दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए की जा रही राजमार्गों रैकिंग

दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए की जा रही राजमार्गों  रैकिंग

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोकसभा में बोला कि मौजूदा समय में कंक्रीट के राजमार्गों का निर्माण किया जा रहा है जिन पर आने वाले सौ वर्ष में भी गड्ढे नहीं बनेंगे. मंत्री ने यह भी बोला कि दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए राजमार्गों की रैकिंग की जा रही है. यह रैंकिंग सड़क सुरक्षा से जुड़े मानकों के आधार पर तैयार होगी.

सदन में रमा देवी, अरविंद सावंत, के। सुरेश, राजीव रंजन सिंह व कुछ अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों के जवाब में गडकरी ने यह जानकारी दी. उन्होंने एक प्रश्न के जवाब में बोला कि अब कंक्रीट की सड़कें बनाई जा रही हैं जिन पर आने वाले 100 वर्ष तक गड्ढे नहीं बनेंगे. उन्होंने बताया कि वित्तीय आॅडिट की तरह सड़कों के निर्माण का भी ऑडिट कराया जा रहा है ताकि सड़क सुरक्षा सुनिश्चित हो सके.

गडकरी ने यह भी बोला कि यह बहुत दुख की बात है कि सबसे ज्यादा हादसे व सबसे ज्यादा मौतों के मामलों में हिंदुस्तान का जगह प्रथम है. गडकरी ने यह बोला कि पहले विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार करते समय जो गलतियां होती थीं, उनकी वजह से दुर्घटनाएं होती थीं, लेकिन अब डीपीआर को लेकर सख्ती की गई है. उन्होंने बोला कि राजमार्गों के निर्माण की गुणवत्ता में किसी तरह की कमी व करप्शन को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

गडकरी ने सांसदों का आह्वान किया कि वे अपने अपने क्षेत्रों में राजमार्गों के निर्माण की स्थिति व इससे जुड़ी समस्याओं से उन्हें अवगत कराएं जिस पर वह तत्काल कदम उठाएंगे. पूरक प्रश्न पूछने के दौरान कई सांसदों ने गडकरी के कार्य की तारीफ की.