राजनीति : कभी पीएम नरेंद्र मोदी के बहुत दुलारे थे बाबुल सुप्रियो

राजनीति : कभी पीएम नरेंद्र मोदी के बहुत दुलारे थे बाबुल सुप्रियो

असम के पूर्व सीएम और मौजूदा केंद्रीय मंत्री सर्बानंदा सोनेवाल, कानून मंत्री किरण रिजिजू की तरह ही पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो भी पीएम नरेंद्र मोदी के दुलारों में गिन जाते थे, लेकिन पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में उनके पॉलिटिक्स के अवसान की पटकथा लिख दी गई थी. बाबुल सुप्रियो न केवल पॉलिटिक्स को अलविदा कह रहे हैं, बल्कि वह सांसद के पद से इस्तीफा देंगे और सरकारी आवास भी एक महीने के भीतर छोड़ देंगे.


सिलिगुड़ी से दिल्ली आकर चिकित्सा सेवा में जम गए प्रो। राम के अनुसार पूर्व केंद्रीय मंत्री को विधानसभा चुनाव में उतारने और उन्हें हारने वाली सीट से प्रत्याशी बनाने का फैसला ही इसे बताने के लिए बहुत ज्यादा था. प्रो। राम कहते हैं कि उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ, जब वह पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल से भी बाहर कर दिए गए.

प्रो। राम की तरह ही पश्चिम बंगाल की बीजेपी महिला विंग की एक नेता का भी बोलना है कि विधानसभा चुनाव के दौरान की स्थितियों ने बाबुल सुप्रियो को दु:खी कर दिया था. वह कहती हैं कि बाबुल सुप्रियों के क्षेत्र में तृणमूल से आए नेता के समर्थक को उम्मीदवार बना दिया गया. जिसे उम्मीदवार बनाया गया था, वह तो चुनाव हारे ही और बाबुल सुप्रियों को भी सफलता नहीं मिल पाई.

वह बताती हैं कि यहां तक तो गनीमत थी, लेकिन इसके बाद सुवेंदु अधिकारी को मिल रही तवज्जों ने अंदरुनी दशा को बहुत ज्यादा बेकार कर दिया है. इन्ही कारणों के चलते मुकुल राय समेत तमाम बीजेपी नेताओं ने पार्टी को छोड़ दिया है.  

पश्चिम बंगाल बीजेपी के सूत्र बताते हैं कि मंत्री पद जाने के बाद से देबाश्री चौधुरी भी परेशान चल रही हैं. उन्हें बीजेपी के अंदरुनी दशा कुछ कम समझ में आ रहे हैं. पश्चिम बंगाल बीजेपी के एक उपाध्यक्ष कहते हैं कि उन्हें तो पहले से इसका अंदेशा था.

उनके जैसे तमाम नेता आशा कर रहे थे कि विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाए जाएंगे. लेकिन केंद्रीय नेतृत्व ने तृणमूल से आए नेताओं को अधिक महत्व दिया. अब जब पार्टी पश्चिम बंगाल में सरकार नहीं बना पाई है तो पैदा हुए दशा की प्रतिक्रिया भी सामने आ रही है.

सूत्र का बोलना था कि बाबुल सुप्रियो तो कभी पीएम नरेंद्र मोदी के ब्लू आई ब्वॉय कहे जाते थे. अब उन्होंने इस्तीफा दे दिया है तो इससे स्थिति की गंभीरता को सरलता से समझा जा सकता है.


केरल में फिर बढ़े मामले, पूरे देश में बढ़े केसों ने बढ़ाई चिंता

केरल में फिर बढ़े मामले, पूरे देश में बढ़े केसों ने बढ़ाई चिंता

बीते 24 घंटों में देश में कोरोना के 30,570 नए मामले आने से अब तक संक्रमित होने वालों की संख्या बढ़कर 3,33,47,325 हो गई। इन नए मामलों में 22,182 मामले अकेले केरल में दर्ज किए गए। इस दौरान देश में कोरोना से 431 लोगों की मौत भी हुई जिसमें से 182 मौतें केरल में दर्ज की गईं। गुरुवार को शाम सात बजे तक 58.26 लाख टीके लगाए गए।

देश में कोरोना के मामले 4 दिन बाद फिर बढ़ गए हैं। लगातार चौथे दिन तक कोरोना के केस में कमी देखी जा रही थी। रोजाना 30 हजार से कम मामले दर्ज किए जा रहे थे, लेकिन गुरुवार सुबह नए कोविड केस फिस 30 हजार से ज्यादा दर्ज किए गए। 

केरल में फिर बढ़े मामले

वहीं देश में अभी 50 फीसदी से ज्यादा मामले केरल से आ रहे हैं। गुरुवार सुबह कोरोना के 17,681 नए मामले केरल से सामने आए। महामारी से 208 और मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही कुल मामले बढ़कर 44 लाख 24 हजार 46 हो गए और मृतकों की संख्या 22,987 पर पहुंच गई। यहां संक्रमण दर 18 फीसद से ज्यादा है। वहीं गुरुवार शाम को केरल में गुरुवार शाम को 22,182 नए मामले सामने आए हैं। 26,563 लोग ठीक हो रहे हैं और 178 लोगों की मौत हुई है।

तेजी से हो रहा वैक्सीनेशन

देश में वीकली पाजिटिविटी रेट की बात करें तो यह 1.93फीसद है। पिछले 83 दिनों से ये 3 प्रतिशत से नीचे है। डेली पाजिटिविटी रेट 1.94 प्रतिशत है जो कि पिछले 17 दिनों से 3 प्रतिशत से नीचे है। पिछले 24 घंटे में 58.26 लाख लोगों का वैक्सीनेशन हुआ। अब तक कुल 77.10 करोड़ वैक्सीनेशन हो चुका है।

स्पुतनिक लाइट वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी

देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई और तेज हो गई है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने रूस की स्पुतनिक लाइट वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी दे दी है। बता दें कि यह सिंगल डोज वैक्सीन है जिसके बाद दूसरे डोज की जरूरत नहीं होगी। भारत में अभी जितनी भी वैक्‍सीन लगाई जा रही हैं उनकी दो डोज लगवानी पड़ती है।

देश में कोरोना की स्थिति

कोरोना/वैक्सीन मीटर (आंकड़े टैली फारमेट के लिए) ------- भारत, उत्तर प्रदेश, लखनऊ

24 घंटे में नए मामले- 30,570

कुल सक्रिय मामले- 3,42,923

24 घंटे में टीकाकरण- 58.26 लाख

कुल टीकाकरण- 77.10 करोड़

गुरुवार सुबह 08:00 बजे तक कोरोना की स्थिति

नए मामले- 30,570

कुल मामले- 3,33,47,325

सक्रिय मामले- 3,42,923

मौतें (24 घंटे में)- 431

कुल मौतें- 4,43,928

ठीक होने की दर- 97.64 फीसद

मृत्यु दर- 1.33 फीसद

पाजिटिविटी दर- 1.94 फीसद

सा.पाजिटिविटी दर- 1.93 फीसद

जांचें (बुधवार)- 15,79,761

कुल जांचें- 54,77,01,729