मुरादाबाद : शंकराचार्य की चेतावनी, योगी-मोदी सावधान, नहीं तो बन जाएंगे तीन पाकिस्तान

मुरादाबाद : शंकराचार्य की चेतावनी, योगी-मोदी सावधान, नहीं तो बन जाएंगे तीन पाकिस्तान

गोवर्धनमठ पुरी के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती महाराज ने अयोध्या में मस्जिद के लिए जमीन दिए जाने पर असंतुष्टि जाहिर की है। सरकार को आगाह करने जैसी शैली में उन्होंने कहा कि मोदी, योगी सावधान, नहीं तो बन जाएंगे तीन पाकिस्तान।

जगदगुरु शंकराचार्य बुधवार को रेलवे स्टेडियम में आयोजित विराट धर्म सभा में बोल रहे थे। मंच से सीधे संबोधन के स्थान पर कार्यक्रम स्थल पर मौजूद लोगों के सवालों के जवाब देकर उन्होंने अपनी बात रखी।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि योगी और मोदी से पूछिए कि रामलला का मंदिर बन रहा है, इसमें उनकी क्या भूमिका रही है। पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हाराव के शासनकाल में रामालय ट्रस्ट बना था। यदि पुरी के शंकराचार्य के रूप में मैंने रामालय ट्रस्ट के कागजों पर हस्ताक्षर कर दिए होते तो राम मंदिर उसी समय बन गया होता और उसके अगल-बगल या आमने-सामने मस्जिद भी बन गई होती। हस्ताक्षर न करने की वजह से आज अयोध्या में केवल रामजी का मंदिर बन रहा है। मोदी-योगी को श्रेय लेना है, मुझे श्रेय नहीं चाहिए।

उन्होंने मस्जिद को जमीन दिए जाने पर असंतुष्टि जाहिर की। कहा कि मस्जिद के लिए 25 किलोमीटर दूर उपहार स्वरूप पांच एकड़ जमीन दी गई है। यह योजना इस समय लोगों को अच्छी लग रही है, क्योंकि राम जी का मंदिर बन रहा है। इसी निर्णय को यदि मथुरा और काशी में भी क्रियान्वित किया तो उत्तर प्रदेश में तीन नए पाकिस्तान बनने का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। योगी जी, मोदी जी सावधान आप तीन नए पाकिस्तान दे रहे हैं।

हिंदू राष्ट्र से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि हम सबके पूर्वज सनातनी वैदिक आर्य हिंदू हैं। विश्व में मुस्लिम और मसीही राष्ट्र हैं लेकिन कोई हिंदू राष्ट्र नहीं हैं। भारत को हिंदू राष्ट्र बनना चाहिए। यदि मुस्लिम रहीम-रसखान बन कर देश में रहते हैं तो हमें कोई आपत्ति नहीं है।  

गोरक्षा के लिए कानून पर उन्होंने कहा कि इस समय भारत में ऐसा कोई भी राजनीतिक दल नहीं है, जो हृदय से समग्र गोवंश की रक्षा का समर्थन करे। हिंदुओं के धर्म स्थलों पर सरकार के नियंत्रण के सवाल पर उन्होंने कहा कि सनातन धर्म से सरकार सहयोग ले सकती है, लेकिन उस पर अधिकार नहीं जमाया जा सकता है।

विष्णु का कल्कि अवतार यूपी के संभल में ही होगा
जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती महाराज का कहना है कि भगवान विष्णु का कल्कि अवतार उत्तर प्रदेश के संभल में ही होगा। स्कंद पुराण में इसका उल्लेख मिलता है। उसमें वर्णित लक्षण सब इसी (यूपी के) संभल के हैं। कल्कि अवतार को उड़ीसा के पुरी में यदि जगन्नाथ भगवान खींच ले जाएं तो मैं कुछ नहीं कह सकता। राम, कृष्ण का जन्म भी उत्तर प्रदेश में हुआ है। मेरी गुरु परंपरा उत्तर प्रदेश की रही है, लिहाजा मेरा स्वयं का लगाव उत्तर प्रदेश से अधिक है।


क्या बिना मर्जी लगाया जा सकता है कोरोना का टीका? सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दिया जवाब

क्या बिना मर्जी लगाया जा सकता है कोरोना का टीका? सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दिया जवाब

नई दिल्ली: केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी कोविड-19 टीकाकरण दिशानिर्देशों में किसी व्यक्ति की सहमति के बिना उसका जबरन टीकाकरण कराने की बात नहीं की गई है। दिव्यांगजनों को टीकाकरण प्रमाणपत्र दिखाने से छूट देने के मामले पर केंद्र ने न्यायालय से कहा कि उसने ऐसी कोई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी नहीं की है, जो किसी मकसद के लिए टीकाकरण प्रमाणपत्र साथ रखने को अनिवार्य बनाती हो।

केंद्र ने गैर सरकारी संगठन एवारा फाउंडेशन की एक याचिका के जवाब में दायर अपने हलफनामे में यह बात कही। याचिका में घर-घर जाकर प्राथमिकता के आधार पर दिव्यांगजनों का टीकाकरण किए जाने का अनुरोध किया गया है। हलफनामे में कहा गया है कि भारत सरकार और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी दिशानिर्देश संबंधित व्यक्ति की सहमति प्राप्त किए बिना जबरन टीकाकरण की बात नहीं कहते। केंद्र ने कहा कि किसी भी व्यक्ति की मर्जी के बिना उसका टीकाकरण नहीं किया जा सकता।