SC का निर्देश, लॉकडाउन पर विचार करें केंद्र-राज्य सरकारें

SC का निर्देश, लॉकडाउन पर विचार करें केंद्र-राज्य सरकारें

नई दिल्ली :सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के मद्देनजर केंद्र और राज्य सरकार को मिलकर इससे मुकाबला करने की योजना बनानी चाहिए ताकि भविष्य से इससे निपटा जा सके।

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर को काबू में करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों से लॉकडाउन पर विचार करने की बात कही है। सुप्रीम ने सरकारों से कहा है कि वे लोक कल्याण के हित में दूसरी लहर के वायरस पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन लगाने पर विचार कर सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि लॉकडाउन लगाने से पहले सरकार ये भी सुनिश्चित करें कि इसका सामाजिक और आर्थिक प्रभाव कम पड़े। कोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों पर पर लॉकडाउन का असर पड़ सकता है, उनके के लिए खास इंतज़ाम किए जाएं।

HC ने लिया संज्ञान

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में स्थिति को गंभीर होते देख सुप्रीम कोर्ट ने खुद ही मामले को संज्ञान लेते हुए कहा है कि अगर किसी मरीज के पास किसी राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश का स्‍थानीय पता प्रमाण पत्र या आईडी प्रूफ नहीं है तो भी उसे हॉस्पिटल में भर्ती करने और जरूरी दवाएं देने से मना नहीं किया जा सकता है।इससे पहले कोरोना को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश दिया कि दिल्ली में ऑक्सीजन की आपूर्ति 3 मई की मध्यरात्रि या उससे पहले ठीक कर ली जाए। साथ ही कोर्ट ने कहा कि केंद्र ऑक्सीजन की सप्लाई की व्यवस्था राज्यों के परामर्श से तैयार करें, आपातकालीन प्रयोजनों के लिए ऑक्सीजन का स्टॉक और आपातकालीन ऑक्सीजन साझा करने की जगह को विकेंद्रीकृत करें।


सुप्रीम कोर्ट का सख्त निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य पुलिस कमिश्नरों को निर्देश दें कि सोशल मीडिया में किसी भी जानकारी पर कार्यवाही की तो अदालत कार्यवाही करेगी। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दो सप्ताह के भीतर केंद्र को अस्पतालों में प्रवेश पर राष्ट्रीय नीति बनाए और राज्यों द्वारा इसका पालन किया जाए। जब तक ये नीति तैयार ना हो निवास के प्रमाण के अभाव में किसी भी मरीज को अस्पताल में भर्ती करने या आवश्यक दवाओं से वंचित नहीं किया जाएगा सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को वैक्सीन का मूल्य निर्धारण और उपलब्धता, ऑक्सीजन और आवश्यक दवाओं की उपलब्धता पर फिर से विचार करना चाहिए।


देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

हिंदुस्तान में कोविड-19 वायरस ( Covid-19 in India) से दशा बेकार होते जा रहे हैं और नए मामलों में तेजी से वृद्धि होने के साथ ही मृत्यु के आंकड़ों में भी उछाल देखने को मिल रहा है  भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस सामने आए हैं वहीं बीते 24 घंटे में देश में एक दिन में रिकॉर्ड करीब 4200 कोविड-19 मरीजों की जान गई है जो अभी तक एक दिन में होने वाली सबसे अधिक मौतें हैं  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में हिंदुस्तान में 4,01,078  नए कोविड-19 मुद्दे सामने आए हैं जबकि इस दौरान 4,187 लोगों की जान गई इसके बाद हिंदुस्तान में कोविड-19 संक्रमितों की कुल संख्या 2 करोड़,18 लाख, 92 हजार, 676 हो गई है, जबकि देश में सक्रिय केस अभी करीब 37,23,446 हैं इसी दौरान 3,18,609 लोग कोविड-19 को हराकर स्वस्थ हुए

