उच्चतम न्यायालय शुक्रवार को निर्भया मुद्दे में दिल्ली सरकार औरकेंद्र सरकार की याचिका आज

उच्चतम न्यायालय शुक्रवार को निर्भया मुद्दे में दिल्ली सरकार औरकेंद्र सरकार की याचिका  आज

 उच्चतम न्यायालय शुक्रवार को निर्भया मुद्दे में दिल्ली सरकार औरकेंद्र सरकार की उस याचिका पर सुनवाई करेगा, जिसमेंयह दलील दी गई है कि चारों दोषियों को एक साथ सजा देने के सवाल पर अब व देरी नहीं की जाए.

बता देें कि केन्द्र सरकार ने याचिका में सभी दोषियों को एक साथ फांसी दिए जाने के दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश का विरोध किया है. साथ ही बोला कि जिन दोषियों के कानूनी विकल्प खत्म हो गए हैं, उनकी फांसी की सजा पर अमल करने की इजाजत दी जाए.

बृहस्पतिवार को उच्चतम न्यायालय ने चारों दोषियों को सरकार की याचिका का जवाब दाखिल करने के लिए शुक्रवार को दोपहर 2 बजे तक का समय दे दिया. इसके साथ ही न्यायालय ने दोषी पवन की ओर से कोई एडवोकेट पेश न होने पर वरिष्ठ एडवोकेट अंजना प्रकाश को पवन का एडवोकेट नियुक्त करते हुए मुद्दे की सुनवाई शुक्रवार दोपहर तक के लिए टाल दी.

बता दें कि मुद्दे में केन्द्र सरकार की याचिका पर बृहस्पतिवार को सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने फांसी की सजा पर अमल की मंजूरी मांगी है. वहीं, वृंदा ग्रोवर ने दोषी मुकेश की ओर से दलील दी व बोला कि अभी कुछ कानूनी बिंदु हैं जिन पर स्पष्टता नहीं है.