक आतंकवादी घायल हो गया. घायल आतंकवादी का वैसे इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि अब उससे पूछताछ की जाएगी. रिपोर्ट के मुताबिक, मारे गए आतंकवादी की पहचान भिम्बर के समहनी इलाक़े के रहने वाले आबिद हुसैन ( Abid Hussain) के रूप में की गई है. जबकि, अन्य की अभी पहचान नहीं हो सकी है. साथ ही ये भी जानकारी नहीं मिली है कि आतंकवादियों के पास से हथियार बरामद किए गए हैं या नहीं. फिलहाल, सेना ने इलाके को घेर लिया व सर्च ऑपरेशन ( search operation ) जारी है.

आतंकियो को दिया जा रहा मुंहतोड़ जवाब

गौरतलब है कि पाक (Pakistan) की ओर से आतंकवादियों को लगातार घुसपैठ कराने की प्रयास की जा रही है. साथ ही सीजफायर ( ceasefire violation ) का उल्लंघन भी किया जा रहा है. हालांकि, इंडियन आर्मी (Indian Army) ने लगातार जवाब दे रही है. लॉकडाउन (India Lockdown) के दौरान 100 से ज्यादा आतंकवादी मारे जा चुके हैं. हालांकि, कुछ जवान भी शहीद हुए हैं. जबकि, आतंकवादियों (Terrorists) ने लोकल लोगों को भी अपना शिकार बनाया है. चर्चा ये भी है कि घाटी से अनुच्छेद 370 (Article 370) के हटे एक वर्ष सारे होने पर कोई बड़ी वारदात को अंजाम देने की प्रयास में है. लेकिन, इंडियन आर्मी की भी इन पर कड़ी नजर है. लिहाजा, उनके हर मंसूबे को नाकाम किया जा रहा है. हाल ही में घाटी में कई एनकाउंटर (Encounter) हुए हैं, जिनमें बहुत ज्यादा संख्या में आतंकवादियों का सफाया गया है. इसके बावजूद आतंकवादी गतिविधि लगातार जारी है.