7 मई शुक्रवार को 4,12,000 से अधिक कोविड-19 वायरस के नए मुद्दे दर्ज किए गए है तब MoHFW के अनुसार, शुक्रवार को देश में 4,14,188 मुद्दे और 3,915 मौतें दर्ज हुईं थीं वहीं 6 मई को हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 वायरस के रिकॉर्ड 4,12,262 नए मुद्दे सामने आए थे जबकि संक्रमण से 3980 लोगों की मृत्यु हो गई

1 मई को  4,02,351 मुद्दे दर्ज किए जाने के बाद ये पहला केस है जब लगातार तीन दिन नए मरीजों का आंकड़ा 4 लाख के पार गया है वहीं राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां बीते 24 घंटे में कोविड-19 संक्रमण के 19832 नए मुद्दे सामने आए हैं, जबकि 341 लोगों की मृत्यु हुई है एक दिन में राजधानी में 19085 मरीज ठीक भी हुए हैं

6 मई की प्रातः काल जारी हुए आंकड़ों के अनुसार 3,980 लोगों की मृत्यु हुई थी वहीं 7 मई को 3,915 कोविड-19 संक्रमित मरीजों की मृत्यु हुई थी  

कुल केस: 2,18,92,676
कुल ठीक:1,79,30,960
डेथ टोल : 2,38,270   
सक्रिय केस: 37,23,446

इसी तरह देश में कुल 16,73,46,544 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है देश में Covid-19 के मरीजों की संख्या पिछले वर्ष सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी वहीं Covid-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी

इसके बाद 28 सितंबर को Covid-19 के मुद्दे 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख, 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार हो गए थे हिंदुस्तान ने चार मई को गंभीर स्थिति में पहुंचते हुए दो करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार सात मई तक 30,04,10,043 नमूनों की जाँच की गई है जिनमें से 18,08,344 नमूनों की शुक्रवार को जाँच की गई


ऑस्ट्रेलिया के जंगलों से आई इस भेड़ ने सोशल मीडिया पर मचा दी धूम       रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने स्पूतनिक वैक्सीन की तुलना AK-47 से की, कहा...       धरती पर आज गिरेगा चाइना का बेकाबू रॉकेट       Vladimir Putin ने रूसी कोरोना वैक्सीन को बताया दमदार, कहा...       दुनिया के सबसे बड़े Cargo Plane ने सहायता का सामान लेकर India के लिए भरी उड़ान       Imran Khan ने Indian Embassies की प्रशंसा क्या की, आग बबूला हो गए पाकिस्तानी       हिंदुस्तान से अपने देश तुरंत लौट आएं सभी लोग, अमेरिका की अपने नागरिकों से अपील       बाइसन को मारने US में निकली 12 वेकेंसी       यूनीसेफ ने हिंदुस्तान में बढ़ रहे कोविड-19 मामलों पर जताई चिंता, कहा...       व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि रूस की कोविड-19 वैक्सीन AK-47 जितनी भरोसेमंद       Africa में मिली इतने हजार वर्ष पुरानी कब्र, खुलेंगे कई अहम राज       दो साल की मेहनत के बाद बना डाली लकड़ी की रॉयल एनफ़ील्ड बुलेट       OMG! शराब पीते ही लोग क्यों बोलने लग जाते हैं अंग्रेजी?       बिहार का ये किसान उगा रहा है दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, कीमत जानकर हैरान रह जाएंगे आप       बॉयफ्रेंड संग होटल में गई थी महिला, अचानक आ गया पति, फिर हुआ कुछ ऐसा       पति की मृत्यु के बाद महिला ने दो बेटों के साथ की खुदकुशी       कामयाबी: सीमा ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया       आईपीएल 2021: बाकी मैचों की मेजबानी के लिए श्रीलंका ने आगे बढ़ाए कदम, कहा...       आज नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए कितनी हैं कीमतें       देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस